मासिक करेंट अफेयर्स

31 October 2017

भारतीय मूल की गिना मिलर ब्रिटेन की सबसे प्रभावशाली अश्वेत चुनी गई

भारतीय मूल की प्रचारक गीना मिलर को इस साल ब्रिटेन की सबसे प्रभावशाली अश्वेत व्यक्ति चुना गया है. उन्हें यह सम्मान कानूनी लड़ाई जीतने के लिए दिया गया है, जिसमें उन्होंने संसदीय अनुमति के बिना ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे को  ब्रेक्जिट की प्रक्रिया शुरू करने से रोका था. अफ्रीकी और अफ्रीकी कैरेबियाई विरासत के 100 लोगों की 2018 ‘पॉवरलिस्ट’ में गीना मिलर (52) शीर्ष पर हैं. ‘पावरफुल मीडिया’ ने कल यह सूची लंदन में प्रकाशित की. गीना नादिरा सिंह उर्फ गीना मिलर का जन्म ब्रिटिश गुयाना (अब गुयाना) में हुआ था. वह गुयाना के पूर्व अटार्नी जनरल दूनदान सिंह की बेटी हैं. गीना ने ‘बेस्ट फॉर ब्रिटेन’ अभियान में एक प्रमुख प्रचारक की भूमिका निभाई थी.

ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के मामले पर अपना रूख व्यक्त करने पर सोशल मीडिया पर ब्रेग्जिटर्स द्वारा निशाना बनाए जाने के बाद से उन्हें और उनके परिवार को लंदन में कड़ी सुरक्षा मुहैया कराई गई. वह लंदन में अपने पति और 3 बच्चों के साथ रहती है. उन्होंने कहा कि मेरे जिस कदम की इतनी आलोचना की गई उसके लिए सम्मान मिलना अछ्वुत है.
 

चीन ने दुनिया की पहली बिना पटरी वाली स्‍मार्ट ट्रेन चलाई

चीन ने दुनिया को पहली स्‍मार्ट ट्रेन का तोहफा दिया है. ये व्‍हीकल वर्चुअल रेल लाइन पर रन करेगा. इन लाइन्‍स को चाइना की सड़कों पर बिछाया गया है. चीन के झूजो प्रांत में इसे तैयार किया गया है. ये ट्रेन एक बार में 300 यात्रियों को ले जाने में सक्षम होगी. ट्रेन की रफ्तार 70 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. ट्रेन में तीन कोच तैयार किए गए हैं. इन्‍हें आपस में मेट्रो की तरह जोड़ा गया है. जिससे स्‍मार्ट ट्रेन के अंदर भी यात्री एक कोच से दूसरे कोच में जा सकते हैं. ये स्‍मार्ट ट्रेन फ्यूचर का ट्रांसपोर्ट है. इस ट्रेन सिस्‍टम को शहर के लिए तैयार किया गया है. इसे ऑटोनोमस रेल रैपिड ट्रांसिट कहते हैं. 

इसे चीन रेल कार्पोरेशन ने तैयार किया है. यह दुनिया की सबसे बड़ी ट्रेन कंपनी है. चीन के झूजो प्रांत में 4 मिलियन लोग रहते हैं. सभी को चीन के दूसरे शहरों में भी जाना होता है. ये ट्रेन उनके सफर को और भी आसान बनाएगी. इसे अगर लॉन्‍ग बस कहा जाए तो गलत नहीं होगी पर एक बस के मुकाबले ये कई अधिक संख्‍या में यात्रियों को ले जा सकती है. इस ट्रेन की सबसे खास बात है इसके चलने का तरीका जो पुराने तरीको से हटकर है. इसे चलने के लिए किसी भी तरह का फिजिकल ट्रैक नहीं चाहिए. इस खास ट्रेन के लिए खास तौर पर रोड पर डॉट के रूप में अद्रश्‍य लाइनों को तैयार किया गया है.   एक किलोमीटर की कॉस्‍ट 17 से 23 मिलियन यूरो है. इस ट्रेन को चलाने के लिए रोड के अंदर सेंसर फिट किए जाते हैं. ये सेंसर ट्रैवल की जानकारी एकत्र करने में भी सक्षम होते हैं.

राजस्थान में गुर्जर सहित पांच जातियों को ओबीसी आरक्षण मिला

राजस्थान विधानसभा ने राजस्थान पिछड़ा वर्ग (राज्य की शैक्षिक संस्थाओं में सीटों और राज्य के अधीन सेवाओं में नियुक्तियों और पदों का आरक्षण) विधेयक, 2017 गुरुवार को ध्वनिमत से पारित कर दिया. विधेयक के पारित होने के बाद राज्य में ओबीसी का आरक्षण इक्कीस प्रतिशत से बढ़कर छब्बीस प्रतिशत हो जाएगा. विधेयक के पारित होने से ओबीसी का आरक्षण 26 प्रतिशत होने से कुल आरक्षण बढ़कर 54 प्रतिशत हो जाएगा. इस विधेयक के पारित होने से गुर्जरों सहित पांच जातियों को ओबीसी में पांच प्रतिशत आरक्षण देने का रास्ता साफ हो गया है. विधेयक के पारित होने के बाद सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए रथगित कर दी गई.

राज्य की वसुंधरा राजे सरकार ने गुर्जर समेत 5 जातियों को अलग से आरक्षण देने के लिए विधानसभा में यह बिल पारित कराया है. अभी तक राज्य में ओबीसी आरक्षण की सीमा 21 फीसदी थी. बिल पर राज्यपाल के दस्तखत होने के बाद आरक्षण की नई व्यवस्था अमल में आएगी. नए बिल में ओबीसी आरक्षण को दो कैटिगरी में बांटा गया है. पहली कैटिगरी में पहले की तरह 21 फीसदी आरक्षण है, जबकि दूसरी कैटिगरी में गुर्जर और बंजारा समेत 5 जातियों के लिए 5 फीसदी आरक्षण का प्रावधान है. इसके साथ ही राज्य में एससी (अनुसूचित जाति) को 16 फीसदी, एसटी (अनुसूचित जनजाति) को 12 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था है. नई व्यवस्था में राज्य में कुल आरक्षण 54 फीसदी हो जाएगा। 

हालांकि इसे अदालत में चुनौती दिए जाने के भी आसार हैं. पहले भी कई बार ऐसा बिल खारिज हो चुका है. राजस्थान सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के इंद्रा साहनी केस का हवाला देते हुए दलील दी थी कि राज्य की आधी से ज्यादा आबादी अन्य पिछड़ी जातियों की है. ऐसी विशेष परिस्थिति में आरक्षण 50 फीसदी से ज्यादा हो सकता है. लंबे अरसे से राजस्थान का गुर्जर समाज आरक्षण के लिए आंदोलनरत है. कई बार इस आंदोलन ने हिंसक रूप अख्तियार किया है. करीब एक दशक से गुर्जर समाज आरक्षण की मांग को लेकर राज्य में आंदोलन कर रहा है.

उत्पल कुमार सिंह उाराखंड के नये मुख्य सचिव नियुक्त

केन्द्र में प्रतिनियुक्ति समाप्ती के बाद दो दिन पहले ही मूल कैडर में वापस आये वरिष्ठ आइएएस अधिकारी उत्पल कुमार सिंह को एस. रामास्वामी की जगह उाराखंड का नया मुख्य सचिव नियुक्त किया गया. वर्ष 1986 बैच के आइएएस अधिकारी सिंह ने यहां राज्य सचिवालय में कार्यभार ग्रहण कर लिया है. केन्द्र में कृषि विभाग में अपर सचिव पद की जिम्मेदारी संभाल रहे सिंह को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अनुरोध पर 23 अक्तूबर को ही उाराखंड के लिये कार्यमुक्त किया गया था. इससे पहले, प्रमुख सचिव, कार्मिक, राधा रतूड़ी द्वारा जारी शासनादेश में सिंह को प्रदेश का मुख्य सचिव नियुक्त किये जाने की जानकारी देते हुए उन्हें अविलंब पदभार संभालने का निर्देश दिया गया था.

पदभार संभालने के तुरंत बाद नये मुख्य सचिव सिंह ने मुख्यमंत्री रावत से मुलाकात की. आइएएस अधिकारियों की एक लॉबी लंबे समय से मुख्यमंत्री पर रामास्वामी को हटाने का दवाब बना रही थी जिसे भाजपा के कुछ मंत्रियों का समर्थन भी हासिल था. आलोक कुमार जैन के बाद रामास्वामी ऐसे दूसरे मुख्य सचिव हैं जो अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाये. रामास्वामी नवंबर, 2016 में मुख्य सचिव बनाये गये थे.

योगी सरकार ने मदरसों में एनसीईआरटी पाठयक्रम लागु करने की घोषणा की

उत्तर प्रदेश सरकार ने मदरसों तथा इस्लामी शैक्षणिक संस्थानों में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण (एनसीईआरटी) की किताबें पढ़ाने का निर्णय लिया है. उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा, मदरसों में एनसीईआरटी किताबों से पढ़ाई होगी. उन्होंने कहा, आधुनिक विषयों के साथ स्कूलों के संग बराबरी कर पाएंगे, आलिया स्तर पर गणित और साइंस अनिवार्य होगी. उन्होंने केहा कि राज्य मदरसा बोर्ड विद्यार्थियों को सीबीएससी स्कूलो में पढ़ाये जा रहे एनसीईआरटी कोर्स के तहत चयनित किताबों को पढ़ाये जाने की तैयारी में जुट गया है. शर्मा ने कहा कि मदरसा स्कूलों में गणित तथा विज्ञान की पढ़ाई को अनिवार्य किये जाने की तैयारी की जा रही है. सरकार से हरी झंडी मिलते ही मदरसा बोर्ड एनसीईआरटी की किताबें शामिल करेगा. उत्तर प्रदेश के दो हजार से ज्यादा सरकारी मदरसों में एनसीईआरटी की किताबें पढ़ाई जायेगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश के मदरसों में उच्चस्तर की पढ़ाई की जायेगी.

उन्होंने बताया कि सरकार ने मदरसों में पाठ्यक्रम को सुधारने के लिए एक 40 सदस्यीय समिति बनायी थी. समिति ने सरकार को रिपोर्ट सौंप दी है. रिपोर्ट के अनुसार, सरकार पढ़ाई के स्तर को सुधारने के स्कूलों में हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान अनिवार्य कर सकती है. इस बीच, मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने कहा कि जल्द ही मदरसों में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम शुरू करने के लिए राज्य सरकार को एक प्रस्ताव भेजा है. उन्होंने कहा कि हिंदी और अंग्रेजी को छोड़कर मदरसों में अन्य विषयों की सभी किताबें उर्दू में होंगे, जिनमें गणित और विज्ञान शामिल हैं.

प्रदेश सरकार ने 2017-18 के लिए राज्य के बजट में अल्पसंख्यक कल्याण के लिए लगभग 1700 करोड़ रुपये आवंटित किए थे. मान्यता प्राप्त मदरसों और प्राथमिक विद्यालयों में आधुनिक शिक्षा देने के लिए सरकार ने 394 करोड़ रुपये की राशि मंजूर किये है. शिक्षा विभाग द्वारा मानको को पालन नही किये जाने के कारण सरकार ने सितम्बर में राज्य के 46 मदरसों को अनुदान दिये जाने पर रोक लगा दी थी.

भारत और एशियाई विकास बैंक ने पश्चिम बंगाल में वित्तीय सुधार हेतु 300 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते की

भारत सरकार और एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने पश्चिम बंगाल में वित्तीय सुधारों के लिए 300 मिलियन डॉलर के एक ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं ताकि राज्य में सार्वजनिक सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार किया जा सके. दूसरे पश्चिम बंगाल विकास वित्त कार्यक्रम का उद्देश्य अनुत्पादक व्यय को कम करके और राजस्व संग्रह में बढ़ोत्तरी के माध्यम से सार्वजनिक निवेश को बढ़ाना है. कार्यक्रम के पहले चरण में 400 मिलियन डॉलर का व्यय हुआ था. वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामले विभाग में सयुंक्त सचिव श्री समीर कुमार खरे नें बताया कि कार्यक्रम का लक्ष्य सुधारों का दायरा बढ़ाना, व्यय को तार्किक बनाना, राजकोषीय प्रशासन में सुधार और राज्य में निजी क्षेत्र के निवेश को बढ़ाना है.

