मासिक करेंट अफेयर्स

11 November 2017

मुंबई 500 रणजी ट्रॉफी मैच खेलने वाली पहली टीम बनी

मुंबई क्रिकेट टीम ने वानखेड़े स्टेडियम (मुंबई) में 09 नवम्बर 2017 को बड़ौदा के खिलाफ मैच में उतरने के साथ 500 रणजी ट्रॉफी मैच खेलने वाली पहली टीम बन गई. मुंबई क्रिकेट टीम ने वर्ष 1935 में अपना पहला रणजी मैच खेला था. मुंबई क्रिकेट टीम ने अब तक 242 मैचों में जीत दर्ज की है और 26 मैचों में उसे हार मिली है जबकि 231 मैच ड्रॉ रहे हैं. मुंबई सबसे ज्यादा रणजी ट्रॉफी जीतने वाली टीम है. इसी टीम से सचिन तेंदुलकर, सुनिल गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर जैसे खिलाड़ी निकले हैं. वर्ष 1930 में अस्तित्व में आई मुंबई ने वर्ष 1934-35 में पहला रणजी ट्रॉफी खिताब जीता था. तब यह टीम बॉम्बे के नाम से जानी जाती थी. तब से इस टीम ने घरेलू क्रिकेट में अपनी बादशाहत को लगातार बरकरार रखा है.

मुंबई क्रिकेट टीम ने लगातार 15 बार रणजी ट्रॉफी जीतने वाली पहली टीम है. मुंबई क्रिकेट टीम ने वर्ष 1958-59 से वर्ष 1972-73 तक लगातार खिताब अपने नाम किया. अजीत वाडेकर मुंबई को सबसे ज्यादा खिताब दिलाने वाले कप्तान हैं. उन्होंने चार बार मुंबई को खिताब दिलाया. वसीम जाफर मुंबई के लिए रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले और सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. उन्होंने 120 मैचों में 9,759 रन बनाए हैं.
 
रणजी ट्रॉफी : रणजी ट्रॉफी भारत की एक घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता है जिसमे एक घरेलू प्रथम श्रेणी क्रिकेट चैम्पियनशिप क्षेत्रीय क्रिकेट संघों का प्रतिनिधित्व टीमों के बीच भारत में खेला जाता है. प्रतियोगिता पहली बार वर्ष 1934-35 में जगह लेने के साथ जुलाई 1934 में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की एक बैठक के बाद के रूप में भारत की क्रिकेट चैम्पियनशिप शुरू किया गया था. ट्रॉफी पटियाला के महाराजा भूपिंदर सिंह द्वारा दान किया गया था. रणजी ट्रॉफी का प्रारूप दो चरणों में होता है. पहले चरण में राउंड-रॉबिन लीग मैच खेले जाते हैं दूसरे चरण में यह नॉक-आऊट हो जाता है. राउंड रोबिन मैच के लिए चार दिन और नॉकआउट मैच के लिए यह सीमा पांच दिन है. इसमें प्रत्येक टीम को दो बार बल्लेबाज़ी और दो बार गेंदबाज़ी करनी होती है. नॉकआउट चरण में यदि मैच ड्रॉ रहता है तो पहले पारी के आधार पर टीम को जीत मिलती है.

No comments:

Post a Comment