मासिक करेंट अफेयर्स

04 April 2018

ममता सरकार ने गरीब लड़कियों के लिए शुरू की ‘रूपश्री’ योजना

पढ़ाई छोड़कर घर चलाने के कामों में लग जाने वाली बच्चियों को वापस स्कूल भेजने के लिए ममता बनर्जी सरकार द्वारा लागू की गई कन्याश्री योजना की विश्वभर में सराहना के बाद अब लड़कियों की शादी के लिए रूपश्री योजना भी लागू कर दी गई है. राज्य सरकार की ओर से इससे संबंधित आवेदन फार्म प्रत्येक जिले की नगर पालिकाओं व बीडीओ कार्यालयों में भेजे जा रहे हैं. इसके तहत 18 वर्ष के बाद विवाह की उम्र की गरीब लड़कियों के आवेदन पर उनकी शादी के लिए 25 हजार रुपये की मदद राज्य सरकार करेगी. इसकी जानकारी वित्त विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी.
उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल सरकार ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की स्वप्न परियोजना ‘रुपश्री’ योजना को शुरू किया है, जो गरीब बच्चियों के विवाह के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करता है.


उन्होंने कहा कि ‘रुपश्री’ योजना के लिए आवेदन फार्म इस सप्ताह के अंत तक राज्यभर में उपलब्ध कराया गया है. ‘रुपश्री’ योजना मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी ‘कन्याश्री’ परियोजना का अनुसरण करती है, जिसने वैश्विक वाहवाही पाई है. नवीनतम ‘रुपश्री’ योजना के लिए, एक युवती को अपने विवाह से पहले आवेदन पत्र भरना होगा और उसे ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर (बीडीओ) या नगर पालिका कार्यालय में जमा करना होगा. इस परियोजना के लिए 1500 करोड़ रुपये की राशि इस वित्तवर्ष में राज्य सरकार ने आवंटित की है. उम्मीद है कि आर्थिक रूप से गरीब परिवारों की छह लाख युवतियों की शादी में इससे मदद की जा सकेगी. 

वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ‘कन्याश्री’ योजना जिसके अंतर्गत लाभार्थी को 500 रुपये की वार्षिक छात्रवृत्ति दी जाती है और किशोरों की आयु वर्ग के लड़कियों की स्कूली शिक्षा को प्रोत्साहित करने और 18 साल की उम्र तक अपने विवाह में देरी करने पर 25,000 रुपये का एक बार अनुदान दिया जाता है. नवीनतम ‘रूपश्री’ योजना के लिए युवतियों को अपने विवाह से पहले आवेदन पत्र भरना होगा और उसे ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर (बीडीओ) या नगर पालिका कार्यालय में जमा करना होगा. इसके बाद 25,000 रुपये की राशि उसके विवाह से पहले उसके दिए गए बैंक खाते में जमा की जाएगी.

No comments:

Post a comment