मासिक करेंट अफेयर्स

06 December 2019

भारत स्वीडन ने समग्र संबंधों को विस्तार देने का लिया संकल्प, तीन समझौतों पर किए हस्ताक्षर

स्वीडन के राजा कार्ल सोलहवें गुस्ताफ तथा रानी सिल्विया हाल ही पांच दिवसीय यात्रा पर भारत पहुंचे. उन्होंने अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मुलाकात की. दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने हेतु पीएम मोदी और स्वीडन के राजा के बीच चर्चा हुई. स्वीडन के राजा कार्ल गुस्ताफ सोलहवें एयर इंडिया के विमान से भारत दौरे पर पहुंचे. उनके साथ पत्नी सिल्विया भी मौजूद थीं. ऐसा पहली बार हुआ, जब शाही जोड़े ने किसी देश की सरकारी यात्रा हेतु कमर्शियल फ्लाइट का उपयोग किया.

संसद ने एसपीजी (संशोधन) विधेयक, 2019 पारित किया

संसद में विशेष सुरक्षा समूह (संशोधन) विधेयक, 2019 पारित हो गया. कांग्रेस द्वारा वॉकआउट के बीच 03 दिसंबर 2019 को बिल को राज्यसभा में पारित किया गया. लोकसभा में एसपीजी संशोधन बिल 27 नवंबर 2019 को पारित हो गया था. इस बिल में केवल प्रधानमंत्री और उनके परिवार (जो उनके साथ आधिकारिक निवास पर रहते हो) को एसपीजी सुरक्षा देने का प्रावधान है. प्रधानमंत्री के अतिरिक्त किसी भी विशेष व्यक्ति को यह सुविधा नहीं दिया जाएगा. प्रधानमंत्री पद से हटने के पांच साल बाद उनसे भी यह सुरक्षा वापस ले ली जाएगी. 

भारतीय मूल के सुंदर पिचाई बने अल्फाबेट के सीईओ

गूगल ने 03 दिसंबर 2019 को भारतीय मूल के सुंदर पिचाई को अपनी मूल कंपनी अल्फाबेट का मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नियुक्त किया है. सुंदर पिचाई ने इंटरनेट की दिग्गज कंपनी के सह-संस्थापक लैरी पेज की स्थान लेंगे. कंपनी ने गूगल के सह संस्थापक लैरी पेज ने सीईओ पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद यह फैसला लिया है. वहीं, एक अन्य सह सस्थापक सर्गेई ब्रिन ने कंपनी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. सुंदर पिचाई इस प्रमोशन के साथ ही विश्व के सबसे शक्तिशाली कॉरपोरेट नेताओं में से एक बन गए हैं. लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन कंपनी के सह-संस्थापक और निदेशक मंडल के रूप में बने रहेंगे. सुंदर पिचाई के पास अब कई नई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी होगी. सुंदर पिचाई ने स्पष्ट किया कि इस बदलाव से अल्फाबेट की संरचना या उसके काम पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

संसद भवन के कैंटीन में खाने पर मिलने वाली सब्सिडी ख़त्म करने के प्रस्ताव को मंजूरी

संसद भवन में कैंटीन में खाने पर मिलने वाली सब्सिडी अब खत्म हो सकती है. इस प्रस्ताव को सभी सांसदों ने मंजूरी दे दी है. अब संसद सदस्यों को सामान्य दर पर भोजन मिलेगा. संसद की कैंटीन में सब्सिडी की लागत लगभग 15 करोड़ रुपये सालाना है. संसद की कैंटीन में अब किसी को भी सब्सिडी नहीं मिलेगी. इस पर पक्ष एवं विपक्ष ने एक साथ मिलकर फैसला किया है कि अब कैंटीन में सब्सिडी नहीं मिलेगी. अब कैंटीन में इस फैसले के बाद खाने के दाम लागत के हिसाब से तय होंगे. पिछले लोकसभा के दौरान कैंटीन में खाद्य मूल्य में वृद्धि की गई थी और सब्सिडी बिल को कम किया गया था. लेकिन अब, सरकार सब्सिडी को पूरी तरह से खत्म करने के लिए तैयार है.

केंद्रीय मंत्रीमंडल ने नागरिकता संशोधन बिल को मंजूरी दी

नागरिकता (संशोधन) विधेयक को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में मंजूरी दे दी गई. यह बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 04 दिसंबर 2019 को हुई. इस बिल को अब अगले हफ्ते संसद में पेश किया जा सकता है. इससे पहले, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 03 दिसंबर को असम के छात्र संगठनों और नागरिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ नागरिकता संशोधन विधेयक पर बैठकें की थीं. इस बिल के अनुसार, नागरिकता प्रदान करने से जुड़े नियमों में बदलाव होगा और अवैध प्रवासियों को बैगर दस्तावेज के नागरिकता मिलेगी.

