मासिक करेंट अफेयर्स

27 May 2018

लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी के चौथे जहाज MK-IV को भारतीय नौसेना में शामिल किया गया

भारतीय नौसेना ने पोर्ट ब्लेयर, अंडमान और निकोबार में अपने बेड़े में लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी MK -4 के चौथे जहाज IN LCU L54 को शामिल किया है. जहाज को वाइस एडमिरल जीएस पाब्बी, एवीएसएम, वीएसएमAVSM, VSM और मटेरियल के चीफ द्वारा कमीशन किया गया है. L-54 का कमीशन केंद्र सरकार की मेक इन इंडिया पहल के अनुरूप है. भारतीय नौसेना में शामिल किया गया आईएन एलसीयू एल54 चौथा लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी (एलसीयू) एमके-IV श्रेणी का जहाज है. जहाज का डिजाइन देश ही में तैयार किया गया है और इसका निर्माण गार्डन रीच शिपबिल्डर एंड इंजीनियर्स, कोलकाता ने किया है. एल-54 देश की डिजाइन और जहाज निर्माण क्षमता का शानदार उदाहरण है.
एलसीयू एमके –IV एक महत्‍वाकांक्षी जहाज है, जिसकी प्राथमिक भूमिका परिवहन और मुख्‍य युद्धक टैंक, सशस्‍त्र वाहनों, टुकडि़यों और उपकरणों की जहाज से तट तक तैनाती करना है. ये जहाज अंडमान और निकोबार कमान में हैं और इन्‍हें समुद्री तट के अभियानों, तलाशी और बचाव, आपदा राहत अभियानों, आपूर्ति और लदान तथा दूरदराज के द्वीपों से बाहर निकालने जैसे कई अभियानों में तैनात किया जा सकता है. लेफ्टिनेंट कमांडर मुनीश सेठी की कमान में इस जहाज में पांच अधिकारी 41 नौसैनिक हैं और इसकी क्षमता 160 टुकडि़यों को ले जाने की है।

No comments:

Post a comment