नेपाल के पश्चिमी जिला रूपनडेही में भारत और नेपाल का संयुक्त सैन्य अभ्यास मंगलवार को शुरू हुआ. इसमें आतंकवाद विरोधी और जंगलों में होने वाले अभियान पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा. नेपाली सेना के वरिष्ठ अधिकारी राजेंद्र कार्की ने सूर्य किरण अभ्यास का उद्घाटन किया. इसमें भारत और नेपाल के करीब 300-300 सैनिक हिस्सा ले रहे हैं. भारतीय सेना के अधिकारियों के मुताबिक, सैनिकों की भागीदारी के लिहाज से सूर्य किरण सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास है. आपदा प्रबंधन और संयुक्त आपदा राहत अभियान भी इस अभ्यास का हिस्सा होगा.
 
नेपाली सेना ने कहा कि संयुक्त अभ्यास दोनों देशों की सेनाओं को अनुभव, समझ और कौशल के आदान-प्रदान का प्लेटफॉर्म प्रदान करेगा. इससे दोनों देशों के मौजूदा दोस्ताना संबंध और मजबूत होंगे और दोनों सेनाओं के बीच आपसी समझ बढे़गा. भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य अभ्यास का 12वां संस्करण छह सितंबर को समाप्त होगा. 11वां संस्करण उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में आयोजित हुआ था. सूर्य किरण सैन्य अभ्यास का आयोजन बारी-बारी से भारत और नेपाल में किया जाता है.