मासिक करेंट अफेयर्स

04 April 2018

सीएम योगी ने देश की सबसे लंबी एलिवेटेड रोड का किया उद्घाटन

सीएम योगी ने शुक्रवार को गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) द्वारा यूपी गेट से करहेड़ा तक बनी छह लेन एलिवेटेड रोड का उद्घाटन किया. बताया जा रहा है कि यह देश की सबसे लंबी एलिवेटेड रोड है. इसकी लंबाई 10.30 किमी है. इसके निर्माण पर 1248 करोड़ की लागत आई. चंडीगढ़, नोएडा और बेंगलुरु शहर में एलिवेटेड रोड की लंबाई गाजियाबाद से कम है. जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी का दावा है कि इस रोड पर यातायात संचालन बेहद सुरक्षित और सुहाना होगा. मेरठ, हरिद्वार और देहरादून की तरफ जाने वाले लाखों वाहन चालकों को इसका लाभ मिलेगा. इस
सड़क के शुरू होने से शहर से जाम की समस्या भी काफी हद तक खत्म हो जाएगी. 

इस मौके पर उन्‍होंने कई नई परियोजनाओं का शिलान्‍यास रखा. साथ ही पूरी हो चुकी कई योजनाओं का शुभारंभ भी किया. इन सभी योजनाओं की लागत तकरीबन तीन हजार करोड़ रुपये है. उद्धाटन के बाद कविनगर रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री जनसभा को संबोधित किया. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी ने पूर्ववर्ती सपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि एलिवेटेड रोड का काम भले ही 2014 में शुरू हो गया हो लेकिन यदि एलिवेटर सरकार रहती तो यह काम कभी पूरा नहीं होता. सपा सरकार ने कमीशनबाजी के चक्कर में रेलवे से बगैर अनुमति लिए पर्यावरण मंत्रालय की भी अनुमति नहीं ली और काम शुरू कर दिया. भाजपा सरकार ने नए सिरे से इस रोड का काम शुरू कराया. योगी सरकार ने पूर्ववर्ती सपा सरकार पर कमीशनखोरी का आरोप लगाते हुए कहां की नोएडा ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस वे विकास प्राधिकरण में पौने दो लाख घर ऐसे थे जिनका पजेशन कमीशनखोरी के चलते नहीं मिल पा रहा था उन्होंने कहा कि हमने आकर काम कराया और अगले महीने तक हम इनमें से 50000 घर लोगों को हैंड ओवर कर देंगे.

बता दें कि उद्घाटन सभी योजनाओं की एक डोक्योमेन्टरी भी चलाई गई. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कौशल विकास योजना के तहत नौकरी दिए जाने वाले लाभार्थियों को जॉब लेटर बांटे. मुख्यमंत्री ने आरोग्यम एप का भी लोकार्पण किया. योगी आदित्यनाथ पिछले सात महीने में तीसरी बार गाजियाबाद आए. पिछले साल विधानसभा चुनाव प्रचार को भी शामिल कर लिया जाए तो यह उनका चौथा दौरा है. मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार योगी आदित्याथ पिछले साल 31 अगस्त को कैलाश मानसरोवर भवन का शिलान्यास करने आए थे. इसके ढाई महीने बाद मुख्यमंत्री 18 नवंबर को स्थानीय निकाय चुनाव में भाजपा के लिए प्रचार करने आए थे.

No comments:

Post a comment