मासिक करेंट अफेयर्स

02 November 2017

रक्षा मंत्रालय का बड़ा फैसला, समुद्र में चीन की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए नौसेना को मिलेंगे 111 हेलीकॉप्टर

हिंद महासागर में चीन की हालिया गतिविधियों के बीच भारत ने भी अपनी नौसेना शक्ति बढ़ाने के लिए कदम बढ़ा दिया है. रक्षामंत्री निर्मला सीतारण ने नौसेना में हेलिकॉप्टर की कमी को दूर करने के लिए 111 यूटिलिटी हेलिकॉप्टर खरीदने को मंजूरी दे दी. इन हेलिकॉप्टर की खरीद को स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप मॉडल के तहत स्वीकृति दी गई ह.। इससे न सिर्फ नौसेना में हेलिकॉप्टर की कमी दूर होगी, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट को बढ़ावा मिलेगा. रक्षामंत्री की अध्यक्षता में हुई डिफेंस एक्यूजिशन काउंसिट (डीएसी) की बैठक में यह फैसला लिया गया. इस प्रोजेक्ट पर लगभग 21,738 करोड़ रुपए खर्चे आएगा. 111 में से 16 हेलिकॉप्टर भागीदार कंपनी (विदेश कंपनी) से तैयार हालत में खरीदे जाएंगे. बाकी 95 हेलिकॉप्टर इंडियन स्ट्रैटेजिक पार्टनर्स के तहत बनाए जाएंगे. सरकार अब किसी विदेशी हेलीकॉप्टर विनिर्माता कंपनी और उसके साथ संयुक्त उद्यम में शामिल होने के लिए एक भारतीय कंपनी की तलाश प्रक्रिया शुरू करेगी. इस नये मॉडल के तहत यह पहला बड़ा सौदा होगा.

रक्षामंत्री निर्मला सीरारमण के नेतृत्व में हुई डीएसी की बैठक में भारतीय नौसेना के लिए नौ एक्टिवली टोड आरे सोनार सिस्टम (एडवांस) के भी खरीद को मंजूरी दी गई. इसके लिए लगभग 450 करोड़ रुपए खर्चे जाएंगे. हाल ही के दिनों में हिंद महासागर में चीन की गतिविधियां देखी गई हैं. चीन के जंगी बेड़े और पंडुब्बियां बार-बार कराची और ग्वादर से आवाजाही करते नजर आए थे. माना जा रहा है कि इसके जरिए चीन हिंद महासागर में अपनी नौसेना की मौजूदगी बढ़ाना चाहता है.

No comments:

Post a Comment