मासिक करेंट अफेयर्स

26 December 2017

पीएम मोदी ने देश में पहली स्‍वसंचालित मेट्रो ट्रेन का उद्घाटन किया


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 दिसंबर को  देश की पहली स्‍वसंचालित मेट्रो ट्रेन दिल्ली मेट्रो की 12.64 किलोमीटर लंबी मजेंटा लाइन का उद्घाटन किया. यह लाइन नोएडा के बॉटनिकल गार्डन को दक्षिण दिल्ली के कालकाजी मंदिर स्टेशन से जोड़ती है. उन्होंने बॉटेनिकल गार्डन से ओखला बर्ड सेंचुरी स्टेशनों के बीच मेट्रो की सवारी भी की. मोदी ने नई मेट्रो लाइन की सवारी की, इसमें उनके साथ उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, आवास तथा शहरी मामलों के केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली मेट्रो रेल निगम के प्रमुख मंगू सिंह भी थे. इस अवसर पर पीएम ने अपने भाषण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की और कहा कि आज योगी आदित्यनाथ ने यह भ्रम तोड़ा है कि कोई सीएम नोएडा नहीं आ सकता. मुझे खुशी है कि जिस नोएडा में किसी मुख्यमंत्री के न आने की छवि बन गई थी, उस मिथक को योगी जी ने गलत साबित किया. इसके लिए मैं हृदय से योगी जी को बधाई देता हूं. पीएम मोदी ने कहा कि किसी भी सीएम के नोएडा नहीं आने का कारण अंधविश्वास ही रहा है. लोग कहते हैं कि जो सीएम नोएडा आता है, उसकी कुर्सी चली जाती है. लेकिन योगी जी ने उस भ्रम और मिथक को तोड़ दिया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने ही मुझे गोद लेकर मेरा लालन-पालन किया है और मेरी नई जिम्मेदारियों के लिए मुझे ढाला है. आगे उन्होंने कहा कि मेरे देश में कोई विषय ऐसा नहीं जिस पर राजनीति का रंग ना लगाया जाए. इसी कारण कई बार विकास के काम भी राजनीतिक तौर पर देखते हैं.

यात्री इस लाइन पर कालकाजी से बॉटनिकल गार्डन के बीच मेट्रो से सफर कर सकेंगे. 12 किलोमीटर लंबा यह सफर लगभग 18 मिनट में पूरा होगा. फिलहाल, डीएमआरसी ने इस लाइन पर 10 मेट्रो चलाने का फैसला किया है. दो मेट्रो को बॉटनिकल गार्डन और कालकाजी में रिजर्व रखा जाएगा. जरूरत  पड़ने पर इन ट्रेनों को भी चलाया जाएगा. अभी प्रत्येक 5 मिनट पर मेट्रो सेवा उपलब्ध होगी. भविष्य में यह समय घटकर डेढ़ से दो मिनट के बीच हो जाएगा.  अभी इस लाइन पर मेट्रो केवल 9 स्टेशनों का सफर तय करेगी. जून 2018 से 38 किलोमीटर लंबी मैजेंटा लाइन पूरी खुल जाएगी. इसके बाद जनकपुरी पश्चिम से बॉटनिकल गार्डन के बीच कुल 25 मेट्रो स्टेशन होंगे.

मैजेंटा लाइन पर कालकाजी-बोटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन रूट सोमवार से शुरू हो जाएगा. इससे दक्षिणी दिल्ली, फरीदाबाद और नोएडा के लोगों को राहत मिलेगी. हालांकि दिल्ली के बड़े हिस्से और गुरुग्राम वालों को इस लाइन पर हौजखास मेट्रो के आरंभ होने से फायदा होगा।.मैजेंटा लाइन पर हौजखास में इंटरचेंज बनने के बाद नोएडा से गुरुग्राम की दूरी 90 से घटकर 50 मिनट रह जाएगी. इस लाइन के बाद गुरुग्राम से येलो लाइन के जरिए आपको राजीव चौक तक आकर ब्लू लाइन में बैठने की जरूरत नहीं पड़ेगी. लोग हौजखास मेट्रो स्टेशन से ही मेट्रो बदल पाएंगे और मैजेंटा लाइन के जरिए सीधा बोटेनिकल गार्डन तक पहुंच जाएंगे. इस नए रूट के शुरू होने के बाद नोएडा और गुरुग्राम के बीच 9 स्टेशन कम पार करने होंगे. बोटेनिकल गार्डन से हौजखास मेट्रो स्टेशन तक पहुंचने में अभी कुल 22 स्टेशन पार करने पड़ते हैं. इनमें 9 स्टेशन येलो लाइन पर और 13 स्टेशन ब्लू लाइन मेट्रो पर होते हैं. लेकिन, नई लाइन शुरू होने के बाद हौजखास मेट्रो स्टेशन से केवल 13वां स्टेशन बोटेनिकल गार्डन होगा. इस लाइन के पूरी तरह शुरू होने से जनकपुरी पश्चिम से बोटेनिकल गार्डन तक जाने के लिए लोगों के पास दो विकल्प मौजूद होंगे. वह ब्लू लाइन या मैजेंटा लाइन को इस सफर के लिए चुन सकते हैं

दिल्ली मेट्रो ने अपने 15 साल पूरे किए. दिल्ली मेट्रो शाहदरा से तीस हजारी के बीच 8.5 किलोमीटर के रास्ते का उद्घाटन 25 दिसंबर, 2002 को हुआ था. इन सालों में यह दिल्लीवासियों के जीने का तरीका बन गई है. आज यह 230 किलोमीटर से अधिक के दायरे में फैली है. दिल्ली मेट्रो सार्वजनिक परिवहन की रीढ़ बन चुकी है. इसके 3000 ट्रेन हर दिन 25 लाख लोगों को सवारी कराते हैं. डीएमआरसी मे अपना काम 1995 में शुरू कर दिया था जब मेट्रो के पहले गलियारे पर काम शुरू हुआ. बहुत कम लोगों को याद होगा जब कश्मीरी गेट पर एक होर्डिंग लगी होती थी कि `दिल्ली मेट्रो जल्द आ रही है`.

No comments:

Post a comment