मासिक करेंट अफेयर्स

04 February 2018

भारत ने रिकार्ड चौथी बार अंडर 19 विश्व कप जीत रचा इतिहास, कालरा बने 'मैन ऑफ द मैच '

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हराकर रिकार्ड चौथी बार अंडर 19 विश्व कप जीत कर इतिहास रच दिया.  अंडर 19 क्रिकेट टीम ने  'गुरू' राहुल द्रविड़ को उनके कोचिंग कैरियर की सबसे बड़ी कामयाबी से नवाजा. भारतीय गेंदबाजों ने उम्दा प्रदर्शन करते हुए आस्ट्रेलिया को 216 रन पर आउट कर दिया. जवाब में भारत ने सिर्फ दो विकेट खोकर 38.5 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया. दिल्ली के मनजोत कालरा ने 102 गेंद में नाबाद 101 रन बनाये जबकि कप्तान पृथ्वी शॉ और टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले शुभमान गिल आज जल्दी आउट हो गए थे. भारत ने चौथा खिताब जीतकर आस्ट्रेलिया को पछाड़ा जिसके नाम तीन खिताब हैं. यह प्रदर्शन कोच द्रविड़ को भी शानदार तोहफा रहा जिन्हें आखिरकार विश्व कप ट्राफी अपने नाम करने का मौका मिला. दो साल पहले बांग्लादेश में टीम उपविजेता रही थी. भारत ने छह साल पहले उन्मुक्त चंद की अगुवाई में यह खिताब जीता था. विराट कोहली ने 2008 और मोहम्मद कैफ ने 2000 में खिताबी जीत दिलाई थी.
 
इस बार भारत शुरू ही से प्रबल दावेदार माना जा रहा था और प्रदर्शन भी उसी तरह का रहा. दूसरी टीमों और भारत के प्रदर्शन में जमीन आसमान का अंतर था. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 47.2 ओवर में केवल 216 रन पर ढेर हो गई. शुरुआत में दो झटके खाने के बाद बीच में ऑस्ट्रेलियाई टीम की बल्लेबाजी संभली थी तब ऐसा लग रहा था कि स्कोर 270 रन के पार जाएगा लेकिन भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन ने कंगारू बल्लेबाजों को पिच पर नहीं टिकने दिया और पूरी टीम को सस्ते में समेट दिया. भारत के लिए शिवा सिंह, ईशान पोरेल, कमलेश नागरकोटी और अनुकूल रॉय ने 2-2 और शिवम मावी ने 1 विकेट हासिल किया. भारत की तरफ से शॉ ( 29 ) और गिल ( 31 ) के विकेट जल्दी गंवाने के बाद हार्विक देसाइ ( नाबाद 47 ) और कालरा ने 86 रन की साझेदारी करके टीम को जीत तक पहुंचाया. आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में 86 रन बनाने वाले कालरा ने एक बार फिर उम्दा पारी खेली. उसने अपनी पारी में आठ चौके और तीन छक्के लगाये. जैसे ही देसाइ ने विजयी चौका जड़ा, भारतीय खिलाड़ी मैदान पर उमड़ पड़े और दर्शक दीर्घा में चहुंओर तिरंगा लहराता दिखाई दिया. कालरा को उनके शानदार शतक के लिए मैन ऑफ द मैच और शुभमन गिल को मैन ऑफ द सीरीज घोषित किया गया.

मालूम हो कि भारत और ऑस्ट्रेलिया ने अब तक तीन-तीन बार वर्ल्ड कप अपने नाम किया है. दोनों टीमें इस बार चौथे खिताब के लिए आमने-सामने थी. भारतीय टीम ने 2000, 2008 और 2012 में  खिताब अपने नाम किया था. वहीं, ऑस्ट्रेलिया ने 1998, 2002 और 2010 में ये खिताब जीता था.
 

No comments:

Post a comment