11 May 2018

यापार आशावाद सूचकांक 2018 की पहली तिमाही में वैश्विक स्तर पर भारत 6 वें स्थान पर

भारत 2018 की पहली तिमाही में ग्रांट थॉर्नटन की अंतर्राष्ट्रीय व्यापार रिपोर्ट (आईबीआर) के एक भाग के रूप में जारी वैश्विक आशावाद सूचकांक में 6 वें स्थान पर रहा. यह रिपोर्ट विश्व की 37 अर्थव्यवस्थाओं के 2,500 व्यवसायों के सर्वेक्षण के परिणामों के आधार पर तैयार की गई थी. ऑस्ट्रिया, फिनलैंड, इंडोनेशिया, नीदरलैंड और अमेरिका इसमें शीर्ष पांच राष्ट्र हैं. 89 के स्कोर वाले भारत को इंडेक्स में छठे स्थान पर स्थान मिला. 

भारत चार साल तक चार्ट में सबसे ऊपर रहा है, लेकिन भारत में व्यापार आशावाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली मौजूदा सरकार के अंतिम वर्ष में प्रवेश करते समय बिगड़ गया. भारत का व्यापार आशावाद अन्य मानकों में जैसे राजस्व, कीमत, लाभप्रदता,
रोजगार और निर्यात अपेक्षाओं सहित बिक्री आदि में दर्शाया जाता है.

No comments:

Post a Comment