मासिक करेंट अफेयर्स

20 March 2018

नई दिल्ली में आयोजित अनौपचारिक विश्व व्यापार संगठन मंत्रीस्तरीय बैठक

दो दिवसीय अनौपचारिक विश्व व्यापार संगठन (WTO) मंत्रीस्तरीय बैठक के लिए नई दिल्ली में 50 देशों के प्रतिनिधि एकत्र हुए. वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अनुसारदो दिवसीय अनौपाचारिक बैठक मुक्त और बेबाक चर्चा को बढावा देगी, जिससे बड़े मुद्दों का राजनीतिक हल निकालने का रास्ता मिल पायेगा. विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के महानिदेशक रॉबर्टो एजेवेदो ने कहा कि यहां शुरू दो दिवसीय लघु मंत्री स्तरीय बैठक में चर्चा से बहुपक्षीय व्यापार संगठन की जिम्मेदारियों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी. यह बैठक 19-20 मार्च को हो रही है. भारत अनौपचारिक रूप से डब्ल्यूटीओ के सदस्यों की लघु मंत्री स्तरीय बैठक की मेजबानी कर रहा है. इसमें 50 देशों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं.

हालांकि बैठक में कोई निश्चित एजेंडा नहीं है, लेकिन अमेरिकी सरकार द्वारा इस्पात तथा एल्युमीनियम परशुल्क बढ़ाने के फैसले तथा निर्यात संवद्र्धन कार्यक्रम को लेकर भारत के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में जाने के मद्देनजर यह काफी महत्वपूर्ण है. एजेवेदो ने   कहा, ‘‘हम डब्ल्यूटीओ तथा बाहर कई चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. इस समय वैश्विक स्तर पर व्यापार माहौल काफी जोखिमपूर्ण है. हम यहां डब्ल्यूटीओ की अनौपचारिक बैठक में एक खुली और ईमानदार चर्चा करेंगे.’’ उन्होंने कहा कि इसके परिणाम जिनेवा में चीजों को आगे बढ़ाने के लिए होने वाली बैठक के लिए उपयोगी होंगे. डब्ल्यूटीओ प्रमुख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य मंत्रियों से मुलाकात करने वाले हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे समक्ष काफी महत्वपूर्ण चुनौती है. हमारे पास विवाद निपटान प्रणाली है. अपीलीय सदस्यों की नियुक्ति में बाधा के कारण कुछ समस्याएं हैं. नई दिल्ली में बातचीत में इस मुद्दे पर जोर होगा.’’ वाणिज्य मंत्रालय ने कहा है कि बैठक से मुक्त और निष्पक्ष बातचीत का मौका मिलेगा और उम्मीद है कि यह कुछ प्रमुख मुद्दों पर राजनीतिक दिशानिर्देश उपलब्ध कराएगी.       

No comments:

Post a comment