भारत के लिए एडीबी के निदेशक केनी केची योकोयामा ने कहा, "नया कार्यक्रम राज्य में उच्च सार्वजनिक निवेश को बनाए रखने के लिए आवश्यक वित्तीय माहौल बनायेगा, जो राज्य की वित्त प्रणाली को संतुलित और स्थायी बनाने में मददगार होगा. समझौता पत्र पर पश्चिम बंगाल की ओर से वित्त विभाग के सचिव परवेज़ अहमद सिद्दकी ने किए जबकि एडीबी की ओर से भारत के लिए एडीबी के निदेशक केनी केची योकोयामा ने हस्ताक्षर किए. यह कार्यक्रम राज्य में सार्वजनिक निवेश के साथ-साथ निजी क्षेत्र के निवेश को भी प्रोत्साहित करेगा. इससे जरूरी ढांचागत सुविधाएं और सहयोग प्रदान किया जाएगा. सार्वजनिक और निजी साझेदारी का जोर मुख्यत: स्वास्थ्य और शिक्षा में क्षेत्र में रहेगा। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए पंजीकरण और लाइसेंस की प्रक्रिया को सरल बनाया जाएगा.

भारत ने सुल्तान जोहोर कप में कांस्य पदक जीता

भारत की पुरुष जूनियर हॉकी टीम को सुल्तान जोहोर कप टूर्नामेंट के सातवें संस्करण में रविवार को मेजबान मलेशिया को मात देकर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया. तमान दाया हॉकी स्टेडियम में तीसरे स्थान के लिए खेले गए इस मैच में भारत ने मलेशिया को 4-0 से मात दी. भारतीय टीम ने शुरुआत से ही इस मैच पर अपना दबदबा कायम कर रखा था. 11वें मिनट में ही कप्तान विवके प्रसाद की ओर से दागे गए गोल से टीम ने अपना खाता खोला. पहले क्वार्टर की समाप्ति के अंतिम मिनट में दिलप्रीत से मिले पास को विशाल अंटिल ने गोल में तब्दील कर भारतीय टीम को 2-0 की बढ़त दी.

दूसरे क्वार्टर में शेलेंद्र लाकड़ा ने 21वें मिनट में अवसर का फायदा उठाते हुए भारतीय टीम के लिए तीसरा गोल किया. इस बीच, मलेशिया को 18वें मिनट में गोल का अवसर मिला था, लेकिन भारतीय गोलकीपर सेंथामिझ शंकर ने इस कोशिश को असफल कर दिया. विशाल ने इसके बाद आगे बढ़ते हुए 25वें मिनट में भारतीय टीम के लिए चौथा गोल किया. इसके बाद अपने अच्छे डिफेंस के दम पर भारत ने मलेशिया को तीसरे और चौथे क्वार्टर में गोल करने का मौका नहीं दिया और 4-0 से जीत हासिल कर कांस्य पदक अपने नाम किया.

दुश्मन की सबमरीन को मात देने लिए हिंद महसागर में भारत-जापान नौसेना का युद्धाभ्यास

भारत और जापान की नौसेनाओं ने दोनों देशों के आसपास रणनीतिक रुप से महत्वपूर्ण समुद्री मार्गों में अपने परिचालन समन्वय को और बढ़ाने  के लिए हिंद महासागर क्षेत्र में तीन दिवसीय पनडुब्बी विरोधी सैन्याभ्यास शुरु किया. दोनों देशों की सेनाएं हिंद महासागर में युद्ध के दौरान सबमरीन को मात देने के लिए मिलकर तैयारी कर रही हैं. भारतीय नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने ट्वीट कर के बताया कि ये युद्धाभ्यास 31 अक्तूबर तक चलेगा. इस युद्धाभ्यास में भारतीय नौसेना का पी-8 आई लॉन्ग रेंज मैरीटाइम एंटी-सबमरीन एयरक्राफ्ट और जापानी मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स के दो पी-3 ओरिओन एंटी सबमरीन युद्धक विमान ने हिस्सा लिया है. दो पी 3 सी ओरिएन जेट  आज गोवा के हंसा में नोसेना के एयर स्टेशन पर पहुंचे. ये भी पनडुब्बी निरोधक हैं. नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डी के शर्मा ने कहा कि दोनों नौसेनाओं के ‘‘एयरक्रू’’ संयुक्त अभियान की अवधारणा तैयार करने के लिए गहन संवाद करेंगे.
 
यह अभ्यास भारत और जापान में इस चिंता के बीच हो रहा है कि  चीन हिंद प्रशांत क्षेत्र में अपनी मौजूदगी बढ़ा रहा है. भारत-जापान का मिलकर युद्धाभ्यास करना अहम माना जा रहा है, वहीं चीन लगातार दक्षिण चीन सागर में आक्रामक होता जा रहा है. बता दें कि इसी साल जुलाई में भारत, जापान और अमेरिका ने साथ मिलकर मालबार युद्धाभ्यास किया था. हाल में फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ले और निर्मला सीतारमण की मुलाकात के दौरान चर्चा का प्रमुख विषय भी समुद्री सुरक्षा ही है. गौरतलब है कि पूर्व रक्षामंत्री अरुण जेटली की जापान यात्रा के दौरान भी सुमद्री सुरक्षा का मुद्दा ही केंद्र में था.

न्यूजीलैंड को हराकर भारत ने लगातार सातवीं सीरीज जीती

भारत ने ग्रीनपार्क स्टेडियम खेले गए तीसरे वनडे मैच में रविवार को न्यूजीलैंड को रोमांचक मुकाबले में छह रनों से हराकर लगातार सातवीं श्रृंखला अपने नाम की. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए किवी टीम के सामने 338 रनों की विशाल चुनौती रखी थी. किवी टीम पूरे ओवर खेलने के बाद सात विकेट के नुकसान पर 331 रन ही बना सकी. रोहित शर्मा और विराट कोहली के धमाकेदार शतक और दोनों के बीच रिकार्ड साझेदारी के बाद अंतिम ओवरों में गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन से भारत ने रोमांच से भरे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में तीन वनडे मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमा लिया. भारत के 338 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम सलामी बल्लेबाज कोलिन मुनरो (75), कप्तान केन विलियमसन (64) और टाम लैथम (65) के अर्धशतकों के बावजूद सात विकेट पर 331 रन ही बना सकी. भारत ने 2-1 से श्रृंखला अपने नाम की. इस तरह उसने न्यूजीलैंड के खिलाफ स्वदेश में द्विपक्षीय श्रृंखला कभी नहीं गंवाने का रिकार्ड बरकरार रखा. भारत ने यह लगातार सातवीं वनडे श्रृंखला जीती है जो उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.

अंतिम ओवरों में भारत की जीत के सूत्रधार जसप्रीत बुमराह ने जिन्होंने 47 रन देकर तीन विकेट चटकाए. युजवेंद्र चहल ने भी 47 रन देकर दो विकेट हासिल किए. भुवनेश्वर कुमार ने वनडे में अपना दूसरा सबसे खराब प्रदर्शन करते हुए 92 रन लुटाए. उन्हें एक विकेट मिला. भारत ने इससे पहले रोहित (147) और कोहली (113) के बीच दूसरे विकेट की 230 रन की साझेदारी की बदौलत छह विकेट पर 337 रन बनाए जो ग्रीन पार्क पर सर्वाधिक स्कोर भी है. ये दोनों वनडे क्रिकेट में चार दोहरी शतकीय साझेदारी करने वाली दुनिया की पहली जोड़ी है. रोहित ने 138 गेंद का सामना करते हुए 18 चौके और दो छक्के जड़े जबकि कोहली ने 106 गेंद का सामना करते हुए नौ चौके और एक छक्का मारा.

भारतीय सेना की बढ़ेगी ताकत, 40,000 करोड़ रुपयों के नए हथियार खरीद को मंजूरी

सेना ने पुराने हथियारों को बदलने और खुद को और आधुनिक हथियारों से लैस करने की कोशिशों के तहत अपनी सबसे बड़ी खरीद योजना के प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया है. इसके तहत बड़ी संख्या में हल्के मशीन गन, कार्बाइन्स और राइफलों की खरीद होनी है जिसकी लागत करीब 40,000 करोड़ रुपये होगी. इस योजना के अनुसार करीब 7 लाख राइफलों, 44,000 हल्के मशीन गन और करीब 44, 600 कार्बाइन्स की खरीद होनी है और रक्षा मंत्रालय भी सेना के इस योजना के साथ है. चीन और पाकिस्तान से लगातार खतरे को देखते हुए भारतीय सेना पर लंबे समय से खुद की रक्षा पंक्ति को और दुरूस्त करने का दबाव था. बता दें कि भारतीय सेना दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सेना है.

आधुनिक हथियारों की खरीद के अलावा सरकार ने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) को भी निर्देश दिए हैं कि वह छोटे हथियारों खासकर छोटे एलएमजी (लाइट मशीन गन) पर अपने काम को तेजी से आगे बढ़ाए. अगले कुछ ही दिनों में एलएमजी की खरीद के लिए रिक्वेस्ट फॉर इन्फर्मेशन जारी की जाएगी. रक्षा मंत्रालय ने 7.62 कैलिबर गन्स के लिए कुछ ही दिन पहले टेंडर रद्द कर दिया था क्योंकि कई सीरीज में फील्ड ट्रायल के बाद केवल एक ही वेंडर इस रेस में बचा था. अब सेना की योजना शुरूआत में 10,000 एलएमजी खरीदने का प्रस्ताव है. इसके अलावा सेना 7.62 एमएम राइफल के स्पेसिफिकेशंस को भी मंजूरी दे दी है. माना जा रहा है कि आर्मी के आधिनिकीकरण पर हाल में आर्मी कमांडर्स कॉन्फ्रेंस के दौरान गहन चर्चा हुई थी. इस कॉन्फ्रेंस में रक्षा मंत्री सीतारमण भी मौजूद थीं और ये महसूस किया गया कि बढ़ती सुरक्षा खतरे के तहत आर्मी को और आधुनिक तकनीकों से लैस करने की जरूरत है.

30 October 2017

शर्मिला टैगोर को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड प्रदान किया गया

मशहूर अभिनेत्री शर्मिला टैगोर को लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार प्रदान किया गया. शर्मिला टैगोर को यह पुरस्कार पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से प्रदान किया गया. राजधानी के सिरी फोर्ट सभागार में कल शर्मिला को यह पुरस्कार सिनेमा में उनके योगदान के लिए प्रदान किया गया. उन्हें यह पुरस्कार केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह और दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी के हाथों प्रदान किया गया. इससे पहले भी शर्मिला टैगोर को विभिन्न पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, जिनमे फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार, पद्म भूषण, राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार - सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार, राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार - सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री पुरस्कार, आदि प्रदान किए गए.
 
शर्मिला टैगोर का जन्म 8 दिसम्बर 1946 को हैदराबाद, आंध्र प्रदेश, में एक हिंदू बंगाली परिवार में हुआ था. भारतीय फिल्मों की सशक्त अभिनेत्री शर्मिला ने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत वर्ष 1959 से की और कई बांग्ला तथा हिंदी फिल्मों में काम किया. शर्मिला टैगोर को दो बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्रदान किया गया है. साथ ही भारत सरकार ने उन्हें पद्मभूषण सम्मान से भी अलंकृत किया है. वर्ष 2004 से 2011 के मध्य वह सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष भी रह चुकी है.

