मासिक करेंट अफेयर्स

27 May 2018

उत्तराखंड में 'राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव' के 9वें संस्करण का उद्घाटन किया गया

संस्कृति मंत्रालय ने 3 दिवसीय विविध सांस्कृतिक त्यौहार 'राष्ट्रीय संस्कृत महोत्सव' त्यौहार का आयोजन किया जिसका उद्घाटन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, त्रिवेन्द्र सिंह रावत, उत्तराखंड के टिहरी झील के पास किया गया. यह इस त्यौहार का नौवां संस्करण है. राष्ट्रीय संस्कार महोत्सव की कल्पना वर्ष 2015 में संस्कृति मंत्रालय द्वारा की गयी थी, जब मंत्रालय ने इसके समृद्ध और विविध आयामों का देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को प्रदर्शित करने के इरादे से इसे व्यवस्थित करने का निर्णय लिया था.


राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का मुख्य उद्देश्य भारतीय संस्कृति की समृद्ध विविधता और विशिष्टता को प्रस्तुत करना, राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने के लिए राज्यों के बीच सांस्कृतिक जुड़ाव को बढ़ावा देना और संस्कृति के एकमात्र धागे से देश के अन्य हिस्सों के कलाकारों को उत्तराखंड के लोगों से जोड़ना है. महोत्सव का उद्देश्य भारतीय संस्कृति की विरासत और सांस्कृतिक विविधता का संरक्षण, संवर्धन एवं इसे लोकप्रिय बनाना और नई पीढ़ी को भारतीय संस्कृति से जोड़ना है. महोत्सव में फूड फेस्टिवल के जरिए कई अन्य राज्यों की पाक कला संबंधी संस्कृति की भी झलक मिलेगी. देश के विभिन्न भागों से आए पारम्परिक स्वादिष्ट भोजन बनाने वाले रसोईए आगुंतकों को पाक कला का अद्भुत अनुभव कराएंगे.

एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत उत्तराखंड का जोड़ीदार राज्य कर्नाटक है और जब देशभर से आए कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे तो उसमें कर्नाटक पर विशेष जोर दिया जाएगा. राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव विभिन्न इलाकों की भारतीय संस्कृति के सभी आयामों का दर्शन कराएगा. कर्नाटक, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, असम और पंजाब से आए कलाकार अपनी कला, लोक संगीत, नृत्य और पाक कला का प्रदर्शन करते हुए भारत की सांस्कृतिक विरासत की झलक दिखलाएंगे. महोत्सव में टिहरी के स्थानीय कलाकार भी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे.

No comments:

Post a comment