मासिक करेंट अफेयर्स

24 January 2018

भारत 2018 में चीन को पछाड़कर बनेगा सबसे तेज उभरती हुई अर्थव्यवस्था

इस साल चीन को पछाड़कर भारत फिर दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन जाएगा. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) के अनुमान के मुताबिक, 2018 में चीन के 6.8 फीसद की तुलना में भारत की अर्थव्यवस्था 7.4 फीसद की दर से आगे बढ़ेगी. पिछले साल भारत की विकास दर नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने की शुरुआती दिक्कतों के चलते कम रही थी. सोमवार को जारी वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक (डब्ल्यूईओ) में आइएमएफ ने 2019 में भारत की विकास दर 7.8 फीसद रहने का अनुमान व्यक्त किया है. अक्टूबर, 2017 में जारी डब्ल्यूईओ में भी 2018 और 2019 में भारत की विकास दर का अनुमान क्रमशः 7.4 और 7.8 फीसद ही रखा गया था. 2019 में चीन की विकास दर 6.4 फीसद रहने का अनुमान है. आइएमएफ के अनुसार, उभरते बाजारों और विकासशील देशों के लिए विकास का अनुमान पहले जैसा ही बना हुआ है. 2017 की तरह ही उभरते और विकासशील एशिया में 2018-19 के दौरान अर्थव्यवस्था करीब 6.5 फीसद की दर से बढ़ेगी. वैश्विक अर्थव्यवस्था में इसकी हिस्सेदारी आधी से ज्यादा बनी रहेगी.

ग्लोबल अर्थव्यवस्था को लेकर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने चिंता जताई है. आइएमएफ का कहना है कि 2018 और 2019 में वैश्विक अर्थव्यवस्था की गति बनी रहेगी, लेकिन यह तेजी ज्यादा समय तक रहने की उम्मीद नहीं है. आइएमएफ के इकोनॉमिक काउंसलर और रिसर्च डायरेक्टर मॉरिस ऑब्स्टफेल्ड ने कहा, 'वैश्विक अर्थव्यवस्था ने गति पकड़ी है. यह अच्छी खबर है. लेकिन राष्ट्रों को ध्यान रखना होगा कि अभी तेजी के कुछ ऐसे कारक हैं, जो ज्यादा लंबे समय तक शायद नहीं बने रहेंगे. वैश्विक आर्थिक संकट हमें बहुत पीछे छूटा हुआ लग रहा है, लेकिन समावेशी विकास और बेहतर नीतियों के बिना अगला संकट बहुत जल्द आ सकता है. इससे निपटना ज्यादा मुश्किल होगा।' 2017 में ग्लोबल इकोनॉमी अनुमानित तौर पर 3.7 फीसद की दर से बढ़ी. 2018 और 2019 में यह 3.9 फीसद रह सकती है.

No comments:

Post a comment