मासिक करेंट अफेयर्स

20 January 2018

ब्रिटेन का एेतिहासिक फैसला, अकेलापल दूर करने का बनाया मंत्रालय

यूरोपियन यूनियन से अलग होकर अकेलापन से जूझ रहे ब्रिटेन के लोगों के लिए ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे ने एक एेतिहासिक फैसला लिया है. थेरेसा मे ने बुधवार को अपनी सरकार में एक और मंत्रालय जोड़ा जो लोगों के अकेलेपन को दूर करेगा. ब्रिटेन को इस मंत्रालय की जरूरत क्यों पड़ी इसका बड़ा रोचक इतिहास है. दरअसल ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन से निकले हुए एक साल से भी ज्यादा हो चुका है. इस दौरान ब्रिटेन में अकेलापन चर्चा का विषय बना रहा. कम से कम यूरोप के बाशिंदों का तो यही मानना है. हाल ही में आई एक रिपोर्ट ने इस पर मुहर भी लगा दी. इसके बाद ब्रिटेन पीएम मे ने आनन-फानन में minister for loneliness नियुक्त करने की घोषणा कर दी. संस्कृति मंत्री ट्रेसी क्राउच इस विभाग को संभालेंगी. 

प्रधानमंत्री मे ने अकेलेपन के मंत्रालय का ऐलान करते हुए कहा कि आधुनिक जिंदगी का खामियाजा बहुत से लोग अकेलेपन के रूप में भुगत रहे हैं. हम मिलकर इस चुनौती का सामना कर सकते हैं और ऐसे लोगों की मदद कर सकते हैं, जो किसी भी वजह से खुद को अकेला मान बैठे हैं. उन्होंने कहा कि अकेलापन इस मॉडर्न लाइफ की दुखद वास्तविकता है. मैं इस कड़वे सच का सामना करना चाहती हूं, अपने समाज के लिए और उनके लिए जिन्होंने हमारा ध्यान इस परेशानी की ओर डाला है. वो व्यक्ति जो अपनों को खो चुके हैं, वो जिनके पास बात करने को कोई नहीं हैं, वो अपने अनुभवों और अपने मन में आने वाली बातों को इनके साथ बांट सकते हैं.

2017 की कमिशन ऑन लोनलिनैस की रिसर्च के अनुसार पाया गया कि ब्रिटेन में 90 लाख से ज्यादा लोग सबसे ज्यादा या हमेशा अकेलापन महसूस करते हैं. रिसर्च में ये भी सामने आया कि लगभग 2 लाख बुजुर्गों ने महीनेभर से भी ज्यादा वक्त से किसी दोस्त या करीबी से बात नहीं की और ऐसा अक्सर होता रहता है, जिसका नतीजा कई गंभीर बीमारियों के रूप में सामने आता है. रिपोर्ट के अनुसार, अकेलापन लोगों के स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव डालती है और यह एक दिन में 15 सिगरेट पीने जितना खतरनाक है.
 

No comments:

Post a comment