कौशल भारत मिशन के तहत भारत के पहले प्रधानमंत्री कौशल केंद्र का शुभारंभ किया गया

कौशल प्रशिक्षण में गति लाने के उद्देश्‍य से केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास व उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज यहां स्मार्ट शहरों में कौशल प्रशिक्षण के लिए एनडीएमसी के सहयोग से भारत के पहले प्रधानमंत्री कौशल केंद्र (पीएमकेके) का उद्घाटन किया. दोनों मंत्रियों ने नई दिल्‍ली के मोतीबाग में कौशल विकास केंद्र और धरम मार्ग में उत्‍कृष्‍टता केंद्र की आधाशिलाएं भी रखी. सरकार के महत्‍वपूर्ण कार्यक्रमों में परस्‍पर सहयोग बढ़ाने के उद्देश्‍य से शहरी मामले और आवास मंत्रालय तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने नए कौशल विकास केंद्रों की स्‍थापना के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय के विभाग राष्‍ट्रीय कौशल विकास निगम (एमएसडीसी) ने नई दिल्‍ली नगर पालिका परिषद स्‍मार्ट सिटी लिमिटेड (एनडीएमसीएससीएल) के साथ समझौता किया है. इस समझौते का उद्देश्‍य बेरोजगार युवाओं को अल्‍प-अवधि प्रशिक्षण प्रदान करना है. प्राथमिक शिक्षण कार्यक्रम के तहत इससे नगरपालिका कर्मियों की क्षमता विकास में भी सहायता मिलेगी.

कौशल विकास केंद्रों का उद्घाटन करते हुए श्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘भारत एक युवा देश है और यह अपनी भौगोलिक अवस्‍थिति के फायदों के आधार पर एक महाशक्‍ति बनेगा तथा 2030 तक दुनिया के तीन सर्वश्रेष्‍ठ देशों में एक होगा. इस उपलब्‍धि को प्राप्‍त करने के लिए हमें युवाओं में निवेश करना होगा और उन्‍हें कौशल प्रदान करना होगा.’ श्री राजनाथ सिंह ने आगे कहा, ‘एक कौशल प्राप्‍त व्‍यक्‍ति अपने कठिन परिश्रम के कारण सम्‍मान, पहचान और प्रतिष्‍ठा पाता है. मुझे पूरा विश्‍वास है कि ये प्रशिक्षण केंद्र युवाओं को प्रशिक्षण प्राप्‍त करने को लेकर प्रेरित करेंगे, जिससे वे स्‍वाबलंबी बन सकेंगे.’

नया प्रधानमंत्री कौशल केंद्र, एनडीएमसी की अवसंरचना का उपयोग करेगा। नई दिल्‍ली के मंदिर मार्ग स्‍थित इस विरासत भवन का क्षेत्रफल 30,000 वर्ग फीट है. इसकी क्षमता एक वर्ष में 4,000 युवाओं को प्रशिक्षित करने की है. यह केंद्र स्‍वास्‍थ्‍य और सौर ऊर्जा क्षेत्र की जरूरतों को पूरा करेगा. इस केंद्र का संचालन एनएसडीसी की सहयोगी इकाई ओरियन एडोटेक के द्वारा किया जाएगा, जिसे पूरे देश में फैले 275 कौशल विकास केंद्रों के माध्‍यम से 3 लाख युवाओं को प्रशिक्षण देने का अनुभव है. इस अवसर पर श्‍नेडर इलेक्‍ट्रिक द्वारा निर्मित सौर ऊर्जा प्रयोगशाला का भी उद्घाटन किया गया.’

भारत और श्रीलंका ने हम्बनटोटा बंदरगाह में 1200 घरों के निर्माण हेतु समझौता किया

भारत ने श्रीलंका के साथ 26 अक्टूबर 2017 को  हम्बनटोटा बंदरगाह पर 1200 घरों के निर्माण हेतु एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया है. यह समझौता ज्ञापन भारत का श्रीलंका में उच्चायुक्त तरनजीत सिंह संधू और श्रीलंका के हाउसिंग मिनिस्ट्री के सचिव डब्ल्यू के के अथुकोराला के मध्य किया गया. ज्ञात हो कि भारत सरकार द्वारा श्रीलंका को 600 मिलियन रूपये की ग्रांट से श्रीलंका में 1200 घरों का निर्माण किया जायेगा. इन 1200 घरों में 600 घर श्रीलंका के दक्षिणी प्रांत में निर्मित किये जायेंगे जबकि बांकि के 600 घर श्रीलंका के 25 जिलों में तैयार किये जा रहे मॉडल गॉंवों में बनाएं जायेंगे. भारत और श्रीलंका के मध्य शुरू की गई इस परियोजना के अन्तर्गत भूमिहीन एवं बेघर लोगों को सहायता प्रदान की जायेगी.

इस परियोजना के माध्यम से प्रत्येक लाभार्थी को पांच किश्तों में पांच लाख रूपये की सहायता राशि प्रदान की जायेगी. यह परियोजना भारत द्वारा श्रीलंका में आवास निर्माण में सहायता प्रदान करने की प्रतिबद्धता का एक भाग हैं. भारत सरकार ने इसके अतिरिक्त श्रीलंका में उत्तर और पूर्वी भाग में लगभग 50000 घरों के निर्माण के लिए आधारशिला रखी है. जिसमें गलभग 46000 घर अब तक तैयार किये जा चुके हैं. बांकि के बचे 4000 हजार घरों को निर्माण तेजी से हो रहा है. मई 2017 में भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने बुवाई क्षेत्र में अतिरिक्त 10000 घरों के निर्माण के लिए प्रतिबद्धता जाहिर की थी.

फिर्ब्स की सर्वाधिक कमाई वाले खिलाड़ियों की सूची में भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली शामिल

भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली फोर्ब्स की दुनिया के सर्वाधिक कमाई करने वाले 100 खिलाड़ियों की सूची में जगह बनाने वाले एकमात्र भारतीय हैं. फुटबॉल स्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो इस लिस्ट में शीर्ष पर हैं. फोर्ब्स की 2017 की 'दुनिया में सर्वाधिक कमाई करने वाले खिलाड़ियों' की सूची में 28 साल के कोहली 89वें नंबर पर हैं. उनकी कुल कमाई दो करोड 20 लाख डॉलर है जिसमें 30 लाख डॉलर वेतन और पुरस्कार के अलावा एक करोड़ 90 लाख डॉलर विज्ञापन से कमाई है. कोहली की तारीफ करते हुए फोर्ब्स ने लिखा है कि इस सुपरस्टार की तुलना अच्छे कारणों से अभी से सर्वकालिक महान खिलाड़ी सचिन तेंडुलकर से होने लगी है. इसमें कहा गया है कि कोहली लगातार बल्लेबाजी के रेकॉर्ड तोड़ रहे हैं और 2015 में उन्हें भारतीय राष्ट्रीय टीम का कप्तान बनाया गया. इससे वह इस पद को हासिल करने वाले सबसे युवा खिलाड़ियों में से एक बने.

मैगजीन के अनुसार कोहली ने पिछले साल राष्ट्रीय टीम की ओर से खेलते हुए वेतन और मैच फीस के तौर पर 10 लाख डॉलर कमाए और वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से मिल रहे 23 लॉख डॉलर के वेतन के कारण इंडियन प्रीमियर लीग में सर्वाधिक कमाई करने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं. फोर्ब्स ने कहा, 'उनकी कमाई का बड़ा हिस्सा हालांकि प्रायोजन करार से आता है.' सर्वाधिक कमाई करने वाले खिलाडियों की सूची में रोनाल्डो कुल 9 करोड़ 30 लाख डॉलर की कमाई के साथ शीर्ष पर हैं. अमेरिका के बास्केटबॉल स्टार लिब्रोन जेम्स 8 करोड 62 लॉख डॉलर के साथ दूसरे जबकि अर्जेन्टीना के फुटबॉलर लियोनल मेसी 8 करोड डॉलर के साथ तीसरे स्थान पर हैं. टेनिस स्टार रोजर फेडरर 6 करोड़ 40 लाख डॉलर की कमाई के साथ चौथे स्थान पर हैं.

हालांकि, इस सूची से लिंग असमानता का भी पता चलता है क्योंकि शीर्ष 100 खिलाडियों की सूची में सिर्फ एक महिला को जगह मिली है. टेनिस स्टार सेरेना विलियम्स 2 करोड़ 70 लाख रुपए की कमाई के साथ इस सूची में 51वें स्थान पर हैं. इस सूची में 21 देशों के खिलाड़ियों को जगह मिली है, लेकिन इसमें अमेरिकी दबदबा साफ तौर पर देखा जा सकता है. अमेरिका के 63 खिलाडियों को इस सूची में शामिल किया गया है.

कर्नाटक कैबिनेट ने ट्रांसजेंडर नीति को मंजूरी दी

कर्नाटक कैबिनेट ने ट्रांसजेंडर के लिए राज्य की नीति, 2017 को आज मंजूरी दे दी. इसका लक्ष्य इस समुदाय को मुख्यधारा में लाना और शोषण से इनकी रक्षा करना है. कानून मंत्री टी बी जयचंद्र ने कैबिनेट बैठक के बाद यहां कल संवाददाताओं को बताया कि उच्चतम न्यायालय के एक आदेश के अनुपालन में इस नीति का मसौदा तैयार किया गया था. उन्होंने कहा कि इस समुदाय के लोगों को असुरक्षा, भेदभाव, अपमान का सामना करना पड़ता है, ऐसे में इस नीति का लक्ष्य उन्हें समाज की मुख्यधारा में लाना और इन्हें एक सुरक्षित जीवन प्रदान करना है. इस नीति में जोगप्पा, जिजरा, महिला से पुरुष, पुरुष से महिला, इंटर-सेक्स, कोथी, जोगतास, शिवशक्ति और अरावनी सहित ट्रांसजेंडरों के विभिन्न वर्गों का उल्लेख किया गया है.

नीति का उद्देश्य राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थानों में ट्रांसजेंडर समुदाय के बारे में जागरुकता फैलाना, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के जरिये ऐसे परिवारों तक पहुंचकर ट्रांसजेंडर बच्चों के बारे में उन्हें संवेदनशील बनाना, ट्रांसजेंडरों के खिलाफ भेदभाव, लैंगिक दुर्व्यवहार और हिंसा जैसयी समस्याओं के समाधान के लिये शैक्षणिक संस्थानों में निगरानी समिति या प्रकोष्ठ का निर्माण करना ह. यह भेदभाव रहित मैत्री नीति के संकेतकों की व्याख्या करने के साथ ही ट्रांसजेंडर समुदाय को सर्व शिक्षा अभियान , शिक्षा का अधिकार और साक्षरता बढ़ाने वाले प्रयासों में शामिल करने का विचार पेश करता है.

सउदी अरब रोबोट को नागरिकता देने वाला पहला देश बना

सउदी अरब रोबोट को नागरिकता प्रदान करने वाला पहला देश बन गया है. 25 अक्टूबर को सउदी अरब ने 'सोफिया' नाम के रोबोट को नागरिकता प्रदान की है. सउदी ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को बढ़ावा देने के लिए यद कदम उठाया है. रोबोट का नाम सोफिया है और ऑफिशियल सउदी प्रेस रिलीज के अनुसार एक इवेंट में रोबोट को नोगरिकता प्रदान की गई. इवेंट में रोबोट ने थैंक्यू कहकर शुक्रिया भी अदा किया. हेसन रोबोटिक्स ने इस रोबोट को बनाया है और यह रोज के काम कर लेता है.

सोफिया ह्यूमनराइड रोबोट है. बिजनेस लेखक एंड्रंयू रोस सोर्किन ने रियाद में इस रोबोट का इंटरव्यू भी लिया. सोफिया को पोडियम पर लाया गया और उसने सवालों के जवाब दिए. इसके अलावा यह भी दावा किया गया कि इस रोबोट का एक ही मकसद होगा अच्छी जिंदगी के मानव की मदद. ट्विटर पर लोग इस रोबोट को लेकर कंमेट शेयर कर रहे हैं.  कुछ लोग कह रहे हैं कि क्या ये रोबोट बूर्का पहनेगा तो कुछ कह रहे हैं कि क्या इस रोबोट का ट्विटर अकाउंट है.

