मासिक करेंट अफेयर्स

26 December 2017

देश की पहली वातानुकूलित लोकल ट्रेन मुंबई में शुरू

देश की पहली वातानुकूलित (एसी) लोकल ट्रेन सेवाओं की सोमवार को मुंबई से शुरूआत हो गई, जिससे लाखों यात्रियों का बहुप्रतीक्षित सपना पूरा होगा।. इसे मुम्बईकरों के लिए क्रिसमस के उपहार के रूप में देखा जा रहा है।.पश्चिमी रेलवे (डब्ल्यूआर) द्वारा संचालित इस लोकल ट्रेन ने सोमवार सुबह दस बजकर 32 मिनट पर दक्षिण मुम्बई में बोरीवली स्टेशन से चर्चगेट तक अपनी यात्रा शुरू की. देश की पहली एसी लोकल ट्रेन मुंबई के बोरीवली स्टेशन से चर्चगेट के लिए रवाना हुई. 12 बोगियों की इस ट्रेन का किराया सामान्य लोकल के फर्स्ट क्लास के किराए से थोड़ा ज्यादा होगा. एसी ट्रेन होने की वजह से इसमें भीड़ ज्यादा होने के आसार हैं, इसलिए उसे कंट्रोल करने के लिए इसमें बाउंसर तैनत किए गए हैं. कुछ दिनों पहले रेलवे ने इसके सभी ट्रायल और चेक पूरे किए थे. 

मुंबई के लोग पिछले 5 साल से एसी लोकल ट्रेन का इंतजार कर रहे थे. इनमें राजधानी एक्सप्रेस के कोच की तरह बड़ी सिंगल विंडो लगाई गई है. कोच का इंटीरियर पिछले साल मुंबई को दी गई नई लोकल कोच जैसा है. कोच में लगी सीट नीले और ग्रे रंग की हैं. इन्हें पहले से ज्यादा आरामदेह बनाने का दावा किया गया है. दो सीटों के बीच की जगह भी बढ़ाई गई है, ताकि भीड़ ज्यादा होने पर पैसेंजर्स सीटों के बीच आराम से खड़े रह सकें. कोच में खड़े होकर चलने वाले यात्रियों को सहारे के लिए ऊपर लगे हैंडल भी इस तरह बनाए गए हैं कि एक हैंडल दो यात्री पकड़ सकें. दरवाजे के बीच में लगे स्टील पोल को भी नई शेप दी गई है, ताकि इसे एक साथ ज्यादा पैसेंजर्स पकड़ सकें. इस ट्रेन की मैक्सिमम स्‍पीड 110 किलोमीटर प्रति घंटे होगी. इसमें 5964 पैसेंजर्स की कैपिसिटी होगी.

जहां एक ओर एसी लोकल चलने की खुशी है, वहीं दूसरी ओर आम यात्रियों को इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ेगा. दरअसल, इस एसी ट्रेन को 11 नॉर्मल लोकल ट्रेन के बदले चलाया जा रहा है. इनमें से 8 सर्विस चर्चगेट से विरार और 3 सर्विस चर्चगेट से अंधेरी के बीच चलाई जाएगी. ये सभी तेज लोकल होंगी, जबकि धीमी लोकल के तौर पर सिर्फ एक सर्विस महालक्ष्मी से बोरीवली के बीच चलाई जाएगी. मुंबई लोकल में हर रोज 65 लाख से ज्‍यादा लोग सफर करते हैं. इसमें भी अकेले वेस्‍टर्न लाइन पर 35 लाख पैसेंजर्स हैं और इस लाइन पर 37 स्‍टेशन पड़ते हैं. एसी लोकल को सबसे पहले इसी लाइन पर चलाया जा रहा है. मुंबई के लिए सरकार ने 370 एस्केलेटर्स को मंजूरी दी गई है. इसके अलावा सिक्‍युरिटी को बेहतर बनाने के लिए सभी ट्रेनों और स्टेशनों पर CCTV भी लगाए जा रहे हैं.

No comments:

Post a comment