मासिक करेंट अफेयर्स

19 December 2017

मोदी का जलवा बरकरार, गुजरात और हिमाचल में भाजपा सरकार

गुजरात विधानसभा की 182 सीटों और हिमाचल की 68 विधानसभा सीटों के नतीजे आ चुके हैं. गुजरात और हिमाचल चुनावों में एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी का मैजिक चला है. गुजरात में भाजपा ने 182 सदस्यीय विधानसभा में साधारण बहुमत हासिल कर लिया. बीजेपी ने 99 सीटें जीती हैं जबकि बहुमत के लिए 92 सीटों की ही जरूरत है. वहीं कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों ने 80 सीटें जीती हैं जिसमें 77 सीटें कांग्रेस के खाते में गई हैं. राज्य में साल 2012 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 115 और कांग्रेस को 61 सीटें हासिल हुई थीं हिमाचल प्रदेश की सभी 68 विधानसभा सीटों के चुनावी नतीजे घोषित हो चुके हैं. भारतीय जनता पार्टी ने 44 सीटें जीतकर स्‍पष्‍ट बहुमत हासिल किया है जबकि कांग्रेस को 21 सीटों से संतोष करना पड़ा है. सीपीएम के खाते में एक सीट गई है और दो निर्दलीय उम्‍मीदवार भी जीते हैं. राज्‍य मेें बीजेपी के पार्टी प्रदेश इकाई अध्यक्ष को अपनी विधानसभा में हार का सामना करना पड़ा, जबकि मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल को भी हार का मुंह देखना पड़ा है. कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और निवर्तमान मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने अर्की विधानसभा पर अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप जीत दर्ज की है.

भाजपा ने जीत को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास कार्यों का नतीजा बताया, जबकि कांग्रेस को इस बात से थोड़ी राहत मिली कि गुजरात में उसकी सीटों की संख्या में इजाफा हुआ है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वस्तुत: हार स्वीकार करते हुए कहा, कांग्रेस जनादेश को स्वीकार करती है और दोनों राज्यों में बनने जा रही नयी सरकारों को बधाई देती है. पीएम मोदी ने गुजरात और हिमाचल की जनता को बधाई देते हुए कहा कहा, गुजरात और हिमाचल प्रदेश चुनाव के परिणाम से गुड गर्वनेंस और विकास की राजनीति को तगड़ा समर्थन दिखाते हैं. मैं इन राज्‍यों में कड़ी मेहनत करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं को सलाम करता हूं. भाजपा में विश्‍वास जताने के लिए मैं गुजरात और हिमाचल प्रदेश की जनता को प्रणाम करता हूं. मैं उन्‍हें विश्‍वास दिलाता हूं कि हम इन राज्‍यों की विकास-यात्रा को आगे बढ़ाने और लोगों की सेवा में कोई कसर बाकी नहीं रखेंगे. 

मोदी ने कहा  कई लोग सोचते हैं कि हम गलत दिशा में चले जाते हैं, इस प्रकार से सोचने वालों का भला नहीं होता है. जिसके लिए सोचा जाता है उनका भला नहीं होता है. देश का भी नुकसान होता है. इन चुनाव नतीजों ने एक बात सिद्ध कर दी है कि देश रिफोर्म के लिए तैयार है. जीएसटी के बाद भी बीजेपी की जीत हुई. लोकतंत्र में चुनाव सरकार के काम का लेखा जोखा होता है. हिमचाल प्रदेश में जिस तरह नतीजे दिखाए हैं, वो इस बात का सबूत हैं, कि अगर आप विकास नहीं करते हैं, तो पांच साल के बाद जनता आपको स्वीकार नहीं करती है. हिमाचल प्रदेश की जनता ने विकास के लिए वोट दिया है. गुजरात के चुनाव बीजेपी के इतिहास में ये अभूतपूर्व चुनाव हैं. आज के वातावरण में अगर कोई सराकर दोबार जीतकर आ जाए तो उसकी जीत के बहुत बड़े एडिटोरिल लिखे जाते हैं. किसी सरकार का दोबारा जीतना ये भारत के राजनीतिक विषलेशकों के लिए बहुत ही बड़ा विषय है.

मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से गुजरात के चुनाव की विजय एक डबल खुशी का विषय है. जो लंबे समय तक मुखिया रहा हो तो उसके हटने के बाद गिरावट होने की चर्चा होने लगती है, लेकिन आज मेरे लिए खुशी है कि गुजरात के कार्यकर्ताओं ने गुजरात को संभाला है, जिस तरह से नेतृत्व किया है, यह मेरे लिए डबल खुशी का विषय है. मैं गुजरात बीजेपी के नेताओं और कार्यकताओं को बधाई देता हूं. कांग्रेस के साथ कितनी ताकतें हमें गिराने में लगी थीं. 2014 के चुनाव के बाद विकास का माहौल बना है. सरकारों की प्रथमिकता विकास बनता गया है. बीजेपी अगर पसंद हो या न हो, लेकिन देश को विकास के रास्ते से भटकाने की कोशिश करने की हरकत मत कीजिए. सबका साथ सबका विकास यही मंत्र लेकर चले हैं. यह विजय जो है इसी बात को जनता की मुहर लग गई है. मैं आज यहां से विशेष रूप से गुजरात के लोगों को एक बात कहना चाहता हूं. 30  साल पहले गुजरात में जातिवाद का जहर इतना घोल दिया गया था कि उस जहर को निकालते निकालते मेरे जैसे कार्यकर्ताओं के 30 साल खप गए. तब जाकर जातिवाद के जहर से मुक्ति मिली. तब जाकर विकास में आगे चले.

गुजरात की जनता को पहले से ज्यादा जागरूक होना पड़ेगा. गुजरात के लोगों से विजय के बाद भी मैं ये कहने का साहस कर रहा हूं कि 6.5 करोड़ गुजराती एक हैं, नेक हैं, जो हुआ उसे छोड़ दो, जिसने किया उसे भूल जाओ. आओ फिर से एकता के बंधन में बंध जाएं। बीते कुछ महीनों में कुछ लोगों ने कुछ खेल खेले. आपने उन्हें सफल नहीं होने दिया. इसलिए समाज के बीच में एकता और भाईचारे को मजबूत करना है. क्योंकि गुजरात के विकास का लाभ देश को भी बहुत मिलता है. गुजरात जिस तेजी से आगे बढ़ रहा था उसी तेजी से आगे बढ़े. यह सामान्य विजय नहीं, असामान्य विजय है. एक राज्य में लगातार विजयी होना दुनिया के लिए बहुत बड़ी जीत है. हमें विजय का विकास लेकर न्यू इंडिया का सपना लेकर आगे बढ़ना है. आजाद भारत को भव्य भारत बनाने के लिए हमें जी जान से जुटने का अवसर मिला है. इसे हम सबको मिलकल आगे लेकर जाना है.

No comments:

Post a comment