मासिक करेंट अफेयर्स

25 February 2018

भारत का पहला 5जी का हुआ सफल परीक्षण, 3जीबीपीएस से ज्‍यादा की स्‍पीड मिली

चीनी प्रौद्योगिकी दिग्गज हुआवेई और दूरसंचार सेवा प्रदाता भारती एयरटेल ने शुक्रवार को भारत में 5जी नेटवर्क के सफल परीक्षण की घोषणा की. कंपनी ने एक बयान में कहा कि यह परीक्षण एयरटेल के मानेसर (गुरुग्राम) स्थित नेटवर्क एक्सपीरिएंस केंद्र में किया गया. भारती एयरटेल के निदेशक (नेटवर्क्‍स) अभय सावरगांवकर ने कहा, “हम 5जी इंटेरोपेराबिलिटी और विकास परीक्षण (आईओडीटी) और भागीदारी की तरफ तेजी से बढ़ रहे हैं. हम भारत में एक मजबूत 5 जी पारिस्थितिकी तंत्र विकसित करने के लिए अपने भागीदारों के साथ मिलकर काम करने की आशा करते हैं.” 
 
कंपनी ने बताया कि परीक्षण के दौरान 3जीबीपीएस से अधिक की स्पीड दर्ज की गई. यह 3.5 गीगाहट्र्ज बैंड पर 100 मेगाहट्र्ज बैंडविथ के साथ प्राप्त की गई अधिकतम स्पीड है जिसकी एंड-टू-एंड नेटवर्क लेटेंसी करीब एक मिलीसेकेंड रही. हुआवेई एचक्यू के निदेशक (वायरलेस मार्केटिंग) इमैनुएल एल्व्स ने कहा, “हम 5जी पारिस्थितिक तंत्र की तैनाती पर ध्यान दे रहे हैं और भारती एयरटेल के साथ 3.5 गीगाहट्ज बैंड पर 5जी की क्षमता का प्रदर्शन इसे शानदार ढंग से दर्शाता है.” 
 आपको बता दें की अभी हाल ही में संचार प्रौद्योगिकी की प्रमुख वैश्विक कंपनी एरिक्सन ने भी पहली बार 5जी तकनीक का एंड-टू-एंड प्रदर्शन किया. इस टेस्ट में एरिक्सन ने 5जी टेस्टको बेड और 5जी न्यू रेडियो के द्वारा किया. जिसमें पाया गया कि महज 3 मिली सेकेंड में इसकी स्पीड 5.7 गीगा बाइट पर सेकेंड है. वहीं एरिक्सन के अध्ययन के अनुसार, 5जी तकनीक में भारतीय दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के लिए साल 2026 तक 27.3 अरब राजस्व पैदा करने की क्षमता है. इतना ही नहीं एरिक्सन के दक्षिण-पूर्व एशिया, प्रशांत क्षेत्र और भारत के बाजारों के प्रमुख नुनजियो मिर्तिलो ने इस कहा है कि  “हम देश में पहले 5जी प्रदर्शन के आधार पर भारतीय बाजार के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत कर रहे हैं. वहीं सरकार ने 2020 तक देश में 5जी सर्विस को पेश करने की योजना बनाई है.

No comments:

Post a comment