कैटेलोनिया ने स्वयं को स्पेन से स्वतंत्र घोषित किया

कैटेलोनिया की संसद ने 27 अक्टूबर 2017 को स्वयं को स्पेन से स्वतंत्र घोषित कर दिया. इस प्रकार लंबे समय तक संघर्षरत रहने के बाद आखिर कैटेलोनिया स्वतंत्र देश बना. गौरतलब है कि 27 अक्टूबर को ही स्पेन की संसद में कैटेलोनिया पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए मतदान होना था, लेकिन उससे पहले ही कैटेलोनिया की संसद ने मतदान कर इसकी घोषणा कर दी. कैटेलोनिया की संसद में स्वतंत्रता वाले प्रस्ताव के पक्ष में 70 वोट डाले गये जबकि इसके विपक्ष में 10 वोट डाले गये. कैटेलोनिया की 135 सदस्यीय संसद में मतदान से पहले विपक्षी सांसदों ने वाकआउट किया. विपक्षी सदस्यों का कहना था कि इस घोषणा से कैटेलोनिया को स्पेन और विदेश से आधिकारिक मान्यता मिलने की संभावना नहीं है.
कैटेलोनिया के स्वतंत्र राष्ट्र घोषित होने के बाद स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो राजोय ने वहां की सरकार को बर्खास्त करने के साथ ही कैटेलोनिया की संसद को भी भंग कर दिया है. इसके साथ ही राजोय ने 21 दिसंबर को समय से पूर्व चुनाव कराने की घोषणा भी कर दी. वहीं अमेरिका ने स्पेन का समर्थन करते हुए अमेरिका ने स्पेन के संवैधानिक उपायों का समर्थन किया है. अमेरिकी प्रवक्ता ने कहा कि कैटेलोनिया स्पेन का एक अभिन्न अंग है और अमेरिका स्पेन की मजबूती और एकजुटता बनाए रखने के लिए स्पेनिश सरकार तथा उसके संवैधानिक उपायों का समर्थन करता है.
 पृष्ठभूमि:

कैटेलोनिया में वर्ष 2015 के चुनावों में अलगाववादी नेताओं को जीत हासिल हुई थी. इस चुनाव के दौरान ही इन्होंने जनमत संग्रह कराने का वादा किया था. स्पेन से अलग होने के लिए सरकार के कड़े विरोध के बावजूद कैटेलोनिया में जनमत संग्रह किया गया. जनमत संग्रह के दौरान काफी हिंसा भी हुई. इस प्रदर्शन में लगभग 10 लाख लोगों ने भाग लिया और आज़ादी की मांग की. उस समय कैटेलोनिया प्रशासन ने घोषणा कर बताया कि जनमत संग्रह में भाग लेने वाले 90 प्रतिशत लोग स्पेन से अलग होना चाहते हैं. वहीं, स्पेन का कहना था कि देश की संवैधानिक अदालत ने इस जनमत संग्रह को अवैध करार दिया है.

हाल ही में स्पेन की सरकार द्वारा कैटेलोनिया के अलगाववादी नेता को आगाह किया गया था कि कानूनी व्यवस्था में लौटने के लिए उनके पास तीन दिन का समय है. स्पेन की सरकार की ओर से तय शुरुआती समय सीमा को लेकर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कैटेलोनिया के राष्ट्रपति चार्ल्स पुइगदेमोंत ने स्पैनिश प्रधानमंत्री मारियानो राजोय के साथ बातचीत का आह्वान किया था, साथ ही उन्होंने मैड्रिड की ओर से 'हां या ना' में जवाब देने की मांग पर कुछ भी जवाब नहीं दिया.

ऑस्ट्रेलिया के उप-प्रधानमंत्री अयोग्य घोषित किए गए

आस्ट्रेलिया हाई कोर्ट ने उप-प्रधानमंत्री बार्नबाय जॉयस को दोहरी नागरिकता होने के कारण संसद की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित कर दिया. जिसके बाद महज़ एक ही सीट से बहुमत में आई सरकार अब अल्पमत में आ गई है. ऑस्ट्रेलिया के हाई कोर्ट ने फैसला देते हुए कहा कि उप प्रधानमंत्री बार्नबाय जॉयस को संसद में बने रहने का हक नहीं हैं क्योंकि उनके पास दोहरी नागरिकता है. कोर्ट ने कहा कि पिछले साल जुलाई में चार अन्य राजनीतिज्ञों पर भी इसी तरह का प्रतिबंध लगाया था. आस्ट्रेलिया का संविधान दोहरी नागरिकता वाले लोगों को सांसद बनने से प्रतिबंधित करता है. उप प्रधानमंत्री बार्नबाय जॉयस के हटने से सरकार पर संकट गहरा गया है क्योंकि सरकार के पास एक सीट से बहुमत है.

ऑस्ट्रेलिया की हाई कोर्ट ने फ़ैसला सुनाया कि ऑस्ट्रेलिया के उप-प्रधानमंत्री बार्नबी जॉइस समेत चार अन्य राजनेताओं को ग़लती से चुन लिया गया था क्योंकि उनके पास दो देशों की नागरिकता थी. कोर्ट के इस फ़ैसले के अनुसार बार्नबी जॉइस समेत तीन राजनेता अपने पद के लिए अयोग्य हो गए हैं जबकि दो अन्य नेताओं का कार्यकाल जुलाई में ख़त्म होने वाला है. 

ऑस्ट्रेलिया के संविधान के अनुसार दो नागरिकताएं होने पर किसी व्यक्ति को सरकार के लिए चुना नहीं जा सकता. सात सदस्यीय जजों की बेंच ने दो सप्ताह मामले पर सुनवाई की और कहा कि ये पांच नेता ‘किसी विदेशी ताकत के नागरिक हैं’ और इस कारण संविधान की धारा 44 के तहत अयोग्य हैं. बार्नबी जॉइस ने अगस्त में न्यूज़ीलैंड की अपनी नागरिकता की घोषणा की थी. फ़ैसला आने के बाद उन्होंने कहा, “मैं कोर्ट के फ़ैसले का सम्मान करता हूं. हम एक बेहतरीन लोकतंत्र में रहते हैं.” इससे पहले, उन्होंने कहा था कि अगर वह अयोग्य घोषित होते हैं तो वह निचले सदन की सीट से फिर से चुनाव लड़ेंगे.
 
उनके साथ अयोग्य घोषित हुए चार अन्य राजनेताओं में फिओना नैश, माल्कम रॉबर्ट्स, लरिसा वॉटर्स और स्कॉट लुडलम शामिल हैं जो सीनेट के लिए चुने गए थे. दो अन्य सीनेटर मैट कैनावन और निक्स शेनोफोन भी जांच के घेरे में थे. उनके चुनाव को वैध घोषित किया गया है. ऑस्ट्रेलिया की राजनीति में किसी राजनेता की दो नागरिकताओं का मसला इसी साल जुलाई से शुरू हुआ था जिसके बाद कई सांसदों को इसके बारे में अपनी स्थिति स्पष्ट करनी पड़ी थी.

केंद्र सरकार ने छह नए आईआईटी के स्‍थायी परिसरों की स्‍थापना को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 24 अक्‍टूबर, 2017 को 6 नए आईआईटी के स्‍थायी परिसरों के निर्माण के लिए 7,002 करोड़ रुपये की योजना को मंजूरी दी. इन्‍हें 31 मार्च, 2020 तक पूरा कर लिया जाना है. प्रत्‍येक परिसर में 1200 छात्रों के रहने की व्‍यवस्‍था होगी, जिनका अकादमिक सत्र 2020-2021 से शुरू होगा. इस समय ये संस्‍थान अस्‍थायी परिसरों से चल रहे हैं और इनमें छात्रों की कुल संख्‍या 1530 है. परिसरों के निर्माण के बाद छात्र संख्‍या 7200 तक हो जाएगी. स्‍थायी परिसरों के निर्माण की विस्‍तृत परियोजना रिपोर्ट इन संस्‍थानों के एक दल ने तैयार की थी, जिसके लिए 7 वर्षों के दौरान स्‍थायी परिसरों के निर्माण के लिए 20304.88 करोड़ रुपये की आवश्‍यकता बताई गई थी.

वित्‍तमंत्री ने अपने 2014-15 के बजट भाषण में आंध्र प्रदेश, केरल, जम्‍मू एवं कश्‍मीर, गोवा और छत्‍तीसगढ़ में 5 नए आईआईटी की स्‍थापना की घोषणा की थी. इसके बाद 2015-16 के बजट भाषण में कर्नाटक में आईआईटी की स्‍थापना की घोषण भी की गई. बजट घोषणाओं के अनरूप तिरूपति और पलक्‍कड़ के आईआईटी में अकादमिक सत्र 2015-16 में तथा धारवाड़, भिलाई, जम्‍मू और गोवा में अकादमिक सत्र 2016-17 में अस्‍थायी परिसरों में शुरू हो गए.

26 October 2017

अमेरिकी अर्थव्यवस्था में योगदान हेतु ट्रंप ने दो भारतीय अमेरिकियों को सम्मानित किया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दो भारतीय अमेरिकी उद्योगपतियों को अमेरिकी अर्थव्यवस्था में उनके छोटे लेकिन महत्वपूर्ण योगदान के लिए सम्मानित किया है. वाइट हाउस स्थित ओवल ऑफिस में मंगलवार को ट्रंप ने शरद ठक्कर और करन अरोड़ा के साथ सात अन्य लघु कारोबारों के मालिकों को सम्मानित किया. शरद ठक्कर पॉलिमर टैक्नॉलॉजीज के अध्यक्ष हैं. इस कंपनी को वर्ष की सर्वश्रेष्ठ लघु उर्जा कंपनी चुना गया था. फ्लोरिडा के रहने वाले करन अरोड़ा नैचरल विटामिन लैब के निदेशक हैं, जिसे साल की सर्वश्रेष्ठ लघु निर्यात कंपनी चुना गया. अरोड़ा 25 साल से दुनिया भर के पार्टनर्स को नैचरल हेल्थ प्रॉडक्ट सप्लाई करते हैं.

ठक्कर और अरोड़ा ने मंगलवार रात को कॉमर्स सेक्रटरी विल्बर रोस ने सम्मानित किया. ठक्कर और अरोड़ा दोनों पढ़ाई के लिए अमेरिका गए थे. इसके बाद एच-1बी वीजा और ग्रीन कार्ड के जरिए सिटिजनशिप हासिल की. अरोड़ा का कहना है कि ट्रंप की नीतियां अमेरिका में मैन्युफैक्चरिंग बेस को फिर से तैयार करने में काफी प्रभावित साबित हुई हैं. करीब 30 साल पहले गुजरात के बड़ौदा से यूएस शिफ्ट हुए ठक्कर ने बताया, 'मुझे गर्व है कि इस देश ने मुझे यह मौका दिया है.' वहीं अरोड़ा साल 2000 में अंडरग्रैजुएट पढ़ाई के लिए मुंबई से यूएस आए थे। 'जो मौके हमें मिले हैं, वे वाकई जबरदस्त हैं. उन्होंने बताया कि अवॉर्ड हासिल करने वाले अन्य लोगों के साथ ट्रंप ने सबको शुभकामनाएं दीं.' ट्रंप की नीतियों की तारीफ करते हुए अरोड़ा ने कहा कि उनके जैसे बिजनसमैन के लिए जरूरी है कि वह अपनी बिजनस प्लानिंग में ज्यादा समय बिताए, न कि टैक्स प्लानिंग में.

इंटरनेट स्पीड के मामले में पाकिस्तान, नेपाल से भी पीछे भारत, दुनिया में 111 वें नंबर पर

भारत में अक्‍सर लोग इंटरनेट की स्‍पीड पर चर्चा करते हैं. देश की आम जनता जो इंटरनेट का इस्तेमाल करती है उसने तो शायद जियो के आने के बाद ही जाना कि इंटरनेट इतना तेज भी हो सकता है. क्या आपको पता है कि दुनिया के किस देश में इंटरनेट की स्‍पीड सबसे तेज है. बताया जाता है कि नॉर्वे में मोबाइल फोन पर इंटरनेट की औसत स्पीड में बीते एक साल में 69 फीसदी तेज हुई है. आकड़ों के अनुसार, इस समय 52.6 मेगाबाइट प्रति सेकेंड है. speedtest.net ने ग्लोबल इंडेक्स में दुनिया के 122 देशों में मिलने वाली मोबाइल इंटरनेट की स्पीड का पताया लगाया है. रिपोर्ट के अनुसार, मोबाइल इंटरनेट स्पीड के मामले में औसतन 8.52mbps के साथ भारत 111 वें पायदान पर है. वहीं फिक्स्ड ब्रॉडबैंड में हमारे देश की स्थिति थोड़ी बेहतर हैं. 18.33 mbps स्पीड के साथ भारत 73वें पायदान पर है.

