मासिक करेंट अफेयर्स

23 February 2018

खादी के उत्पादों की होगी ऑनलाइन बिक्री, योगी सरकार ने अमेजऩ इंडिया के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किया

उत्तर प्रदेश के खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड ने खादी उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री की सुविधा के लिए अमेज़ॅन इंडिया के साथ समझौता किया है. अमेज़ॅन इंडिया, ग्रामीण खादी कारीगरों को शिक्षित, प्रशिक्षित करने और यूपी खादी के ब्रांड के तहत देश भर में अपने उत्पादों को सीधे Amazon.in पर बेचने में करने के लिए कार्य करेगा. खादी के उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री के लिए मशहूर अमेजऩ इण्डिया के निदेशक गोपाल पिल्लई तथा खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए. ऑनलाइन पोर्टफोलियों में खादी शर्ट, कुर्ता, धोती, तौलिया तथा स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ जैसे उत्पाद शामिल होंगे, जिसकी शहरी क्षेत्रों में भारी मांग तथा संभावनायें हैं. इस मौके पर खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा कि खादी के उत्पादों को लोकप्रिय बनाने के लिए सरकार पूरी तरह कृत संकल्प है. सरकार का प्रयास है कि खादी एवं ग्रामोद्योग क्षेत्र के समग्र विकास में बेरोजगारों को बड़ी संख्या में जोड़ा जाय और वे इसके माध्यम से रोजगार के अवसर प्राप्त कर आर्थिक रूप से समृद्ध हो सकें. 
 
उन्होंने खादी के इतिहास में  स्मरणीय बताते हुए कहा कि समिट के ठीक पहले खादी बोर्ड के साथ एमओयू हस्ताक्षरित होने से स्पष्ट है कि अब बड़ी कम्पनियां उत्तर प्रदेश में अपना व्यापार शुरू करने के लिए काफी उत्सुक हैं. उन्होंने कहा कि अभी तक देश-दुनिया में खादी की पहचान खादी इण्डिया के नाम से थी. अब लोग उत्तर प्रदेश के खादी उत्पाद को यूपी खादी के ब्रांड के नाम से जानेंगे. उन्होंने कहा कि जिस तरह उत्तर प्रदेश के हैण्डलूम और पावरलूम की मांग दुनिया के अनेक देशों है. उसी प्रकार अब खादी एवं ग्रामोद्योग के उत्पादों को भी विश्व में ख्याति हासिल होगी. अमेजऩ के माध्यम से विदेशों में बैठे लोग आसानी से खादी के उत्पाद खरीद सकेंगे.  

No comments:

Post a Comment