मासिक करेंट अफेयर्स

18 November 2017

पेटीएम और आईसीआईसीआई बैंक ने डिजिटल क्रेडिट हेतु समझौता किया

मोबाइल वॉलेट पेटीएम और आईसीआईसीआई बैंक के बीच एक समझौता हुआ है जिसके अंतर्गत दोनों ने मिलकर एक पोस्टपेड सेवा की शुरूआत की गई है जिसमें एक डिजिटल क्रेडिट अकाउंट होगा जो तुरंत एक्टिवेट हो जाएगा और इसको एक्टिवेट कराने के लिए यूजर्स को किसी प्रकार के डॉक्यूमेंट्स या कागजों की जरूरत नहीं होगी. इस सर्विस में यूजर्स में अपने खर्च का भुगतान करने के लिए 20,000 रुपए तक का डिजिटल क्रेडिट उपयोग कर सकते हैं.

ऐसा देश में पहली बार हुआ है जब किसी निजी बैंक और मोबाइल वॉलेट सर्विस ने यूजर्स के लिए डिजिटल क्रेडिट की सुविधा पेश की है. इस सर्विस का उपयोग यूजर्स बिजली व पानी के बिल का भुगतान करने के अलावा ग्रोसरी का बिल, फ्लाइट व रेल टिकट आदि का भुगतान करने के लिए किया जा सकता है. इस सर्विस के अंतर्गत बैंक की तरफ से उपयोग किए गए पैसे पर 45 दिन तक किसी तरह का ब्याज नहीं वसूला जाएगा. 

आईसीआईसआई बैंक द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक उपभोक्ता को दिए जाने वाले क्रेडिट की लिमिट 3,000 रुपए से लेकर 20,000 रुपए के बीच होगी, यह लिमिट ग्राहक के क्रेडिट स्कोर पर निर्भर करेगी. पेटीएम व आईसीआईसीआई बैंक द्वारा शुरू किया गया पोस्टपेड सेवा एक डिजिटल क्रेडिट अकाउंट होगा जो तुरंत एक्टिवेट हो जाएगा और इसको एक्टिवेट कराने के लिए आपको किसी कागज की जरूरत नहीं होगी और न ही बैंक की किसी ब्रांच में जाना पड़ेगा और न आपको किसी एक्जीक्यूटिव से बात करने की आवश्यकता है. 

य​ह सर्विस 24×7 और सभी दिन उपलब्ध होगी और यह आईसीआईसीआई बैंक द्वारा नए बिग डाटा आधारित algorithm पर आधारित है, जो ग्राहकों के वास्तविक समय के क्रेडिट मूल्यांकन के लिए है. algorithm ग्राहक के वित्तीय और डिजिटल व्यवहार संयोजन का उपयोग करता है, जिसमें क्रेडिट ब्यूरो चेक, क्रय पैटर्न, क्रय की आवृत्ति शामिल है, जो कुछ सेकेंड के भीतर ग्राहक की योग्यता का पता लगाता है. ग्राहक के क्रेडिट स्कोर के आधार पर, बैंक 45 दिनों तक ब्याज-मुक्त क्रेडिट सीमा प्रदान करता है. पुनर्भुगतान के इतिहास के आधार पर यह 3,000 रुपये से लेकर 10,000 रुपये तक का है, जो 20,000 रुपये तक का है. पेटीएम-आईसीआईसीआई बैंक पोस्टपेड भी पेटीएम पासकोड के साथ ग्राहकों को त्वरित चेकआउट प्रदान करेगा.

No comments:

Post a comment