बता दें कि पाकिस्तान जैसा देश भी इंटरनेट स्पीड के मामले में भारत से आगे है. श्रीलंका और नेपाल में भी नेट भारत से तेज़ चलता है. यह आंकड़े वेबसाइट ने अपनी सितंबर की रिपोर्ट में जारी किए हैं. फिक्स्ड ब्रॉडबैंड इंटरनेट स्पीड के लिए 133 देशों को शामिल किया गया है. इतना ही नहीं वह देश जहां गृहयुद्ध चल रहा है, वहां का इन्फ्रास्ट्रक्चर तकरीबन ध्वस्त है. इसके बावजूद मोबाइल इंटरनेट स्पीड के मामले में 12.41mbps स्पीड के साथ सीरिया 93वें स्थान पर है. वहीं इराक में सबसे धीमा और, नार्वे में सबसे तेज मोबाइल इंटरनेट चलता है. ईराक में मोबाइल इंटरनेट की स्पीड 3.03 Mbps है, जबकि नार्वे में मोबाइल इंटरनेट की स्पीड सबसे तेज है. यहां मोबाइल इंटरनेट स्पीड 62.59 Mbps है. नॉर्वे में टेलीनॉर सहित कुल तीन ऐसी दूरसंचार कंपनियां हैं, जिन्होंने अपना मोबाइल नेटवर्क स्थापित किया है. नॉर्वे की शीर्ष दूरसंचार सेवा प्रदाता 'टेलीनॉर' ने पिछले साल सितंबर में व्यक्तिगत तौर पर इस्तेमाल होने वाले इंटरनेट की स्पीड बढ़ा दी थी.

फिक्स्ड ब्रॉडबैंड इंटरनेट के मामले में सिंगापुर पहले नंबर पर है. यहां इंटरनेट की स्पीड 156.67 है. वहीं चीन 22वें नंबर पर है, यहां स्पीड 57.03 mbps है. मोबाइल इंटरनेट के मामले में चीन 33.63 mbps के साथ 24वें नंबर पर है. वहीं दुनिया में सबसे तेज मोबाइल इंटरनेट सेवा के मामले में नीदरलैंड्स दूसरे और हंगरी तीसरे नंबर पर है. साइबर से जुड़े लोगों का कहना कि दुनिया में सबसे ज्यादा तेज इंटरनेट नासा में चलता है.

रोनाल्डो ने FIFA के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीता

पुर्तगाल के स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो को लंदन में आयोजित फीफा फुटबाल पुरस्कार समारोह में विश्व के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के पुरस्कार से नवाजा गया. इस रेस में रियल मेड्रिड के खिलाड़ी रोनाल्डो ने बार्सिलोना के खिलाड़ी लियोनेल मेसी और पेरिस सेंट जर्मेन के खिलाड़ी नेमार को पछाड़ा है. पुर्तगाल के 32 वर्षीय खिलाड़ी रोनाल्डो ने 2016-17 सीजन में चैम्पियंस लीग और स्पेनिश लीग खिताब जीतने में रियल की मदद दी थी. चैंपियंस लीग में रोनाल्डो ने 12 गोल दागे थे. रोनाल्डो ने इस साल 48 मैचों में 44 गोल किए जिसमें युवेंटस के खिलाफ चैंपियंस लीग फाइनल में 4-1 से मिली जीत में दो गोल शामिल रहे.

इस समारोह में बार्सिलोना की महिला टीम की खिलाड़ी लिएके मार्टेस को विश्व की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी और रियल के कोच जिनेदिन जिदान को सर्वश्रेष्ठ पुरुष कोच के पुरस्कार से नवाजा गया. नीदरलैंड्स की सरीना विएगम को सर्वश्रेष्ठ महिला कोच का पुरस्कार दिया गया. इस रेस में पिछड़ने वाले लियोनेल मेसी भी पांच बार सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर का खिताब अपने नाम कर चुके हैं. मेसी ने हाल ही में वर्ल्ड कप क्वालिफायर में इक्वाडोर के खिलाफ हैट्रिक जड़कर अपनी टीम की अगले साल होने वाले वर्ल्डकप में मौजूदगी सुनिश्चित कराई थी. वहीं 25 साल के नेमार ने बार्सिलोना के साथ कोपा डेल रे जीता था. इसके बाद वह 222 मिलियन यूरो के सबसे महंगे करार के बाद पेरिस सेंट जर्मन के साथ जुड़ गए हैं.

निशानेबाज जीतू राय और हीना सिद्धू का जोड़ी ने आईएसएसएफ विश्व कप में गोल्ड मेडल जीता

अजरबेजान के गबाला में आयोजित प्रतियोगिता की 10 मीटर एयर पिस्टल की मिक्सड टीम स्पर्धा में भारत के लिए खुशखबरी आई है. निशानेबाज जीतू राय और हीना सिद्धू का जोड़ी ने आईएसएसएफ विश्व कप राइफल/पिस्टल सीरीज में भारत को गोल्ड मेडल दिलाया है. भारत के दिग्गज निशानेबाज जीतू राय और हिना सिद्धू ने यहां जारी निशानेबाजी विश्व कप (राइफल/पिस्टल चरण) में सोमवार को मिश्रित टीम एयर पिस्टल स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता. इस स्पर्धा के फाइनल में जीतू और सिद्धू ने रूस को 7-6 से मात दी। इसके अलावा, फ्रांस ने ईरान को मात देकर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया.

इससे पहले, रविवार को जीतू और सिद्धू को पुरुष और महिला वर्ग की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में जगह नहीं मिल सकी. क्वालीफिकेशन दौर में जीतू को 12वां और सिद्धू को नौंवा स्थान प्राप्त हुआ. इस स्पर्धा में केवल शीर्ष-8 खिलाड़ी ही फाइनल में प्रवेश कर सकते थे. इस साल मिश्रित टीम स्पर्धाओं को विश्व कप चरण में पदक स्पर्धा की श्रेणी में नहीं रख गया है लेकिन यह स्पर्धा टोक्यो ओलम्पिक-2020 में पदक स्पर्धा होगी. जीतू और सिद्धू ने साथ मिलकर विश्व कप स्तर पर दूसरा स्वर्ण पदक जीता है. उन्होंने इससे पहले इसी साल नई दिल्ली में आयोजित विश्व कप में भी इस स्पर्धा में पहला स्थान हासिल किया था.

गबाला में आयोजित हुए आईएसएसएफ विश्व कप टूर्नामेंट की पदक तालिका में चीन छह पदकों के साथ सबसे आगे है. इसमें तीन स्वर्ण पदक शामिल हैं. गबाला विश्व कप में 45 देशों से आए कुल 430 एथलीटों ने हिस्सा लिया. इस टूर्नामेंट के समापन के साथ ही राइफल और पिस्टल में प्रतिस्पर्धा करने वाले निशानेबाजों के पास आईएसएसएफ विश्व कप फाइनल्स (डब्ल्यूलीएफ) के लिए क्वालीफाई करने के अवसर पर समाप्त हो गए हैं.

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायिका तथा 'ठुमरी की रानी' गिरिजा देवी का निधन

भारतीय शास्त्रीय संगीत गायिका गिरिजा देवी का कोलकाता के बिड़ला अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. गिरिजा देवी 88 साल की थीं. ठुमरी गायन को प्रसिद्धि के मुकाम पर पहुंचाने के लिए गिरिजा देवी को 1972 में पद्मश्री, 1989 में पद्मभूषण और 2016 में पद्मविभूषण से सम्मानित किया गया था. गिरिजा देवी के चले जाने से शास्त्रीय संगीत के साथ कला जगत में शोक की लहर देखी जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है. 
 
गिरिजा देवी का जन्म 8 मई, 1929 को बनारस में हुआ था और वे  बनारस घरानों की एक प्रसिद्ध भारतीय शास्त्रीय गायिका रहीं. ठुमरी गायन को संवारकर उसे लोकप्रिय बनाने में इनका बहुत बड़ा योगदान है. संगीत की शुरूआती शिक्षा उन्होंने अपने पिता से ही ली थी. बताते हैं कि गायन को सार्वजनिक रूप से अपनाने के लिए उन्हें अपने परिवार का कड़ा विरोध झेलना पड़ा था. ठुमरी के अलावा उन्होंने अर्द्ध शास्त्रीय शैलियों कजरी, चैती, होली को भी अहमियत दी और वह ख्याल, भारतीय लोक संगीत और टप्पा भी गाती थीं. 

केंद्र सरकार ने “भारत माला परियोजना” को मंजूरी दी

केंद्रीय सरकार ने “भारत माला परियोजना” के लिए 6.72 लाख करोड़ रुपये की राशि को मंजूरी दी है. इस परियोजना के तहत भारत में 83,677 किलो मीटर के राजमार्गों के निर्माण किया जाएगा. भारत माला योजना केंद्र सरकार की सबसे बड़ी सड़क परियोजना है. केंद्र सरकार इस राशि को अगले पांच सालों में राशि खर्च करेगी. इस परियोजना के अंतर्गत, भारत माला रोड कार्यक्रम और राजमार्ग निर्माण कार्यक्रम में बोएडर क्षेत्रों, अंतर्राष्ट्रीय बंदरगाह और तटीय कनेक्टिविटी की कनेक्टिविटी में सुधार होगा. साथ ही, कम से कम 800 किमी एक्सप्रेसवे के अलावा प्रमुख आर्थिक और वाणिज्यिक केंद्रों को जोड़ने वाले राजमार्ग गलियारों के सुधार किया जाएगा. इस योजना के मुताबिक, देश भर में 34,800 किलोमीटर के राजमार्गों के लिए 5.35 लाख करोड़ रुपये की धनराशि मिलेगा.

देश में जहां तक ​​संसाधनों का सवाल है, 2.09 लाख करोड़ रुपये बाजार उधार से, निजी निवेश के रूप में 1.06 लाख करोड़ रुपये और सेंट्रल रोड फंड (सीआरएफ), टोल रसीदों से शेष राशि और राज्य से वित्त पोषित राजमार्गों के चुंबकीयकरण से आय होगी. सूचना के मुताबिक, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) और सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय 48,887 किलोमीटर का निर्माण करेगा. भारत माला परियोजना 2017-18 के अंतर्गत, सरकार 9 हजार किलोमीटर राजमार्गों को आर्थिक गलियारों के रूप में, 6000 किलोमीटर अंतर-कॉरिडोर / फीडर मार्ग, 5000 किमी राष्ट्रीय गलियारों के रूप में, 2,000 किमी सीमा सड़कों और तटीय / बंदरगाह कनेक्टिविटी सड़कों और 800 किमी ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे। राष्ट्रीय राजमार्ग विकास कार्यक्रम के तहत अभी भी लंबित 10,000 किलोमीटर का निर्माण भी भारतमला के तहत किया जाएगा. 

सीमावर्ती सड़कों को बढ़ावा देने से पूर्वोत्तर राज्यों की अर्थव्यवस्थाओं को बढ़ावा देने के अलावा, बांग्लादेश, नेपाल और भूटान के साथ भारत के व्यापार को बढ़ाने में मदद मिलेगी. पहले चरण में सरकार 20,000 किमी से अधिक राजमार्गों का निर्माण करने के लिए भारतमला प्रोजेक्ट लॉन्च करेगी. मंत्रिमंडल ने अगले तीन वर्षों में प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत 1.0 9 लाख किलोमीटर ग्रामीण सड़कों को मंजूरी दे दी. इससे 88,185 करोड़ रुपये का निवेश होगा.

