मासिक करेंट अफेयर्स

07 March 2018

कॉनराड संगमा ने मेघालय के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली

नैशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) प्रमुख कोनराड संगमा ने मंगलवार को मेघालय के 12वें मुख्यमंत्री पद के रूप में शपथ ले ली है. शपथ ग्रहण समारोह में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद रहे. सीएम संगमा के अलावा 6 अन्य विधायकों को भी मंत्री पद की शपथ दिलाई गई. 6 मंत्रियों में एनपीपी के दो (प्रिसटन तिनसांग और जेम्स संगमा) और बीजेपी के एक (एएल हेक) शामिल हैं. सीएम बनने के बाद कोनराड संगमा ने कहा, 'हम अपने गुड गवर्नेंस के अजेंडे पर बरकरार हैं, कई सेक्टर्स में विशेष ध्यान दिए जाने की जरूरत है. असली चुनौती और काम आज से ही शुरू हो गया है. हम अपने राज्य को आगे ले जाने के लिए काम करेंगे.' संगमा ने रविवार शाम को राज्यपाल से मुलाकात कर 60 सदस्यीय विधानसभा में 34 विधायकों के समर्थन के साथ राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया था. जिसमें एनपीपी के 19, यूनाइटेड डेमोक्रैटिक पार्टी (यूडीपी) के 6, पीपल्स डेमोक्रैटिक फ्रंट (पीडीएफ) के 4, हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रैटिक पार्टी (एचएसपीडीपी) और बीजेपी के दो-दो और एक निर्दलीय विधायक शामिल हैं. 
 
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और लोकसभा अध्यक्ष रहे पीए संगमा के बेटे कोनराड का जन्म 27 जनवरी 1978 को वेस्ट गारो हिल्स जिले में हुआ था. पढा़ई पूरी करने के बाद 1990 में विरासत में मिली राजनीति को आगे बढ़ाते हुए संगमा ने अपने पिता के प्रचार प्रबंधक के तौर पर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की. राजनीति की पिच पर बेहतरीन पारी खेलने वाले कोनराड संगमा पढ़ाई में भी अव्वल रहे हैं. दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा लेने के बाद उन्होंने उच्च शिक्षा की डिग्री यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन और यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया से ली है. 2008 के विधानसभा चुनाव में पहली बार विधायक चुने गए. इस दौरान उन्होंने सूबे में कई अहम मंत्रालयों को संभाला. सबसे युवा वित्त मंत्री भी बने. यही नहीं वित्त मंत्री चुने जाने के 10 दिन के भीतर ही उन्होंने मेघालय सरकार का बजट भी पेश किया था. वर्ष 2009 से वर्ष 2013 तक कोनराड संगमा मेघालय विधानसभा में विपक्ष के नेता रहे. फिलहाल अपने पिता पीए संगमा के निधन के बाद उनकी खाली हुई तुरा सीट से वह लोकसभा सांसद हैं.

No comments:

Post a comment