मासिक करेंट अफेयर्स

17 November 2017

केंद्र सरकार ने दिल्ली में बीएस-6 वाहन इंधन तय समय से पहले लागु करने का निर्णय लिया

खतरनाक प्रदूषण के स्तर तक पहुँच चुकी देश की राजधानी दिल्ली में ऑटो ईंधन से होने वाले प्रदूषण को कम करने की कोशिशों के तहत पेट्रोलियम मंत्रालय ने बीएस-6 ईंधन की बिक्री अप्रैल 2018 से शुरू शुरू करने का निर्णय लिया है. पहले बीएस-6 को 2020 में लाने का फैसला लिया गया था. बता दें कि पेट्रोलियम मंत्रालय ने यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फ्रांस में हुए संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन, सीओपी 21, में जताई गई प्रतिबद्धता को दर्शाने के लिए लिया है. इसके तहत कंपनियों को 1 अप्रैल 2019 तक एनसीआर के अन्य शहरों में भी बीएस-6 ग्रेड के ईंधन को बेचने की संभावनाएं तलाशने को कहा गया है. इससे दिल्ली और आसपास के शहरों में प्रदूषण की समस्या से मुक्ति मिलने में मदद मिलेगी. मंत्रालय के इस निर्णय से वाहन उत्सर्जन में कमी आने के साथ ही ईंधन दक्षता में सुधार आएगा.

आपको जानकारी दे दें कि वाहनों में ईंधन से होने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए एक मानक तय किया जाता है. इसे इमिशन नॉर्म्स कहते हैं. बीएस का मतलब है-भारत स्टेज. तकनीकी परिवर्तन के साथ इमिशन नॉर्म्स भी बदलते हैं. 1 अप्रैल 2017 से भारत में बीएस-4 नॉर्म्स लागू किया गया. इसके बाद देश में बीएस-5 को छोड़कर सीधे बीएस-6 स्टैंडर्ड लागू होना हैं. केंद्र सरकार ने इसके लिए 2020 की समय सीमा तय की थी, लेकिन दिल्ली में अब बीएस-6 स्टैंडर्ड का ईंधन दो साल पहले ही मिलने लगेगा.

No comments:

Post a comment