25 October 2017

रिलायंस कम्युनिकेशन-एमटीएस विलय को मिली दूरसंचार विभाग की मंजूरी

रिलायंस कम्युनिकेशन (आरकॉम) ने सिस्टेमा श्याम टेलीसर्विसेज लि. (एसएसटीए) के साथ विलय के लिए दूरसंचार विभाग (डीओटी) की मंजूरी हासिल कर ली है. कंपनी ने एक बयान में सोमवार को यह जानकारी दी. सिस्टेमा श्याम टेलीसर्विसेज लि. भारत में एमटीएस ब्रांड के अंतर्गत परिचालन करती है. इस सौदे से आरकॉम को करीब 20 लाख ग्राहक और 700 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राजस्व हासिल होंगे. बयान में कहा गया कि इसके अलावा इस सौदे से आरकॉम को अपने अनूठे राष्ट्रव्यापी स्पेट्रम पोर्टफोलियो में सबसे मूल्यवान और बेहतर 800/850 मेगाहट्र्ज बैंड आठ महत्वपूर्ण सर्किलों (दिल्ली, गुजरात, तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल, कोलकाता, यूपी-वेस्ट और पश्चिम बंगाल) में 12 सालों की अवधि के लिए हासिल होगा (2021 से 2033 तक). 

बयान में कहा गया, ‘‘डीमर्जर के बाद एसएसटीएल को आरकॉम में 10 फीसदी पूर्ण डील्यूटेड इक्विटी हिस्सेदारी मिलेगी. इसके अलावा आरकॉम एसएसटीएल के स्पेक्ट्रम के डीओटी को भुगतान की भी जिम्मेदारी लेगा, जो अगले आठ सालों तक 390 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष देना है.’’ यह सौदा इस साल नवंबर के पहले हफ्ते तक पूरा हो जाने की उम्मीद है.

भारतीय वायुसेना ने लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर युद्धाभ्यास कर दिखाई अपनी ताकत, पाक से चाइना तक थर्राया


भारतीय वायुसेना ने लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर होने वाले अब तक के सबसे बड़ा ऑपरेशनल अभ्यास किया. वायुसेना के 17 विमान एक साथ हिस्सा लिया और वह बारी-बारी से आगरा एक्सप्रेस-वे पर उतरी. वायुसेना का शक्तिप्रदर्शन देख पाकिस्तान से लेकर चाइना तक हड़कंप मचा हुआ है. वायुसेना के एक दर्जन से अधिक फाइटर प्लेन के साथ ही चार मालवाहक विमान की हैरत में डालने वाली लैंडिग तथा टेक-ऑफ देखने वहां उमड़े हजारों लोगों ने दांतों तले उंगली दबा ली. मात्र 15 से 20 सेकेंड में यह विमान लखनऊ-आगरा एक्सप्रसवे पर उतरे. वायुसेना ने भविष्य की चुनौतियों को देखते हुए हाइवे पर उड़ान भरी. ऐसा पहली बार हुआ जब उन्नाव के पास बांगरमऊ हाइवे पर 17 विमान ने हाइवे पर टच डाउन किया. इससे पहले जब एक्सप्रेस-वे बन रहा था, तभी वायुसेना के अनुरोध पर चार किलोमीटर का पैच रनवे की तरह ही तकनीकी तौर पर मजबूत और सॉलिड बनाया गया था.

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने एक्सप्रेस-वे पर अपने अभ्यास में इतिहास रच दिया. लड़ाकू विमान सुपरसोनिक सुखोई एसयू-30, जगुआर और मिराज जब आगरा एक्सप्रेस-वे पर उतरे तो उनकी गति 260 किलोमीटर प्रतिघंटा थी. वैसे तो एक्सप्रेस-वे का पांच किलोमीटर का हिस्सा विमानों के टच और उड़ान भरने के लिए लिया गया है, लेकिन केवल तीन किलोमीटर एक्सप्रेस-वे का इस्तेमाल किया गया. तेज गति से विमान तीन सौ मीटर के पैच पर ही उतरे. इस दौरान चार सेकेंड के लिए जमीन को छुआ. बीते वर्ष भी वायुसेना के आठ लड़ाकू विमानों ने इसी जगह एक्सप्रेस-वे पर और 2015 में मथुरा के पास यमुना एक्सप्रेस-वे पर भी वायुसेना के लड़ाकू विमान मिराज 2000 ने टच डाउन किया था. पिछले 15 दिनों से 15 लड़ाकू विमानों के जांबाज पायलट कड़ा अभ्यास कर रहे थे. 

वैसे जिस जगह पर भी वायुसेना के लड़ाकू विमान को टच डाउन कराया गया था वह एक तरह से आम सड़क के साथ रनवे भी है.उसे खासतौर पर रनवे की तरह बनाया गया है कि वह लड़ाकू विमान का दबाव झेल सके. इसके पीछे सोच है कि आपात हालात में जब रनवे विमान के लिए उपलब्ध नहीं हो तो फिर लड़ाकू विमानों को ऐसी जगहों पर उतारा जा सकता है. देश में ऐसा प्रयोग पहली बार 2015 में किया गया था, जब वायुसेना के मिराज लड़ाकू विमान ने किसी राजमार्ग पर टच डाउन किया था. दूसरी बार ऐसा प्रयोग बीते साल लखनऊ के पास इसी जगह पर किया गया था, जो पूरी तरह से सफल रहा था. दलअसल ऐसा इस कारण से किया जा रहा है कि अगर जंग के दौरान अगर आपका एयरबेस बरबाद हो जाता है तो ऐसे राजमार्ग का बखूबी इस्तेमाल किया जा सकता है. 
अमेरिका से स्पेशल ऑपरेशन के लिए लाया गया सी 130 के लैडिंग से इस अभ्यास की शुरुआत हुई. परिवहन विमान से ही निकलकर वायुसेना के गरुड़ कमांडो ने अपना जौहर दिखाया. इसके बाद दुश्मन के इलाके में घुसकर और काफी नीचे तक मार करने वाले तीन जगुआर, करगिल जंग में पाकिस्तान घुसपैठियों के छक्के छुड़ाने वाले 6 मिराज 2000 और वायुसेना का सबसे खतरनाक और हर तरह के रोल में फिट 6 सुखोई 30 जमीन को छूकर उड़ गए. वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने न केवल टच डाउन करेंगे बल्कि फोर्मेशन में उड़ान भरते हुए हवाई करतब भी दिखाए.

इंडिया पोस्‍ट पेमेंट बैंक के एमडी और सीईओ बने सुरेश सेठी

इंडिया पोस्‍ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) ने वोडाफोन एम-पैसा लिमिटेड के पूर्व प्रबंध निदेशक सुरेश सेठी को अपना मैनेजिंग डायरेक्‍टर और चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव ऑफि‍सर (सीईओ) नियुक्‍त किया है. वह एपी सिंह का स्‍थान लेंगे, जो जनवरी 2017 से इस पद को अंतरिम रूप से संभाल रहे थे. संचार मंत्रालय ने बताया कि बैंक बोर्ड ब्‍यूरो (बीबीबी) ने इस पद के लिए सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंकिंग और फि‍नटेक पेशेवरों के शीर्ष दावेदारों में से चुना है. डाक विभाग के तहत आईपीपीबी का एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी के रूप में गठन किया गया है, जिसमें भारत सरकार की 100 फीसदी हिस्सेदारी है.

बयान में कहा गया है कि आईपीपीबी की योजना इंडिया पोस्ट के अद्वितीय नेटवर्क का लाभ उठाकर अगले साल की शुरुआत तक देश भर में 650 शाखाएं खोलने की है. सेठी के पास बैंक तथा वित्‍तीय सेवा उद्योग में 27 साल से अधिक का अनुभव है. वह सिटी ग्रुप, यस बैंक और वोडाफोन एम-पैसा के साथ पूरे भारत, केन्‍या, अर्जेंटीना, यूके और यूएस में काम कर चुके हैं. उन्‍होंने फि‍नटेक और डिजिटल इन्‍नोवेशन के साथ फाइनेंशियल इनक्‍लूजन के क्षेत्र में बहुत अधिक काम किया है.

जम्मू-कश्मीर मुद्दे को बातचीत से हल करने हेतु दिनेश्वर शर्मा मध्यस्थ नियुक्त

केंद्र सरकार ने 23 अक्टूबर 2017 को एक महत्वपूर्ण निर्णय में कहा कि जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर समाज के सभी वर्गों से बातचीत के लिए मध्यस्थ के रूप में वार्ताकार को नियुक्त किया गया है. जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर बातचीत के लिए आईबी के पूर्व निदेशक दिनेश्वर शर्मा को इस पद पर नियुक्त किया गया है. केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा की गयी घोषणा के अनुसार दिनेश्वर शर्मा जम्मू कश्मीर में वार्ता के लिए विभिन्न पक्षों को स्वयं तय करेंगे और वे वहां के राजनीतिक वर्ग, अन्य संगठनों व समाज के अन्य वर्गों के प्रतिनिधियों से वार्ता करेंगे.

दिनेश्वर शर्मा भारतीय पुलिस सेवा के 1979 बैच के अवकाश प्राप्त अधिकारी हैं. उन्होंने दिसंबर 2014 से 2016 के मध्य गुप्तचर ब्यूरो (आईबी) के निदेशक के रूप में अपनी सेवाएं दीं थीं. यह उत्तरदायित्व मिलने पर वे केंद्र के वार्ताकार के रूप में कैबिनेट सेक्रेटरी पद ग्रहण करेंगे. दिनेश्वर शर्मा का जन्म वर्ष 1956 में में हुआ था. उन्होंने बिहार के गया स्थित टी-मॉडल हाइस्कूल से 1972 में मैट्रिक की परीक्षा पास की. वर्ष 1976 में अनुग्रह नारायण कॉलेज से विज्ञान विषय से स्नातक किया. इसके उपरांत वर्ष 1978 में उनका चयन भारतीय वन सेवा के लिए हुआ. दिनेश्वर शर्मा ने वर्ष 1979 में भारतीय पुलिस सेवा की परीक्षा पास की तद्पश्चात वेलगभग 20 वर्षो तक गुप्तचर ब्यूरो में कार्यरत रहे.

24 October 2017

NGT ने 4 रेलवे स्‍टेशनों पर लगाया 1-1 लाख का जुर्माना




एनजीटी ने ठोस कचरे का उचित निस्तारण करने में विफल रहने के कारण दिल्ली के चार रेलवे स्टेशनों पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. इनमें आनंद विहार, विवेक विहार, शाहदरा और शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन का नाम शामिल है. ये सभी स्टेशन उत्तर रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आते हैं. एनजीटी ने रेलवे को जुर्माने की 25 फीसद राशि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा शेष राशि दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति के खातों में जमा कराने को भी कहा है. सुनवाई के दौरान रेलवे के वकील ओम प्रकाश ने पीठ को आश्वस्त किया कि रेलवे स्टेशनों पर स्वच्छता तथा कचरे के निस्तारण के सभी आवश्यक उपाय लागू करेगा.

एनजीटी का यह आदेश उसके द्वारा गठित समिति की रिपोर्ट के आधार पर आया है. समिति ने अपनी रिपोर्ट में ठोस कचरा प्रबंधन तथा सीवेज ट्रीटमेंट में विफल रहने वाली दिल्ली-एनसीआर की सभी एजेंसियों पर कार्रवाई की सिफारिश की थी. इस समिति का गठन राजधानी के फाइव स्टार होटलों, मॉल, अस्पताल, शैक्षणिक संस्थाओं तथा बैंक्वेट हॉल में कचरा प्रबंधन के तरीकों की जांच करने के लिए किया गया था. समिति ने रिपोर्ट में कहा है कि कचरा प्रबंधन की समस्या पूरे देश में है और इसके समाधान के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की आवश्यकता है.

