मासिक करेंट अफेयर्स

23 December 2017

टीसीएस-नील्सन के बीच सबसे बड़ी आईटी आउटसोर्सिंग समझौता हुआ

किसी भारतीय आईटी कंपनी ने आउटसोर्सिंग के पैमाने पर अब तक की सबसे बड़ी डील की है. टाटा कंसल्टेंसी सर्विस (टीसीएस) ने टेलिविजन रेटिंग प्रबंधन एजेंसी के साथ 2.25 बिलियन डॉलर (144.1 अरब रुपए) में एक डील की है. इस डील को टीसीएस के नए प्रमुख राजेश गोपीनाथन के कार्यकाल का पहला मील का पत्थर माना जा सकता है. राजेश गोपीनाथन ने फरवरी महीने में ही एन चंद्रशेखरन की जगह ली है. इस डील के अंतर्गत टीसीएस अगले तीन सालों तक यानी कि साल 2020 तक नीलसन के सभी आउटसोर्सिंग से जुड़े कामों को पूरा करेगी. टीसीएस इस डील के जरिए नील्सन तीन साल तक (2017-2020) 320 मिलियन डॉलर का कारोबार उपलब्ध करवाएगी. 2021 से 2024 तक कंपननी के संभावित वार्षिक राजस्व को 186 मिलियन डॉलर और 2025 में 139.5 मिलियन डॉलर के स्तर पर देखा जा रहा है.

जानकारी के लिए आपक बता दें कि इसी साल अक्टूबर महीने में हुई यह डील टीसीएस और नील्सन की पार्टनरशिप का रिन्यूअल भर है. इन कंपनियों के बीच 2008 में 10 साल के लिए डील 1.2 बिलियन डॉलर (76.8 अरब रुपए) में डील हुई थी जिसे 2013 में तीन साल और बढ़ाकर लगभग दोगुना 2.5 बिलियन डॉलर (160.1 अरब रुपये) कर दिया गया. इन दोनों कंपनियों के बीच यह डील 31 दिसंबर, 2025 तक के लिए है. आपको बता दें कि मार्च 2017 तक टीसीएस ने 17.6 बिलियन डॉलर के साथ 6.2 फीसद की राजस्व वृद्धि दर्ज कराई थी. कंपनी को 88 मिलियन डॉलर के इंक्रीमेंटल रेवेन्यू की जरूरत है ताकि वो अपनी ग्रोथ को सुधारकर 50 आधार अंकों तक ले आए.

No comments:

Post a comment