मासिक करेंट अफेयर्स

10 May 2018

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट को वॉलमार्ट ने खरीदा

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट को वॉलमार्ट ने खरीद लिया है. अमेरिका की खुदरा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी वालमार्ट ने भारत की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली है. देश की किसी भी ऑनलाइन कंपनी का ये अब तक का सबसे बड़ा सौदा है जो करीब 1 लाख 7 हजार 616 करोड़ रुपये की कीमत का बैठता है. सॉफ्टबैंक के सीईओ मासायोशी सन ने इसकी पुष्टि की है. इस मीटिंग में वॉलमार्ट के सीईओ डग मैकमिलन समेत दोनों कंपनियों के शीर्ष अधिकारी मौजूद रहे. करीब 13 खरब रुपये मूल्य के फ्लिपकार्ट और दुनिया की सबसे बड़ी रिटले चेन वॉलमार्ट के बीच की हुई यह डील भारत के सबसे बड़े विलय और अधिग्रहण
समझौतों में एक है.

इस डील के बाद भी फ्लिपकार्ट के अपने दो फाउंडरों में एक बिन्नी बंसल के नेतृत्व में ही संचालित होगा. हालांकि, दूसरे फाउंडर सचिन बंसल कंपनी में अपनी पूरी 5.5% की हिस्सेदारी बेचकर बाहर होने का फैसला लिया है. फ्लिपकार्ट के शुरुआती निवेशकों में रहे टाइगर ग्लोबल और एस्सेल पार्टनर्स की भी टेंसेंट के साथ अपनी छोटी-छोटी हिस्सदेरियां बरकरार रहेंगी. फ्लिपकार्ट का 20% शेयरधारक जापान का सॉफ्टबैंक भी वॉलमार्ट को अपने शेयर बेचकर कंपनी से निकल जाएगा.
 
वॉलमार्ट की योजना भारत में कारोबार के विस्तार की है. इसके लिए वह 50 से 60 लाख किराना स्टोर्स से गठजोड़ करके उनके आधुनिकीकरण में मदद करेगा ताकि ये स्टोर्स वॉलमार्ट की संपूर्ण सप्लाइ चेन का हिस्सा बन जाएं।.वॉलमार्ट किराना स्टोर्स के साथ पार्टनरशिप के जरिए भारतीय ग्राहकों को खुद से जोड़ना चाहती है. ध्यान रहे कि भारत सरकार ने देश में किसी विदेशी रिटेरलर कंपनी को स्टोर खोलने की इजाजत नहीं दी है.

No comments:

Post a Comment