13 May 2018

जानिए मदर्स डे, क्या है इसका इतिहास

आज रविवार को दुनियाभर में मदर्स डे मनाया जा रहा है. आज का दिन मां के लिए खास होता है. इस दिन लोग अपनी मां के लिए कुछ स्पेशल करते हैं उन्हें उनके प्यार का अहसास करवाया जाता है. कहा जाता है इस दुनिया का सबसे खूबसूरत शब्द ‘मां’ है. इस शब्द के उच्चारण से हमें प्यार और ऊर्जा की अनुभूति होती है. हम सबके जीवन में मां का विशेष स्थान है. हमें इस दुनिया में लाने वाली मां के एहसान हम पर बहुत ही ज्यादा हैं. हम उनके एहसानों को कभी चुका भी नहीं पाएंगे. हालांकि हम उनकी सेवा करके और उनके प्रति अपना प्यार जताकर उन्हें खुश रख सकते हैं.


कहते हैं कि मदर्स डे सेलिब्रेट करने की शुरुआत ग्रीस से हुई है. ग्रीस के लोग अपनी माताओं के प्रति विशेष सम्मान रखते थे. इस सम्मान को दर्शाने के लिए वे इस दिन उनकी पूजा करते थे. मान्यताओं के अनुसार स्यबेले ग्रीक देवताओं की मां थीं और ग्रीस के लोग आज ही के दिन स्यबेले की पूजा किया करते थे. इस प्रकार से इतिहास में यह ऐसी पहली घटना मिलती है, जहां पर किसी खास दिन माओं के प्रति सम्मान दिखाने की शुरुआत हुई. इसके बाद धीरे-धीरे माताओं के प्रति सम्मान प्रदर्शित करने की यह परंपरा दुनिया के अन्य देशों में भी फैल गई.

एक अन्य किस्से के अनुसार वर्जिनिया में मदर्स डे सेलिब्रेट करने की शुरुआत एना जार्विस नाम की महिला ने की थी. बताया जाता है कि उन्होंने शादी नहीं की थी और ना ही उनका कोई बच्चा था. एना अपनी मां से बहुत प्रेरित थीं और उनसे बेहद प्यार करती थीं. मां की मृत्यु के बाद उन्होंने उनके प्रति अपना सम्मान दिखाने के लिए मदर्स डे सेलिब्रेट करने की शुरुआत की. बता दें कि क्रिश्चियन इस दिन को वर्जिन मेरी का दिन मानते हैं. इस दिन वे लोग उन्हें फूल और गिफ्ट्स देकर उनकी प्रेयर करते हैं.

No comments:

Post a Comment