मासिक करेंट अफेयर्स

10 October 2017

बेंगलुरु भारत का पहला बायोमेट्रिक बेस्ड एयरपोर्ट बना


हवाई यात्रियों की अक्सर शिकायत रहती है कि उन्हें फ्लाइट पकड़ने में काफी समय लग जाता है. सरकार ने यात्रियों की इस शिकायत को अब दूर करने का फैसला किया है. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एयरपोर्ट पर यात्रियों की एंट्री के तरीके को आसान बनाने और पेपर चेकिंग की जटिल प्रक्रिया से छुटकारा दिलाने के लिए बायोमेट्रिक एंट्री की योजना बनाई है. एयरलाइंस टिकट बुकिंग के समय इस्तेमाल किए गए आधार कार्ड की मदद से बायोमेट्रिक एंट्री की जा सकेगी. दो महीने तक चले पायलट प्रोजेक्ट के बाद बेंगलुरु का केंपेगोडा अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा देश का पहला आधार आधारित एंट्री और बायोमीट्रिक बोर्डिंग सिस्टम वाला एयरपोर्ट बनने जा रहा है. बेंगलुरु इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (बीआईएएल) द्वारा भेजे गए प्रस्ताव के अनुसार, मार्च तक एंट्री पर आधार और बायोमीट्रिक सिस्टम लागू किया जाएगा. जबकि, दिसंबर 2018 तक एयरपोर्ट को पूरी तरह आधार आधारित चालित किए जाने की संभावना है. 

आधार बेस्ड सिस्टम से यात्रियों की एंट्री से लेकर के बोर्डिंग गेट तक पहुंचने में केवल 10 मिनट का समय लगेगा. अभी इस प्रक्रिया में लगभग आधे घंटे का समय लगता है. इससे न सिर्फ यात्रियों के लिए जगह-जगह चेकिंग के दौरान आईडी और बोर्डिंग पास दिखाने का झंझट खत्म होगा बल्कि समय की भी बचत होगी. हवाईअड्डों की सुरक्षा बढ़ाने और यात्रियों का प्रवेश आसान बनाने के लिए आधार आधारित एंट्री को बढ़ावा दिया जा रहा है. एविएशन सेक्रेटरी आरएन चौबे का कहना है कि नए सिस्टम के तहत हर यात्री को चेकिंग पर सिर्फ बायोमेट्रिक प्रोसेस से गुजरना होगा, न कि अपने आईडी प्रूफ दिखाने होंगे. सिर्फ यही नहीं, उन्हें अपने टिकट को दिखाने की भी जरूरत भी पड़ेगी.

No comments:

Post a comment