मासिक करेंट अफेयर्स

17 January 2018

एआईसीटीई ने देशभर के सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट के प्रस्ताव को मंजूरी दी


शैक्षणिक सत्र 2019-20 से देशभर के सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में छात्रों का दाखिला एक ही एंट्रेंस एग्जाम के जरिए हो सकता है. केंद्र सरकार सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट लागू करने पर गंभीरता से विचार कर रही है. अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) के उपाध्यक्ष डॉ एम पी पुनिया ने कहा कि ‘नेशनल एंट्रेंस एग्जाम फॉर टेक्निकल इंस्टीट्यूशन’ (नीटी) को लागू करने की योजना पर सरकार व परिषद काम कर रही है. इसे आयोजित कराने की जिम्मेदारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की होगी, जिसका गठन इस साल होने की पूरी उम्मीद है. उन्होंने कहा, ‘जिस प्रकार देशभर के मेडिकल कॉलेज में दाखिले के लिए ‘नीट’ का आयोजन होता है, उसी प्रकार इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए ‘नीटी’ आयोजित करने पर योजना पर काम चल रहा है.

उन्होंने कहा की एआईसीटीई ने इस प्रस्ताव पर अपनी मंजूरी दे दी है. साथ ही तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल को छोड़कर सभी राज्यों ने भी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट के लिए सहमति दे दी है. गेंद अब केंद्र सरकार के पाले में है. अगर सरकार इस पर अपनी सहमति देती है तो वर्ष 2019 में इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट आयोजित होगा. उन्होंने कहा की अभी देशभर के तकनीकी विश्वविद्यालयों में स्नातक इंजीनियरिंग (बीई/बीटेक) कोर्स में काफी भिन्नता है. इसे एक समान करने की दिशा में भी सरकार और परिषद काम कर रही है.

No comments:

Post a comment