मासिक करेंट अफेयर्स

30 October 2017

कौशल भारत मिशन के तहत भारत के पहले प्रधानमंत्री कौशल केंद्र का शुभारंभ किया गया

कौशल प्रशिक्षण में गति लाने के उद्देश्‍य से केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास व उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज यहां स्मार्ट शहरों में कौशल प्रशिक्षण के लिए एनडीएमसी के सहयोग से भारत के पहले प्रधानमंत्री कौशल केंद्र (पीएमकेके) का उद्घाटन किया. दोनों मंत्रियों ने नई दिल्‍ली के मोतीबाग में कौशल विकास केंद्र और धरम मार्ग में उत्‍कृष्‍टता केंद्र की आधाशिलाएं भी रखी. सरकार के महत्‍वपूर्ण कार्यक्रमों में परस्‍पर सहयोग बढ़ाने के उद्देश्‍य से शहरी मामले और आवास मंत्रालय तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने नए कौशल विकास केंद्रों की स्‍थापना के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय के विभाग राष्‍ट्रीय कौशल विकास निगम (एमएसडीसी) ने नई दिल्‍ली नगर पालिका परिषद स्‍मार्ट सिटी लिमिटेड (एनडीएमसीएससीएल) के साथ समझौता किया है. इस समझौते का उद्देश्‍य बेरोजगार युवाओं को अल्‍प-अवधि प्रशिक्षण प्रदान करना है. प्राथमिक शिक्षण कार्यक्रम के तहत इससे नगरपालिका कर्मियों की क्षमता विकास में भी सहायता मिलेगी.

कौशल विकास केंद्रों का उद्घाटन करते हुए श्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘भारत एक युवा देश है और यह अपनी भौगोलिक अवस्‍थिति के फायदों के आधार पर एक महाशक्‍ति बनेगा तथा 2030 तक दुनिया के तीन सर्वश्रेष्‍ठ देशों में एक होगा. इस उपलब्‍धि को प्राप्‍त करने के लिए हमें युवाओं में निवेश करना होगा और उन्‍हें कौशल प्रदान करना होगा.’ श्री राजनाथ सिंह ने आगे कहा, ‘एक कौशल प्राप्‍त व्‍यक्‍ति अपने कठिन परिश्रम के कारण सम्‍मान, पहचान और प्रतिष्‍ठा पाता है. मुझे पूरा विश्‍वास है कि ये प्रशिक्षण केंद्र युवाओं को प्रशिक्षण प्राप्‍त करने को लेकर प्रेरित करेंगे, जिससे वे स्‍वाबलंबी बन सकेंगे.’

नया प्रधानमंत्री कौशल केंद्र, एनडीएमसी की अवसंरचना का उपयोग करेगा। नई दिल्‍ली के मंदिर मार्ग स्‍थित इस विरासत भवन का क्षेत्रफल 30,000 वर्ग फीट है. इसकी क्षमता एक वर्ष में 4,000 युवाओं को प्रशिक्षित करने की है. यह केंद्र स्‍वास्‍थ्‍य और सौर ऊर्जा क्षेत्र की जरूरतों को पूरा करेगा. इस केंद्र का संचालन एनएसडीसी की सहयोगी इकाई ओरियन एडोटेक के द्वारा किया जाएगा, जिसे पूरे देश में फैले 275 कौशल विकास केंद्रों के माध्‍यम से 3 लाख युवाओं को प्रशिक्षण देने का अनुभव है. इस अवसर पर श्‍नेडर इलेक्‍ट्रिक द्वारा निर्मित सौर ऊर्जा प्रयोगशाला का भी उद्घाटन किया गया.’

No comments:

Post a Comment