मासिक करेंट अफेयर्स

15 March 2018

आईसीआईसीआई बैंक ने देश की पहला ऑनलाइन एवं इंस्टैंट ओवरड्राफ्ट सुविधा लॉन्च की

समेकित परिसंपत्तियों की दृष्टि से भारत के निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक, आईसीआईसीआई बैंक ने एमएसएमई ग्राहकों (सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों) के लिए इंस्टैंट ओवरड्राफ्ट सुविधा लॉन्च की. इसकी प्रक्रिया पूर्णतः ऑनलाइन और कागजी कार्रवाई-रहित है. इसे ‘इंस्टाओडी’ नाम दिया गया है. भारतीय बैंकिंग उद्योग की अपने तरह की इस पहली पेशकश के जरिए बैंक के लाखों, पूर्व-पात्रता हासिल (प्री-क्वालिफाइड) चालू खाताधारक ग्राहक, बिना शाखा गये और बिना भौतिक रूप में कोई कागजी दस्तावेज जमा किये ओवरड्राफ्ट की सुविधा हासिल कर सकते हैं. यह सुविधा ग्राहकों की सहूलियत को काफी बढ़ा देती है, चूंकि वे बैंक के इंटरनेट व मोबाइल बैंकिंग ऐप्प का उपयोग कर किसी भी समय, कहीं भी एक वर्ष के लिए 15 लाख रु. तक की ओवरड्राफ्ट की सुविधा हासिल कर सकते हैं. आवेदन प्रक्रिया में सत्यापन का एक और स्तर शामिल किया गया है, ताकि प्रक्रिया की सुरक्षा को मजबूत बनाया जा सके.

आईसीआईसीआई बैंक शीघ्र ही अन्य बैंकों के एमएसएमई ग्राहकों के लिए भी ओवरड्राफ्ट की ऑनलाइन स्वीकृति की सुविधा उपलब्ध करायेगा. इस पहल के बारे में, आईसीआईसीआई बैंक के कार्यकारी निदेशक, अनूप बागची ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई बैंक ‘रेडी फॉर यू, रेडी फॉर टुमॉरो’ (आपके लिए तैयार, कल के लिए तैयार) की फिलॉसफी में विश्वास रखता है. यहां हम अपने ग्राहकों को अधिक से अधिक सुविधा के साथ तीव्रतम गति से खोजपरक उत्पाद एवं सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए वचनबद्ध हैं. ‘इंस्टाओडी’ को शुरू किया जाना इसी सोच का परिणाम है. हमें विश्वास है कि अपनी तरहे कि इस एक अलग पेशकश से हमारे ग्राहकों को अनूठा अनुभव प्राप्त होगा. भारतीय अर्थव्यवस्था में उछाल को देखते हुए, ओवरड्राफ्ट की यह सुविधा एमएसएमई कंपनियों को आसानी से अपना व्यवसाय बढ़ाने में मदद करेगी., इस सुविधा को शुरू किये जाने के महज कुछ दिनों के भीतर ही हमें उत्साहजनक प्रतिक्रिया देखने को मिली है. हमारी योजना दूसरे बैंकों के एमएसएमई ग्राहकों के लिए भी ओवरड्राफ्ट की ऑनलाइन स्वीकृति की सुविधा लाने की है.’’

आवेदन करने के लिए, ग्राहक अपने कॉर्पोरेट इंटरनेट बैंकिंग (सीआईबी) खाते या व्यवसायों के लिए आईबिज मोबाइल एप्लिकेशन के जरिए या सीधे बैंक की वेबसाइट पर जाकर लॉग-इन कर सकते हैं, जहां उन्हें ओवरड्राफ्ट सुविधा हासिल करने का विकल्प दिखाई देगा. वे आवश्यक सीमा को सेलेक्ट कर सकते हैं, पहले से भरे हुए व्यक्तिगत जानकारी पृष्ठ पर अपने ब्यौरों की पुष्टि कर सकते हैं और आवेदन को जमा कर सकते हैं. इसके साथ, ग्राहक तत्काल ओवरड्राफ्ट का उपयोग करना शुरू कर सकते हैं. ग्राहक द्वारा इन प्रक्रिया को कुछ मिनटों में ही आसानी से पूरा किया जा सकता है. ओवरड्राफ्ट सुविधा को चुकाने के ट्रैक रिकॉर्ड के अनुसार, ओवरड्राफ्ट को वार्षिक आधार पर रिन्यू किया जा सकता है. यह पहल, ऋण एवं निवेश जगत में ‘तुरंत’ डिजिटल सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए बैंक द्वारा शुरू की गई विभिन्न पहलों का एक हिस्सा है. इन सेवाओं में देश का पहला इंस्टैंट क्रेडिट कार्ड, एक प्रमुख भुगतान प्लेटफॉर्म के साथ इंस्टैंट स्मॉल टिकट डिजिटल ऋण एवं पब्लिक प्रोविडेंट फंड को तुरंत खोलने की सुविधा शामिल हैं. बैंक ने एटीएम के जरिए व्यक्तिगत ऋणों का तुरंत संवितरण और नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) के लिए डिजिटल पंजीकरण भी शुरू किया.

No comments:

Post a comment