05 December 2019

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस

प्रत्येक साल संपूर्ण विश्व में 05 दिसम्बर को 'अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस' मनाया जाता है. यह दिन उन सभी लोगों के प्रति आभार प्रकट करने हेतु मनाया जाता है जो बिना किसी मौद्रिक लाभ के मुफ्त में काम कर रहे हैं और अन्य लोगों की सहायता करते हैं. अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस 2019 का मुख्य विषय- ‘वालंटियर फॉर एन इंक्लूसिव फ्यूचर (Volunteer for an inclusive future)’ हैं. यह दिवस स्थानीय, राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय सभी स्तरों पर परिवर्तन करने में लोगों की भागीदारी के सम्मान का एक वैश्विक उत्सव है. अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस स्वयंसेवकों के अवसरों के प्रति आम जनता में जागरूकता फैलाने हेतु मनाया जाता है. 

03 December 2019

भारतीय सेना ने स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण किया

भारतीय सेना ने हाल ही में मध्य प्रदेश के महू में दो स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (एटीजीएम) का सफल परीक्षण किया. इस परीक्षण के दौरान सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी मौजूद रहे. उन्होंने वार्षिक इन्फैंट्री कमांडर्स सम्मेलन में भाग लेने के लिए महू छावनी में थे. इस मिसाइल को बंकर बस्टर मोड में उपयोग किया जाएगा. स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल चौथी पीढ़ी की मिसाइल है, जिसे हाल ही में सेना में शामिल किया गया है. इस मिसाइल को इस्राइल की रॉफेल एडवांस डिफेंस सिस्टम ने विकसित की है. मिसाइल में एक इनबिल्ट सीकर होता है, जो इसे फायर करने वालों को दो मोड में उपयोग करने की सुविधा देता है. इसमें दिन (सीसीडी) और रात (आईआईआर) मोड शामिल है.

लोकसभा में अनधिकृत कालोनियों को नियमित करने वाला बिल पास हुआ

लोकसभा में 28 नवंबर 2019 को दिल्ली में अनधिकृत कालोनियों को नियमित करने का विधेयक सर्वसम्मिति से पारित हो गया. इस विधेयक का उद्देश्य स्वामित्व के अधिकारों को सुरक्षित करके अनधिकृत कालोनियों को नियमित करना है. इस विधेयक को पारित होने से दिल्ली में विकास कार्यों को करने की राह मजबूत होगी. यह बिल ‘राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र दिल्ली (अप्राधिकृत कॉलोनी निवासी संपत्ति अधिकार मान्यता) विधेयक, 2019’ के नाम से पेश किया गया. केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने 26 नवंबर 2019 को संसद के

मलयालम कवि अक्कितम 55वां ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित

प्रतिष्ठित ज्ञानपीठ पुरस्कार 2019 की घोषणा हो चुकी है, इस वर्ष यह पुरस्कार मलयालम कवि अक्कितम अच्युतन नंबूदरी को दिया जाएगा. प्रख्यात ओडिया लेखिका प्रतिभा राय की अध्यक्षता में एक निर्णायक मंडल ने उनके नाम की घोषणा से पहले एक बैठक की. निर्णायक मंडल के अन्य सदस्य थे शमीम हनफ़ी, सुरंजन दास, माधव कौशिक और डॉ. पुरुषोत्तम. ज्ञानपीठ पुरस्कार में 11 लाख रुपये, वाग्देवी की एक मूर्ति, एक प्रशस्ति पत्र और एक स्मृति चिन्ह शामिल हैं.

अक्कितम मलयालम कविता जगत में एक प्रसिद्ध लेखक हैं. उनका जन्म 1926

अंतरराष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस

प्रत्येक साल 02 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस मनाया जाता है. यह दिवस मानव तस्करी को समाप्त करने और मनुष्यों के शोषण के बारे में जागरूकता फैलाने हेतु मनाया जाता है. अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) द्वारा जारी नवीनतम जानकारी के अनुसार, चालीस मिलियन से अधिक लोग आधुनिक गुलामी के शिकार हैं. यह दिवस वैश्विक स्तर पर मानव तस्करी, बाल श्रम और आधुनिक गुलामी को समाप्त करने के उद्देश्य से मनाया जाता है. आधुनिक गुलामी की कोई स्पष्ट परिभाषा नहीं है, लेकिन इसे ऋण बंधन, मानव तस्करी, जबरन श्रम और जबरन विवाह माना जाता है. यह मूल रूप से उस स्थिति को संदर्भित करता है जहां कोई शोषण, हिंसा और दुरुपयोग का अनुभव करता है.