मासिक करेंट अफेयर्स

01 November 2017

लौह पुरुष सरदार पटेल की जयंती पर पूरा देश मना रहा राष्ट्रीय एकता दिवस

31 अक्टूबर को पूरे देश भर में राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया गया. देश के पहले उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती को देश भर में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में सरदार पटेल की जयंती को इस खास दिन के रूप में मनाने का ऐलान किया था. सरदार पटेल देश के पहले गृह मंत्री थे और इनका भारत को बनाने में बहुत बड़ा योगदान रहा. पटेल ने भारत की आजादी के बाद साल 1947-49 के बीच करीब 200 रियासतों को एक करने में अहम भूमिका निभाई. पटेल की सूझबूझ की बदौलत ही हम आज भारत के इतने उत्तम रूप को देखते हैं. भारत के एकीकरण में उन्होंने खासा योगदान दिया था. सरदार पटेल को लौह पुरुष के रूप में भी जाना जाता है. 

सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्म गुजरात में 31 अक्टूबर 1875 को हुआ था. वे 15 अगस्त 1947 से 15 दिसंबर 1950 तक देश के गृह मंत्री रहे थे. गृह मंत्री के रूप में अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाने वाले पटेल की मृत्यू 15 दिसंबर 1950 को हुई थी. भारत को एक करने में सरदार पटेल की अहम भूमिका को ध्यान में रखते हुए उन्हें 1991 में भारत रत्न से भी नवाजा गया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को सरदार वल्लभभाई पटेल के 142वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी. मोदी ने कहा कि देश उनके समर्पण भाव और योगदान को कभी नहीं भूल सकता. मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘हम सरदार पटेल के जन्मदिन पर उन्हें सलाम करते हैं. उनकी सेवा और योगदान को देश कभी भुला नहीं सकता.’ इस अवसर पर नई दिल्ली के मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रन ऑफ यूनिटी (एकता के लिए दौड़) को हरी झंडी दिखायी.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय एकता की शपथ भी दिलाई. उन्होंने कहा, ‘मैं सत्यनिष्ठा से शपथ लेता हूं कि मैं राष्ट्रीय एकता, अखण्डता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वयं को समर्पित करूंगा। और अपने देशवासियों के बीच यह संदेश फैलाने के लिए निरंतर प्रयास करूंगा. मैं यह शपथ अपने देश की एकता की भावना से ले रहा हूं. इसमें सरदार भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्य संभव बनाया जाएगा. मैं अपने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने का भी सत्यनिष्ठा से संकल्प करता हूं.’

No comments:

Post a Comment