मासिक करेंट अफेयर्स

26 September 2017

केंद्र सरकार ने ‘नेबरहुड एक्शन प्लान’ का शुभारम्भ किया


केंद्र सरकार ने देश के शहरों में कचरे के समुचित तरीके से प्रबंधन के लिए एक ‘नेबरहुड एक्शन प्लान’ का शुभारम्भ किया है. आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दक्षिणी एमसीडी द्वारा कूड़ा चुनने/छांटने वाली आयातित आधुनिक मशीन का उद्घाटन करने के बाद दिल्लीवासियों से प्रभावी भूमिका में आने की अपील करते हुए कहा,‘‘राष्ट्रीय राजधानी में रहने के गर्व को जगाएं और सुस्ती छोड़ें और कचरा प्रबंधन के लिए प्रभावी ठोस इंतजाम करने में अपना योगदान दें तभी हम कचरे की समस्या से निजात पा सकते हैं, जो हम सभी के जीवन पर बुरा असर डाल रहा है.’’ पुरी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जिस इरादे, जुनून और ऊर्जा के साथ स्वच्छ भारत अभियान का संचालन करते रहे हैं, उसका अभूतपूर्व परिणाम पूरे देश में स्वच्छता के साथ लोगों के ‘व्यक्तिगत जुड़ाव’ के रूप में सामने आया है.  इसके चलते तीन वर्षो की कम अवधि में ही पूरे देश में पांच करोड़ शौचालयों का निर्माण संभव हुआ है. इनमें शहरी इलाकों में बनाये गए 38 लाख शौचालय भी शामिल हैं.

पुरी ने दक्षिण दिल्ली के भीकाजी कामा प्लेस में आयोजित ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान में भाग लिया.  इस बात जोर देते हुए कि दिल्ली में कचरे की समस्या, जो आनुपातिक रूप से अपने चरम पर पहुंच गई है, का समुचित हल निकाले बिना देश को साफ-सुथरा नहीं रखा जा सकता. उन्होंने लोगों में राष्ट्रीय राजधानी के बाशिंदे होने का गर्व-भाव जगाते हुए उन्हें कचरा निष्पादन के प्रभावी व ठोस प्रबंधन में सामूहिक स्तर पर जुटने का आह्वान किया. पुरी ने बाद में वहां उपस्थित लोगों, स्वच्छता में लगे कार्यकर्ताओं, मंत्रालय और एसडीएमसी के अधिकारियों को संबोधित किया, जिन्होंने उनके साथ-साथ श्रमदान में हिस्सा लिया. माननीय मंत्री ने यह रेखांकित किया कि दिल्ली के नागरिक और इसके बाशिंदा होना ‘गौरव की बात’ है और यह एक अनोखा विशेषाधिकार है, जो बेहतर सेवाओं और सुविधाओं के रूप में अनेक तरह के लाभ देता है, जो देश के अन्य शहरों में सुलभ नहीं हैं. उन्होंने दिल्ली मेट्रो का उदाहरण दिया कि जिसमें केंद्र और राज्य सरकारों ने भारी व्यय किया हुआ है और वे भविष्य में भी इसमें धन लगा रहे हैं. 

श्री पुरी ने कहा कि अगर दिल्ली साफ-सुथरी नहीं की गई और कचरे के निस्तारण का समुचित इंतजाम नहीं किया गया तो दिल्लीवासी होने का यह गौरव छीन जाएगा. अगले दो वर्षो में देश के शहरों में कचरा निष्पादन के ठोस प्रबंधन को एक बड़ी चुनौती करार देते हुए श्री पुरी ने कचरे के ठोस प्रबंधन की श्रृंखला की सफलता के लिए स्वच्छता के साथ पहले के ‘व्यक्तिगत जुड़ाव’ को ‘सामाजिक जुड़ाव’ में बदलने पर बल दिया. लोगों के अपने निकटस्थ पड़ोसियों के साथ सहज जुड़ाव को देखते हुए मंत्री महोदय ने ‘घर भी साफ और पड़ोसी भी साफ अभियान का प्रारंभ किया. श्री पुरी ने कहा कि इस नेबरहुड एक्शन प्लान से लैंडफिल को भेजे जाने वाले ठोस कचरे का परिमाण घटेगा. इसके अलावा, कचरे से कम्पोस्ट और कचरे से ऊर्जा बनाने में सुविधा होगी. नेबरहुड का मायने आवासीय सोसाइटी, कालोनी, मुहल्ला और बाजार आदि है. मंत्री महोदय ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के तीन साल पूरे होने के अवसर पर दो अक्टूबर से नेबरहुड एक्शन प्लान को देश के सभी नगरों और शहरों में शुरू किया जाएगा. 

No comments:

Post a comment