मासिक करेंट अफेयर्स

04 November 2017

हिन्दी की वरिष्ठ साहित्यकार कृष्णा सोबती को प्रतिष्ठित ज्ञानपीठ पुरस्कार

साहित्य के क्षेत्र में दिया जाने देश का सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार वर्ष 2017 के लिए हिन्दी की वरिष्ठ साहित्यकार कृष्णा सोबती का चयन किया गया है. ज्ञानपीठ के निदेशक लीलाधर मंडलोई ने कहा कि वर्ष 2017 के लिए दिया जाने वाला 53वां ज्ञानपीठ पुरस्कार कृष्णा सोबती को साहित्य के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदान किया जायेगा. उन्होंने कहा पुरस्कार चयन समिति की बैठक में कृष्णा सोबती को वर्ष 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार देने का निर्णय किया गया. पुरस्कार स्वरूप कृष्णा सोबती को 11 लाख रुपये, प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिह्न प्रदान किया जाएगा. 
 
इससे पूर्व कृष्णा सोबती को उनके उपन्यास ‘जिंदगीनामा’ के लिए वर्ष 1980 का साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया था. उन्हें 1996 में अकादमी के उच्चतम सम्मान साहित्य अकादमी फैलोशिप से भी नवाजा गया था. सोबती की महत्वपूर्ण कृतियों में जिंदगीनामा के अलावा मित्रो मार्जनी, एक सोहबत, बादलों के घेरे, डर से बिछुड़ी आदि शामिल हैं. उनकी कृतियों का अनुवाद अंग्रेजी सहित विश्व की अनेक भाषाओं में हुआ है.

No comments:

Post a Comment