मासिक करेंट अफेयर्स

24 September 2017

पीएम मोदी ने बनारस को दी तोहफों की सौगात, 23 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास

यूपी में भाजपा सरकार बनने के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र बनारस के दो दिन के दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां 23 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया. अपने दौरे के पहले दिन पीएम मोदी ने वाराणसी के नाम कुल 1000 करोड़ रुपये की योजनाएं भेंट कीं. इसी दौरान मोदी ने वाराणसी से वडोदरा के लिए महामना एक्सप्रेस ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाई. लोकार्पित परियोजनाओं में 300 करोड़ की लागत वाले पं. दीनदयाल हस्तकला एवं व्यापार सुविधा केन्द्र, माइक्रो फाइनेंस के लिए उत्कर्ष बैंक, गंगा पर बने दो पुल और बिजली का एक उपकेन्द्र प्रमुख है.

योजनाओं के शिलान्यास के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पिछले कई सालों में बनारस की धरती पर इतने बड़े स्तर की योजनाओं की शुरुआत हुई है. साथ ही उन्होंने कहा, 'जिन योजनाओं का शिलान्यास हम करते हैं उसका उद्घाटन भी हम करते हैं. वरना राजनीतिक जीवन में शिलान्यास होते रहते हैं लेकिन उद्घाटन नहीं होते हैं, योजनाएं लटक जाती हैं.' पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दैरान कहा, 'पहले ऐसी सरकारें थीं जिनको विकास से नफरत थी. उनके लिए सरकारी तिजोरी उनके चुनावों में खाली हो जाती थी.' पीएम मोदी ने कहा कि हमारी कोशिश गरीब को ताकतवर बनाने की थी. हम चाहते हैं कि आपके बच्चों को गरीबी की जिंदगी जीनी ना पड़े, इसलिए हम इन सारी योजनाओं से समाज के हर तबके में सशक्तिकरण लाने का प्रयास कर रहे हैं.

पीएम मोदी ने बनारस में दीनदयाल हस्तकला संकुल का उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि जब वह वाराणसी से सांसद बनने के बाद बुनकरों से बात कर रहे थे, तब उनमें से बहत लोगों ने कहा कि उनके बच्चे उनके पुश्तैनी काम से नहीं जुड़ना चाहते. तभी लगा कि इतना बड़ा आर्थिक गतिविधि का हथियार अगर हमारे परिवारों से छूट जाएगा तो इतिहास हमें कभी माफ नहीं कर सकेगा. उन्होंने कहा कि इसलिए 300 करोड़ की लागत से बनी यह इमारत, केवल इमारत नहीं है, बल्कि भारत के सामर्थ्य का परिचय कराने वाली है. यह हमारे काशी क्षेत्र के शिल्पकारों, बुनकरों की ऐसी कथा को संजोये है जो भविष्य के नए दरवाजे खोलने की ताकत रखती है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'हमारे बुनकरों को ग्लोबल मार्केट की जरूरत है. मैं यहां के ऑटो रिक्शा ड्राइवरों से, टैक्सी वालों से आग्रह करूंगा कि काशी में जो भी टूरिस्ट आता है, उसे यहां जरूर लाएं. एक ही जगह पर काशी के सामर्थ्य का परिचय कराइए.' मोदी ने कहा, 'जो भी यहां आएगा वो कुछ ना कुछ खरीद कर तो जाएगा, और जो खरीद कर जाएगा वो इसके बारे में दूसरे देश में जरूर बताएगा. मेरे सभी बुनकरों और शिल्पकारों को ये संकुल की सौगात देते हुए हृदय से अभिनंदन करता हूं और उनकी प्रगति के लिए शुभकामनाएं देता हूं.
 
पीएम मोदी ने स्वच्छता को लेकर कहा कि बीमारियां बढ़ाने का काम गंदगी करती है. आरोग्य के लिए स्वच्छता जरूरी है. शहंशाहपुर गांव में 2 अक्टूबर के बाद खुले में शौच करने नहीं जाएगा. स्वच्छता मेरे लिए पूजा है. ये गरीबों को बीमारी से दूर रखेगी. स्वच्छता हर भारतवासी की जिम्मेदारी है. सफाई के लिए जितना काम होना चाहिए उतना नहीं हुआ है. गंदगी हम करते हैं और सफाई कोई ओर, स्वच्छता सबकी जिम्मेदारी है. हर आदमी और परिवार का जिम्मा है. पीएम ने कहा कि हमने मुश्किल काम का बीड़ा उठाया, मैं मुश्किल काम नहीं करूंगा तो कौन करेंगा. 2022 तक हर गरीब को घर देना है. हमें करोड़ों घर बनाने हैं, जिससे रोजगार आएगा. यूरोप के एक देश जितने घर हमें बनाने हैं. पिछली सरकारों ने घर को लेकर कोई काम नहीं किया.
 
दौरे के आखिरी दिन पीएम मोदी ने यूपी के शहंशाहपुर में शौचालय की नींव रख स्वच्छता अभियान की शुरुआत की. पीएम ने कहा मैं आज शहंशाहपुर में शौचालय की नींव रखने गया था वहां मैंने देखा कि उन्होंने शौचालय का नाम इज्जतघर दिया हुआ है. मुझे बहुत अच्छा लगा. जिसे भी अपनी इज्जत की चिंता है, वह जरूर इज्जतघर बनाएगा. पीएम ने कहा कि काशी में लोगों के घरों में एलईडी बल्ब लगने से बिजली का बिल कम हुआ है. काशी में स्ट्रीट लाइट में एलईडी बल्ब लगा है. स्ट्रीट लाइट में एलईडी लगने से काशी नगर निगम के 13 करोड़ बचे. वह रुपया नागरिकों के विकास में काम आएगा. जनता के पैसे का इस्तेमाल जनता की भलाई के लिए होगा. कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ हम काम कर रहे हैं और तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. हमने ईमानदारी का अभियान चलाया है और जीएसटी भी इसी का हिस्सा है.
 
इसके बाद पीएम मोदी ने यहां पशु अरोग्य मेले का उद्घाटन किया. पीएम ने यहां पशु अरोग्य मेले का जायजा भी लिया. पीएम ने कहा कि मैं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को बहुत बधाई देता हूं कि जो उन्होंने पशुधन आरोग्य मेले की शुरुआत की. यहां 1700 पशु अलग-अलग जगह से आए हैं. इस मेले से हमारे किसान को फायदा होगा.पीएम मोदी ने कहा कि वोट बैंक के लिए काम करना कुछ लोगों का स्वभाव है, लेकिन हमारे लिए दल से बड़ा देश है. अब तक पशुधन के लिए काम नहीं किया गया था. पशुपालन और दूध उत्पादन से नई आर्थिक क्रांति का जन्म होगा. 2022 में देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होंगे सो आजादी के दीवानों का सपना पूरा करने का संकल्प लें और 5 साल में संकल्प सिद्ध करें. 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का संकल्प है.
 
इसके अलावा अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश सरकार का भी बहुत आभारी हूं कि उन्होंने बनारस के विकास के लिए पूर्वी भारत के विकास के हमारे सपने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई है. उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए कहा कि 6 महिने के अल्पकाल में जो कमाल करके दिखाया है उसके लिए उनको बधाई.
 

No comments:

Post a comment