एनजीटी ने दिल्ली सरकार से समिति के निरीक्षण के योग्य सभी प्रतिष्ठानों की सूची प्रदान करने को कहा था. जांच में समिति ने पाया कि दिल्ली में रोजाना 14 हजार टन से ज्यादा कचरा पैदा होता है. ठोस कचरे के निस्तारण के लिए रेलवे स्टेशनों को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का पालन करना होता है. लेकिन इन चारों रेलवे स्टेशनों पर कचरे के प्रबंधन की उचित व्यवस्था का अभाव पाया गया है. इससे पहले समिति की रिपोर्ट के आधार पर उसने राजधानी के कई फाइव स्टार होटलों तथा बैंक्वेट हालों पर ढाई लाख से लेकर सात लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया था. एनजीटी ने इन होटलों से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट तथा प्रदूषणरोधी उपकरण लगाने को भी कहा था.




जापान में पीएम मोदी के दोस्त शिंजो आबे ने शानदार जीत दर्ज की

Add caption
जापान के मध्यावधि चुनाव में प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने एक बार फिर शानदार जीत कर सत्ता में वापसी की है. जापान में हुए आम चुनाव में शिंजो आबे की पार्टी को बड़ी जीत मिली है. 22 अक्टूबर 2017 को संपन्न हुए मतदान में आबे की लिबरल डैमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) वाले गठबंधन ने सुपर मेजोरिटी यानी दो-तिहाई बहुमत यानि 312 सीटें प्राप्त की. बता दे की जापान में यह 48वां आम चुनाव है. द्विसदनीय जापानी संसद (डायट) के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव के लिए चार साल पर चुनाव होता है. हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव की कुल संख्या 465 है और बहुमत का आंकड़ा 233 है.

जापान के प्रधान मंत्री शिंजो आबे ने विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और उत्तर कोरिया के खिलाफ कड़ा रुख अपनाने के लिए नया जनादेश पाने को तय समय से एक साल पहले ही चुनाव कराया. इस भारी जीत के साथ दिसंबर 2012 में पदभार ग्रहण करने वाले शिंजो आबे अगले सितंबर में एलडीपी नेता के रूप में तीसरे तीन साल का कार्यकाल सुरक्षित कर लिया है. 

इसके साथ ही वे जापान के सबसे लंबे समय तक रहने वाले प्रधानमंत्री बन जाएंगे. इसका अर्थ यह भी है कि उनकी "एबनिओमिक्स" वृद्धि की रणनीति जो कि हाइपर-आसान मौद्रिक नीति है इसकी संभावनाएं जारी रहेंगी. जापान में 22 अक्टूबर 2017 स्थानीय समय के अनुसार 7 बजे मतदान शुरू हुआ और रात 8 बजे तक चला. पश्चिमी जापान के कोचि में भूस्खलन की वजह से 20 मिनट देरी से मतदान शुरू हुआ. तूफान के मार्ग में पड़ने वाले दक्षिणी द्वीप पर एक दिन पहले ही शनिवार को लोगों ने मतदान किया.

संयुक्त राष्ट्र दिवस

आज (24 अक्टुबर) संयुक्त राष्ट्र दिवस है जो संयुक्त राष्ट्र चार्टर के 1 9 45 में लागू होने की सालगिरह का प्रतीक है. संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना 1945 को संयुक्त राष्ट्र चार्टर पर 50 देशों के हस्ताक्षर होने के साथ की गयी. इसके बाद ही संयुक्त राष्ट्र आधिकारिक तौर पर अस्तित्व में आया. आज संयुक्त राष्ट्र की 72 वीं सालगिराह है. संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य राज्य अपने लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में मदद करने के लिए वित्त का योगदान देते हैं. विश्व शांति के अलावा, मानव अधिकारों की सुरक्षा, सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और अकाल, प्राकृतिक आपदा और सशस्त्र संघर्ष के मामलों में दुनिया भर में सहायता प्रदान करने के लिए इसकी भूमिका बढ़ी है.

संयुक्त राष्ट्र दिवस हर साल संयुक्त राष्ट्र संस्थान के उद्देश्यों एवं उपलब्धियों की जानकारी देने कि लिए मनाया जाता है. इस दौरान साप्ताहिक कार्यक्रमो का आयोजन किया जाता है. 1948 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 24 अक्टुबर को संयुक्त राष्ट्र दिवस के रुप में भी मनाए जाने की घोषणा की थी. 1 9 71 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने एक और प्रस्ताव (संयुक्त राष्ट्र संकल्प 2782) अपनाया और यह घोषित किया कि संयुक्त राष्ट्र दिवस एक अंतरराष्ट्रीय अवकाश होगा और इसे संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य देशों द्वारा सार्वजनिक अवकाश के रूप में देखा जाना चाहिए.

क्यों बनाया गया संयुक्त राष्ट्र : 
द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान विश्व में काफी अशांति फैल गई थी. देशों के बीच संबंध काफी खराब हो गए थे. विश्व युद्ध के बाद विजेता देशों ने मिलकर एक ऐसा संगठन बनाने का प्रस्ताव रखा, जो विश्व में शांति कायम कर सके और फिर संयुक्त राष्ट्र संघ का गठन किया गया. 24 अक्तूबर 1945 को विश्व के 50 देशों ने चार्टर (संयुक्त राष्ट्र अधिकार पत्र) पर हस्ताक्षर कर इसका गठन किया. संयुक्त राष्ट्र में 193 सदस्य देश है. दुनिया के लगभग सभी मान्यता प्राप्त देश इसका हिस्सा है. अपना देश भारत इसमें शुरुआती दिनों में ही जुड़ गया था. संयुक्त राष्ट्र ने 6 भाषाओं को अधिकारिक भाषा का दर्जा दिया है (अरबी, चीनी, अंग्रेजी, फ्रेंच, रूसी,और स्पेनिश) लेकिन इन भाषाओं में केवल दो भाषा (अंग्रेजी और फ्रेंच) ही परिचलन में है. जबकि स्थापना के समय सिर्फ चार भाषाओं (अरबी, चीनी, अंग्रेज़ी, फ्रेंच, रूसी और स्पेनी) को ही स्वीकृति दी गई थी.

भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने डेनमार्क ओपन सुपर सीरीज खिताब जीता


भारत के नंबर एक पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने डेनमार्क ओपन सुपर सीरीज खिताब अपने नाम कर लिया. फाइनल मुकाबले में श्रीकांत ने दक्षिण कोरियाई खिलाड़ी ली ह्यून इल को सीधे सेटों में 21-10, 21-5 से मात दी. एक तरफा रहे फाइनल मुकाबले में श्रीकांत ने कोरियाई खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया. शानदार फॉर्म में चल रहे किदांबी ने आसानी से ली ह्यून इल को रौंदकर इस साल तीसरे सुपर सीरीज खिताब पर कब्जा किया. 

श्रीकांत ने शुरुआत से ही अपने विरोधी खिलाड़ी पर दबाव बनाए रखा. पहले गेम में भले ही ली ह्यून 4-4 की बराबरी पर थे लेकिन श्रीकांत ने शानदार खेल दिखाते हुए पहला गेम 21-10 से अपने नाम कर लिया और 1-0 की बढ़त बना ली. दूसरे गेम में भी किदांबी ने अपनी रिदम को बरकरार रखा और 21-05 से जीत दर्ज कर खिताब अपने नाम कर लिया.

WHO ने जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे को गुडविल एंबैसेडर पद से हटाया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे की गुडविल एंबैसेडर पद पर की गई नियुक्ति को रद्द कर दिया. मुगाबे की नियुक्ति के बाद से ही दुनियाभर में इसकी आलोचना हो रही थी. डब्ल्यूएचओ के निदेशक ट्रेडोस एडनोन ने कहा कि मुगाबे की नियुक्ति के बाद तमाम प्रतिक्रियाओं पर उनकी नजर थी. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर जिम्बाब्वे सरकार से भी सलाह-मशविरा किया गया और उसके बाद यह फैसला किया गया. 

इथियोपिया के ट्रेडोस ने बुधवार को गैर संक्रामक रोगों से संबद्ध उरुग्वे में एक सम्मेलन के मौके पर मुगाबे की नियुक्ति की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था कि मुगाबे के शासनकाल में जिम्बाब्वे में स्वास्थ्य के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य हुआ है. उन्होंने यह भी कहा था कि मुगाबे इलाके में अपने प्रभाव का सकारात्मक इस्तेमाल कर सकते हैं.इसकी पूरी दुनिया में आलोचना हुई. डब्ल्यूएचओ से जुड़े 28 स्वास्थ्य संगठनों ने मुगाबे की नियुक्ति पर चिंता जाहिर की थी. इनका कहना है कि मुगाबे के समय में जिम्बाब्वे में अन्य क्षेत्रों की ही तरह स्वास्थ्य का भी बुरा हाल है.

राकेश अस्थाना सीबीआई के विशेष निदेशक नियुक्त


केंद्र सरकार ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अतिरिक्त निदेशक राकेश अस्थाना को जांच एजेंसी के विशेष निदेशक (स्पेशल डायरेक्टर) के तौर पर नियुक्त किए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने सीबीआई, आईबी, बीएसएफ और एनआईसीएफएस में आठ अधिकारियों की नियुक्ति के प्रस्ताव को मंजूरी दी. आईपीएस अधिकारी गुरबचन सिंह को आईबी में विशेष निदेशक नियुक्त किया गया है और यह नियुक्ति 31 दिसंबर, 2018 अथवा अगले आदेश तक प्रभावी रहेगी. सिंह फिलहाल खुफिया ब्यूरो में ही अतिरिक्त निदेशक के पद पर कार्य कर रहे हैं. सीबीआई में अतिरिक्त निदेशक के पद पर आसीन राकेश अस्थाना को इसी एजेंसी का विशेष निदेशक नियुक्त किया गया है. सीआरपीएफ में अतिरिक्त महानिदेश के पद पर तैनात आईपीएस अधिकारी सुदीप लखटकिया को सीआरपीएफ में विशेष महानिदेशक नियुक्त किया गया है. नए पद पर उनकी नियुक्ति 31 जुलाई, 2019 अथवा अगले आदेश तक प्रभावी रहेगी.

उत्तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद को ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिमिनलॉजी एंड फोरेंसिक साइंस’ (एनआईसीएफएस) में विशेष महानिदेशक बनाया गया है. फिलहाल वह इसी संस्था में निदेशक के पद पर कार्यरत हैं. सीआरपीएफ में अतिरिक्त महानिदेशक दीपक कुमार मिश्रा को विशेष महानिदेशक नियुक्त किया गया है. उनकी यह नियुक्ति अगले वर्ष 30 नवंबर अथवा अगले आदेश तक प्रभावी रहेगी. बीएसएफ में अतिरिक्त महानिदेशक के तौर पर सेवा दे रहे आईपीएस अधिकारी ए पी माहेश्वरी को इसी बल में विशेष महानिदेशक नियुक्त किया गया है. वह 28 फरवरी, 2021 अथवा अगले आदेश तक इस पद पर रहेंगे. आईबी में अतिरिक्त निदेशक के तौर पर कार्य कर रहे आईपीएस अधिकारी अरविंद कुमार को विशेष निदेशक बनाया गया है. बीएसएफ में अतिरिक्त महानिदेशक के तौर पर सेवा दे रहे आईपीएस अधिकारी राजेश रंजन को विशेष महानिदेशक नियुक्त किया गया है. उनकी नियुक्ति 30 नवंबर, 2020 अथवा अगले आदेश तक प्रभावी रहेगी.

पीएम मोदी ने घोघा-दाहेज रो-रो फेरी सेवा का उद्घाटन किया

गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीख की घोषणा से पहले पीएम मोदी एक बार फिर अपने गृहराज्य के दौरे पर हैं. पीएम मोदी आज के दौरे में सबसे पहले भावनगर पहुंचे. पीएम मोदी ने भावनगर जिले में घोघा और भरूच में दाहेज के बीच 615 करोड़ रुपये की 'रोल ऑन, रोल ऑफ (रो-रो)' नौका सेवा के पहले चरण का शुभारंभ किया. पीएम मोदी ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि नए संकल्प के साथ नए भारत, नए गुजरात की दिशा में अनमोल उपहार घोघा की धरती से पूरे हिन्दुस्तान को मिल रहा है. यह भारत ही नहीं, बल्कि दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है. सड़क मार्ग से दोनों शहरों के बीच की दूरी 310 किलोमीटर है और इस नौका सेवा से यह दूरी घट कर 30 किलोमीटर रह जाएगी. 

