मासिक करेंट अफेयर्स

23 March 2018

केरल ने कटहल को राज्य का अधिकारिक फल घोषित किया

केरल सरकार ने 21 मार्च को कटहल को अपना आधिकारिक फल घोषित किया. कटहल जो सब्ज़ी भी है, फल भी है और मिठाई भी. कृषि मंत्री वी एस सुनील कुमार ने राज्य विधानसभा में इस संबंध में आधिकारिक घोषणा की. उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य देशभर में और विदेशों के बाजारों में केरल के कटहल को एक ब्रांड के रूप में बढ़ावा देकर इसके जैविक और पौष्टिक गुणों को प्रदर्शित करना है. राज्य में हर साल लगभग32 करोड़ कटहल का उत्पादन किया जाता है जिसमें से30 प्रतिशत व्यर्थ हो जाता है. उन्होंने कहा कि कटहल और इससे संबद्ध उत्पादों की बिक्री से 15 हजार करोड़
रुपये का कुल राजस्व मिलने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि यह फैसला राज्य के कृषि विभाग के प्रपोजल के बाद लिया गया. विधानसभा ने कृषि मंत्री ने कहा कि कटहल को राज्य का आधिकारिक फल घोषित करने के पीछे उद्देश्य के पीछे इसकों देश और विदेश के बाजारों में एक ब्रांड के रूप में बढ़ावा देना है. जो कि अपने जैविक और पौष्टिक गुणों के लिए जाना जाता है.

कृषि मंत्री ने कहा कि ऐसा करने से फल के उत्पादन और बिक्री को बढ़ावा मिलेगा. इसके साथ-साथ इसके मूल्यों में वृद्धि होगी. कृषि मंत्री ने विधानसभा में बताया कि राज्य में हर साल लगभग 32 करोड़ कटहल का उत्पादन किया जाता है. इसमें 30 प्रतिशत खराब हो जाते हैं. उन्होंने कहा कि कटहल और इससे संबद्ध उत्पादों की बिक्री से 15 हजार करोड़ रुपए का राजस्व मिलने की संभावना है. कृषि मंत्री ने कहा कि केरल के कटहल जैविक होने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी है. इसके उत्पादन में किसी भी प्रकार की रासायनिक खाद या कीटनाशक दवाईयों का इस्तेमाल भी नहीं किया जाता है.

No comments:

Post a comment