मासिक करेंट अफेयर्स

18 September 2017

आंध्र प्रदेश में विजयवाड़ा से अमरावती के बीच चलेगी देश की पहली हाइपरलूप

बुलेट ट्रेन से भी तेज चलने वाली हाइपरलूप ट्रेन को भारत में हरी झंडी मिल गई है. आंध्र प्रदेश सरकार विजयवाड़ा और अमरावती शहरों को हाइपरलूप के जरिए जोड़ेगी. दोनों शहरों के बीच की एक घंटे की यात्रा घटकर केवल पांच-छह मिनट की रह जाएगी. इस प्रॉजेक्ट के लिए आंध्र प्रदेश सरकार ने अमेरिकी कंपनी हाइपरलूप ट्रांसपोर्टेशन टेक्नॉलजीज (एचटीटी) के साथ समझौता किया है. आंध्र प्रदेश इकनॉमिक डिवेलपमेंट बोर्ड (एपी-ईडीबी) और एचटीटी ने समझौता पत्र (एमओयू) पर दस्तखत किए.यह प्रॉजेक्ट पब्लिक-प्राइवेट- पार्टनरशिप (पीपीपी) मोड पर संचालित होगा, जिसकी फंडिंग मुख्य रूप से प्राइवेट निवेशकों की ओर से होगी. हालांकि, आधिकारिक रूप से जारी समझौता पत्र में प्रॉजेक्ट की संभावित लागत के बारे में नहीं बताया गया है.

फीजिबिलिटी टेस्ट का काम अक्टूबर से शुरू होगा. छह महीने की फीजिबिलिटी स्टडी के बाद एचटीटी भारत में अपना पहला हाइपरलूप बनाना शुरू कर देगी. हाइपरलूप टेस्ला के संस्थापक एलन मस्क के दिमाग की उपज है, जिन्होंने साल 2013 में एक वाइटपेपर के रूप में हाइपरलूप की बेसिक डिजाइन से दुनिया को रू-ब-रू किया था. हाइपरलूप दुनियाभर के विभिन्न देशों में अलग-अलग ट्रायल स्टेज से गुजर रही है. हाइपरलूप चुंबकीय शक्ति पर आधारित एक नई तकनीक है. इसके तहत खंभों के ऊपर (एलिवेटेड) ट्यूब बिछाई जाती है. इसके भीतर बुलेट जैसी शक्ल की लंबी सिंगल बोगी हवा में तैरते हुए चलती है. इसमें बिजली का खर्च बहुत कम है और प्रदूषण बिल्कुल नहीं है.

No comments:

Post a comment