मासिक करेंट अफेयर्स

06 June 2018

मोदी सरकार ने 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लिए 'कृषि कल्याण अभियान' का शुभारंभ की

प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी ने जब से देश की सत्ता संभाली है, उनकी प्राथमिकता में देश का किसान रहा है. किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के दृष्टिकोण को ध्‍यान में रखते हुए कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय ने 1 जून, 2018 से 31 जुलाई, 2018 के बीच कृषि कल्याण अभियान की शुरूआत की है. इसके तहत किसानों को उत्तम तकनीक और आय बढ़ाने के बारे में सहायता और सलाह प्रदान की जा रही है. कृषि
कल्‍याण अभियान आकांक्षी जिलों के 1000 से अधिक आबादी वाले प्रत्‍येक 25 गांवों में चलाया जा रहा है. जिन जिलों में गांवों की संख्‍या 25 से कम है, वहां के सभी गांवों को (1000 से अधिक आबादी वाले) इस योजना के तहत कवर किया जा रहा है.

इसके अलावा, सूक्ष्म सिंचाई और एकीकृत फसल के तौर-तरीकों के बारे में जानकारी दी जाएगी. साथ ही किसानों को नवीनतम तकनीकों से परिचित कराया जाएगा. आईसीएआर/केवीएस प्रत्‍येक गांव में मधुमक्खी पालन, मशरूम की खेती और गृह उद्यान के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. इन कार्यक्रमों में महिला प्रतिभागियों और किसानों को प्राथमिकता दी जा रही है.

हर कदम पर किसानों के साथ खड़ी है मोदी सरकार: मोदी सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को लेकर कार्य कर रही है. इसके लिए किसानों को बुवाई से लेकर फसल की कटाई और फिर बाजार में फसल का उचित मूल्य दिलाने तक योजनाएं चलाई जा रही हैं. मोदी सरकार का मानना है कि जब देश का किसान खुशहाल होगा तभी सही मायने में देश का विकास होगा. मोदी सरकार ने किसानों को फसल की लागत का डेढ़ गुना एमएसपी देने का भी ऐलान किया है. खेती के अलावा पशुपालन, मत्स्यपालन, मधुमक्खी पालने जैसे आय के स्रोत बढ़ाने के वैकल्पिक साधनों पर ध्यान दिया जा रहा है. यानि प्रधानमंत्री मोदी की अगुवाई में मोदी सरकार देश के किसानों का सशक्त बनाने की दिशा में शिद्दत से लगी हुई है और इसके परिणाम भी सामने आने लगे हैं.

No comments:

Post a comment