मासिक करेंट अफेयर्स

04 January 2018

मुकेश अंबानी ने विश्व की सबसे बड़ी गैस क्रैकर रिफाइनरी आरंभ की

भारत के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के नेतृत्व में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 02 जनवरी 2018 को सौराष्ट्र स्थित जामनगर परिसर में विश्व की सबसे बड़ी गैस क्रैकर रिफाइनरी (आरओजीसी) आरंभ की. इसे रिफाइनरी आफ-गैस क्रैकर के नाम से जाना जाता है. यह पेट्रोरसायन बनाने के लिये ईंधन उत्पादन को लेकर रिफाइनरी प्रक्रिया से प्राप्त अवशेष का उपयोग करेगा. आरओजीसी 11 अरब डालर के पूंजी व्यय का हिस्सा है. कंपनी ने वैश्विक स्तर पर ऊर्जा तथा पेट्रोरसायन परियोजनाओं के विस्तार के तहत इस पूंजी व्यय की घोषणा की थी. इसके साथ कंपनी ने अरबों डालर की विस्तार योजना लगभग पूरी कर ली है. इससे कंपनी की एथेलीन क्षमता दोगुनी हो जाएगी. इसके साथ कंपनी दुनिया के शीर्ष पांच पेट्रोरसायन उत्पादकों में शामिल हो गयी है.

क्रैकर संयंत्र के चालू होने से रिलायंस इंडस्ट्रीज की पांच विनिर्माण इकाइयों की एथेलीन उत्पादन क्षमता लगभग 40 लाख टन सालाना हो गयी है. दुनिया भर में 270 एथेलीन संयंत्र हैं जिसकी संयुक्त क्षमता 17 करोड़ टन सालाना से अधिक है. आरओजीसी से प्राप्त एथेलीन का उपयोग प्रसंस्करण इकाइयों में मोनो एथोलीन ग्लाइको (एमईजी) तथा पालीथिलिन के उत्पादन में किया जाता है. इस परियोजना जारी होने के साथ ही अरबों डॉलर की विस्तार योजना लगभग पूरी कर ली है. इस परियोजना के लागू होते ही कंपनी की एथेलीन क्षमता भी दोगुनी हो गई है. मुकेश अंबानी की यह गैस क्रैकर रिफाइनरी कंपनी दुनिया की शीर्ष पांच कंपनियों में भी शामिल हो गई है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एक बयान में कहा कि इसके साथ गुजरात में जामनगर परिचालन वाली दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरी आफ गैस क्रैकर इकाई बन गयी है. कंपनी जामनगर में सबसे बड़ी पेट्रोलियम रिफाइनरी का परिचालन कर रही है जिसकी क्षमता 6 करोड़ टन सालाना है. रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बयान में कहा कि उसने रिफाइनरी एवं अन्य संबद्ध संयंत्रों के साथ सफलतापूर्वक 15 लाख टन सालाना क्षमता का आरओजीसी परिसर चालू किया है.

1 comment:

  1. Get the full details of JEE Main 2018 Answer key Career Point here. Check the ways to use the answer key in this article. The steps to download the answer key have been provided here. Advantages of using an answer key are listed here.

    ReplyDelete