मासिक करेंट अफेयर्स

25 April 2018

राष्‍ट्रीय पंचायती राज दिवस पर मोदी ने की राष्‍ट्रीय ग्रामीण स्‍वराज अभियान की शुरूआत

राष्‍ट्रीय पंचायती राज दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राष्‍ट्रीय ग्राम स्‍वराज अभियान का शुभारंभ किया. इसमें ई-पंचायत मिशन परियोजना के तहत ई-प्रशासन के लिए प्रशिक्षण, बुनियादी ढांचागत सुविधाओं के निर्माण और प्रयासों को बढ़ावा देना है. मोदी ने मनेरी में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के एलपीजी सिलेण्‍डरों में गैस भरने के संयंत्र की आधारशिला पट्टिका का भी अनावरण किया. उन्‍होंने प्राचीन जनजातीय संस्‍कृति और धरोहर के संरक्षण के लिए तीन दिन के आदि महोत्‍सव का भी उद्घाटन किया. प्रधानमंत्री ने राज्‍य में जनजातीय इलाकों के विकास के लिए प्रारूप भी प्रस्‍तुत किया. प्रधानमंत्री ने आदि संस्‍कृति और धरोहर के संरक्षण के उद्देश्‍य से आयोजित रामनगर में तीन
दिवसीय आदि संस्‍कृति महोत्‍सव का शुभारंभ किया.

मोदी ने जनजातीय समुदाय के समग्र विकास के लिए बनाए गए रोड़ मैप का विमोचन भी किया. इसके तहत आदिवासी जनजातीय क्षेत्रों के विकास के लिए अगले पांच साल में दो लाख करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे. श्री मोदी ने इस वर्ष शुरू किया गया ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्‍कार तीन राज्‍यों पश्चिम बंगाल, कर्नाटक और सिक्किम को प्रदान किया. उन्‍होंने धुंआ रहित रसोई घर, मिशन इंद्रधनुष के तहत टीकाकरण और सौभाग्‍य योजना के तहत विद्युतीकरण का शत-प्रतिशत लक्ष्‍य हासिल करने वाले तीन गांवों की सरपंचों को भी सम्‍मानित किया.

मध्यप्रदेश के मंडला में देशभर से आये पंचायती राज प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने महात्‍मा गांधी के ग्रामोदय से राष्‍ट्रोदय और ग्राम स्‍वराज को याद किया. उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर मध्‍यप्रदेश आकर वह खुशी महसूस कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि महात्‍मा गांधी हमेशा गांवों के महत्‍व पर जोर देते थे और ग्राम स्‍वराज की बातें किया करते थे. उन्‍होंने सभी लोगों से गांवों की सेवा करने का संकल्‍प लेने का आग्रह किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब ग्रामीण विकास की बातें होती है, तो बजट महत्‍वपूर्ण हो जाता है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में इस संबंध में स्थितियां बदली हैं. लोग अब यह सुनिश्चित करने की जरूरत के बारे में बातें करने लगे है कि परियोजना के लिए आवंटित राशि का इस्‍तेमाल हो और योजना समय पर पार‍दर्शिता के साथ सम्‍पन्‍न हो.

मोदी ने लोगों से अपने बच्‍चों की पढ़ाई पर जोर देने का आग्रह किया और कहा कि बच्‍चों के भविष्‍य के लिए यह आवश्‍यक है. प्रधानमंत्री ने कृषि क्षेत्र में आत्‍मनिर्भरता के लिए कोशिश करने पर जोर दिया. उन्‍होंने पंचायत जनप्रतिनिधियों से जल संरक्षण पर ध्‍यान देने का आग्रह किया. उन्‍होंने कचरे को ऊर्जा में बदलने के अलावा वित्‍तीय समावेश के लिए जन-धन योजना, जनजातीय समुदायों के सशक्तिकरण के लिए वन-धन योजना और किसानों को अधिक आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए गोबर-धन योजना के महत्‍व के बारे में बताया. प्रधानमंत्री ने कहा कि गांवों में बदलाव से ही भारत की कायापलट को सुनिश्चित किया जाएगा. प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि केन्‍द्र सरकार द्वारा उठाये गये हाल के कदम महिला सुरक्षा की दिशा में लाभकारी होंगे.

No comments:

Post a comment