मासिक करेंट अफेयर्स

04 November 2017

पीएम मोदी ने किया वर्ल्ड फूड इंडिया का उद्धाटन, कहा- भारत में कारोबार करना हुआ आसान

फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देने के मकसद से भारत में पहली बार वर्ल्ड फूड इंडिया का आयोजन किया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नई दिल्ली में आज इसका उद्घाटन किया. इस बड़े आयोजन से पहले ही फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में 65 हजार करोड़ रुपये निवेश के प्रस्ताव आ चुके हैं. वर्ल्ड फूड फेस्टिवल में सभी का स्वागत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत आज विश्व की सबसे तेज उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. निवेश के लिए भारत सबसे बढ़िया विकल्प बताते हुए पीएम ने 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' पर विश्व बैंक की रिपोर्ट में भारत की रैंकिंग में हुए शानदार सुधार का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, 'हमने जीएसटी के जरिए करों की बहुलता को खत्म किया. जीएसटी और अन्य आर्थिक सुधारों की वजह से भारत के कारोबारी माहौल में सुगमता आई है तथा खाद्य उत्पादन में काफी बढ़ोतरी हुई है.'

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि घरेलू तरीकों की मदद से बने हमारे मशहूर अचार, पापड़, चटनी और मुरब्बे पूरी दुनिया में लोगों को पसंद हैं. उन्होंने कहा कि भारत में अब व्यापार करना पहले से कहीं ज्यादा आसान हो गया है. पीएम ने कहा हम अपने गांवों को डिजिटल कनेक्टिविटी से जोड रहे हैं जिसके लिए एक समय तय किया गया है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'भारत में खाद्य उद्योग तेजी से बढ़ रहा है और 'मेक इन इंडिया' अंतरराष्ट्रीय मानकों की बराबरी कर रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि फूड इंडस्ट्री के लिए भारत में बेहतर मौके हैं. हमारे पास उपभोक्ताओं की विशाल रेंज है. एक दिन में लाखों यात्री भारत में ट्रेन में खाना खाते हैं. भारत में फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री के पोटेन्शल ग्राहक मौजूद हैं.'

इस फेस्टिवल में 40 से भी अधिक देशों के करीब 2000 लोग हिस्सा ले रहे हैं, जिनमें कई बड़ी खाद्य कंपनियों के सीईओ शामिल हैं. फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में निवेश को आकर्षित करने और रोजगार के मौके बढ़ाने के मकसद से नई दिल्ली में वर्ल्ड फूड इंडिया का आयोजन किया गया है. वर्ल्ड फूड इंडिया में जर्मनी, डेनमार्क और जापान साझेदार देश हैं, जबकि इटली और नीदरलैंड्स फोकस देश हैं. 

No comments:

Post a Comment