पीएम मोदी ने कहा कि जिस सामान को सड़क के रास्ते ले जाने में डेढ़ रुपये का खर्च होता है, उसी सामान को जल मार्ग से ले जाने में 20-25 पैसे का खर्च आता है. सोचिए देश का कितना पेट्रोल-डीजल बचने जा रहा है, समय बचने जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि पर्यावरण के नाम पर रो रो फेरी सर्विस में अड़ंगा डाला गया था. उन्होंने कहा कि फेरी सर्विस को आने वाले समय में मुंबई तक ले जाएंगे. उन्होंने कहा कि रो रो फेरी सेवा 100 ट्रक अपने साथ लेकर जा सकेगा. अब सौराष्ट्र से दक्षिण गुजरात तक लोग समंदर के रास्ते जा सकेंगे. भानगर के बाद पीएम का वड़ोदरा जाने का कार्यक्रम है. वहां भी वे कई परियोजनाओं की शुरुआत करेंगे.

23 October 2017

मलेशिया को हराकर भारत तीसरी बार बना हॉकी एशिया कप का चैंपियन


भारत ने मलेशिया को 2-1 से हराकर तीसरी बार एशिया कप हॉकी का खिताब जीता. भारत के लिए 10वें मिनट में रमनदीप सिंह और 29 वें मिनट में ललित उपाध्याीय ने गोल दागे. पाठकों को बता दे की आठवीं बार एशिया कप के फाइनल में खेलते हुए भारत ने जीत दर्ज की और तीसरी बार खिताब अपने नाम किया. इससे पहले वर्ष 2003, 2007 में भारत एशिया कप चैंपियन बन चुका है. एशिया कप भारत के लिए इसलिए भी यादगार रहेगा, क्योंकि भारत ने इस टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं हारा. हालांकि टूर्नामेंट से पहले कोच रहे रोलैंट ऑल्टमैंस को हटाने के बाद विवाद भी हुआ, लेकिन टीम एकजुट होकर खिताब जीतकर सभी विवादों को शांत कर दिया. 

इस जीत के साथ भारत पहली ऐसी टीम बन गया है जिसने एक समय में एशिया के तीनों महत्वपूर्ण खिताब एशियाई खेलों का स्वर्ण, एशियाई चैंपियन्स ट्रॉफी और एशिया कप अपने नाम किए हैं. भारत ने 2014 में इंचियोन एशियाई खेलों के फाइनल में पाकिस्तान को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से और पिछले साल कुआंटन में एशियाई चैंपियनशिप ट्रॉफी के फाइनल में भी अपने इस पड़ोसी को 3-2 से हराया था.

विराट कोहली 200वें वनडे में शतक जड़ने वाले भारत के पहले क्रिकेटर बने

विराट कोहली ने 200वें वनडे मैच में शतक जड़कर एक रिकॉर्ड कायम किया है. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली 200वें मैच में शतक जड़ने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं. इसके साथ ही यह भी बता दे की कोहली 200वें मैच में शतक जड़ने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज हैं. इससे पहले यह दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान और धुरंधर बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने अपने 200वें मैच में यह उपलब्धि हासिल की थी.

डिविलियर्स ने पिछले साल केपटाउन में इंग्लैंड के खिलाफ अपना 200वां वनडे खेलते हुए 101 रन बनाए थे. हालांकि 200वें मैच में सबसे ज्याद रन बनाने का रिकॉर्ड विराट कोहली के नाम दर्ज हो गया है. विराट ने 125 गेंदों में 9 चौके और 2 छक्के की मदद से 121 रन की शानदार पारी खेली है. अपनी इस पारी के दौरान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 1000 रन भी पूरे कर लिए. इसके लिए उन्होंने केवल 17 पारियां खेली और इस तरह से डीन जोन्स के 19 पारियों के रिकॉर्ड को तोड़ा.

दुनिया की टॉप 500 यूनिवर्सिटी में भारत की एकमात्र IIT कानपुर शामिल

IIT कानपुर का नाम दुनिया के टॉप 500 संस्थानों की लिस्ट में शामिल हो गया है. पाठकों को बता दे की टाइम्स हायर एजुकेशन सर्वे वर्ल्ड रैकिंग हमेशा टॉप 100 संस्थानों की सूची जारी करता रहा है. पहली बार उसने टॉप 500 संस्थानों को लिस्ट में शामिल किया है. टॉप 100 में किसी भी आईआईटी को स्थान नहीं मिल पाया है. हालांकि आईआईटी कानपुर विश्व के संस्थानों में लगातार अपनी रफ्तार बनाए हुए है. वर्ल्ड रैंकिंग में इसे 201-250 के बैंड में रखा गया है. इस बार दुनिया भर के संस्थानों में एशिया का वर्चस्व रहा है. टाइम्स हायर एजुकेशन सर्वे की ओर से जारी इस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2018 की इंजीनियरिंग कैटेगरी में आईआईएस, बेंगलुरु को 89 वां स्थान मिला है. टाइम्स हायर एजुकेशन सर्वे पहले टॉप-100 संस्थानों की सूची ही जारी करता था. पहली बार उसने टॉप-500 संस्थानों को लिस्ट में शामिल किया है. टॉप-100 में देश के किसी भी आईआईटी को स्थान नहीं मिल पाया है. इसका आकलन इंडस्ट्री आय, निवेश और शिक्षा समेत अनेक आधार पर किया गया है.

इस रैंकिंग को जारी करते हुए एकेडमिक रेप्युटेशन, एम्प्लॉयर रेप्युटेशन, फैकल्टी, स्टॉफ, पेपर आदि चीजों को ध्यान में रखा गया है. टॉप 500 संस्थानों की लिस्ट में एशिया का शैक्षिक क्षेत्र में दबदबा बरकरार है।.इनमें से 132 संस्थान एशिया के हैं. टॉप 10 में भी एशिया के संस्थानों ने स्थान पाया है. 27
संस्थान अमेरिका, कनाडा आदि देशों से हैं.
इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी
संस्थान रैंक (बैंड में)
आईआईएससी, बेंगलुरु 89
आईआईटी बॉम्बे 126-150
आईआईटी दिल्ली 201-250
आईआईटी कानपुर 201-250
आईआईटी खड़गपुर 201-250
आईआईटी मद्रास 251-300
आईआईटी रुड़की 251-300
आईआईटी गुवाहाटी 301-400
जाधवपुर विवि 401-500
एनआईटी राउरकेला 401-500

कम्प्यूटर साइंस
आईआईएस 101-125
आईआईटी बॉम्बे 126-150
आईआईटी दिल्ली 126-150
आईआईटी खड़गपुर 126-150
आईआईटी मद्रास 201-250
आईआईटी कानपुर 251-300 

कराची विश्व का सबसे असुरक्षित शहर : रिपोर्ट


द इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट के सेफ सिटी इंडेक्स-2017 द्वारा जारी जानकारी के अनुसार विश्व के सबसे असुरक्षित शहरों की सूची जारी की गयी. पाठकों को बता दे की इस सूची में कराची को विश्व का सबसे असुरक्षित शहर माना गया जबकि जापान की राजधानी टोक्यो को सबसे सुरक्षित शहर माना गया. सेफ सिटी इंडेक्स 2017 को तैयार करने के लिए निजी सुरक्षा, डिजिटल सुरक्षा, स्वाथ्य सुरक्षा और ढांचागत सुरक्षा जैसे 49 प्रतिमानों को आधार बनाया गया. इस सूची में चीन के तीन और भारत के दो शहर शामिल हैं. 
 
इस इंडेक्स में कुल 60 शहरों को शामिल किया गया है. सुरक्षित शहरों की सूची में सिंगापुर दूसरे और जापान का ओसाका तीसरे स्थान पर है. इस सूची में दिल्ली 43वें और मुंबई 45वें पायदान पर है. टॉप-10 शहरों में अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस का कोई भी शहर नहीं है, वहीं, भारत और उसके पड़ोसी देशों की बात करें, तो इनमें चीन भारत से ऊपर मौजूद है. चीन के दो शहर शीर्ष 35 में जगह बनाने में कामयाब रहे हैं. वर्ष 2015 की इस सूची में 50 शहर शामिल थे. सूची के अनुसार वर्ष 2015 की तुलना में इस बार अधिकतर शहरों का सुरक्षा स्तर कम हुआ है केवल दो शहरों में सुधार दर्ज हुआ है जिनमें स्पेन के मैड्रिड के सुरक्षा मानकों में 13 और सियोल में 6 अंकों का सुधार हुआ है.

सलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने दिया इस्तीफा

सलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. कुमार ने पारिवारिक कारणों का हवाला देते हुए शुक्रवार को कानून मंत्रालय को इस्तीफा भेजा. यह देश का दूसरा सबसे वरिष्ठ विधि अधिकारी का पद है. रंजीत कुमार ने कहा कि वह परिवार के सदस्यों की कुछ स्वास्थ्य समस्याओं पर ध्यान नहीं दे पा रहे थे. सलिसिटर जनरल अपने व्यस्त शेड्यूल की वजह से अपने परिवार को समय नहीं दे पा रहे थे इसलिए उन्होंने इस्तीफा दिया है. उन्होंने कहा कि सलिसिटर जनरल के रूप में उनका अनुभव शानदार रहा और सरकार के व्यवहार से वह पूरी तरह संतुष्ट हैं. संवैधानिक कानूनों के विशेषज्ञ माने जाने वाले सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील रंजीत कुमार को मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद जून 2014 में सलिसिटर जनरल नियुक्त किया गया था. उनका दूसरा कार्यकाल हाल ही में शुरू हुआ था. वह कई मुकदमों में गुजरात सरकार की पैरवी कर चुके हैं.

अटॉर्नी जनरल, सलिसिटर जनरल और अडिशनल सलिसिटर जनरल विभिन्न अदालतों में सरकार की पैरवी करते हैं और पेचीदा मसलों पर कानूनी सलाह देते हैं. कुछ महीने पहले यह चर्चा थी कि उच्चतम न्यायालय की कोलेजियम शीर्ष अदालत के न्यायाधीश पद के लिए उनके नाम पर विचार कर रही है. हाल ही में, वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने अटॉर्नी जनरल के पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने सरकार को लिखे पत्र में कहा था कि अटार्नी जनरल के रूप में दूसरे कार्यकाल में उनकी दिलचस्पी नहीं ह.

प्रदूषण की वजह से भारत में सबसे अधिक मौतें, एक साल में मारे गए 25 लाख लोग

साल 2015 में भारत में प्रदूषण की वजह से करीब 25 लाख लोग मारे गए. ये दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले सबसे ज्यादा है. लैनसेट कमिशन की प्रदूषण और स्वास्थ्य रिपोर्ट के अनसुार विश्व में करीब 90 लाख लोग प्रदूषण की वजह से मारे गए. मृतकों के ये आंकड़े एड्स, मलेरिया और ट्यूबरकुलोसिस जैसी घातक बीमारियों से मरने वाले लोगों से तीन गुना ज्यादा हैं. रिपोर्ट में दूसरे नंबर पर चीन है, जिसमें 18 लाख लोग प्रदूषण की चपेट में आकर अपनी जान गवां बैठे. रिपोर्ट की मुताबिक विश्व में हर छह में से एक शख्स की मौत प्रदूषण की वजह से होती है. इसमें सबसे ज्यादा मौतें विकासशील देशों में होती हैं.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश को तकरीबन दरकिनार करते हुए दिल्ली-एनसीआर में लोगों ने जमकर पटाखे खरीदे और दिवाली पर फोड़े भी. वहीं, दिवाली की रात हुई जमकर आतिशबाजी के चलते दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण ने शुक्रवार सुबह असर दिखाना भी शुरू कर दिया है. जहां एक ओर आसमान में धुएं की हल्की परत छाई है वहीं, दिवाली पर आतिशबाजी के चलते 24 गुना तक प्रदूषण बढ़ गया है. हालांकि, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) का मानना है कि पिछले साल की तुलना में इस साल दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर कम रहा.