मासिक करेंट अफेयर्स

28 July 2018

बिहार सरकार ने ऑनलाइन डीजल अनुदान कार्यक्रम का शुभारंभ किया

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डीजल अनुदान का किसानों के बैंक खाते में ऑनलाइन अंतरण कार्यक्रम का शुभारंभ किया. इस कार्यक्रम के तहत किसानों के बैंक खाते में डीजल अनुदान का पैसा डायरेक्ट ऑनलाइन हस्तांतरण होगा. आपदाओं के समय किसान संकट से जूझता है अतः सरकार किसानों की हर संभव सहायता के लिए तत्पर है. फसल सहायता योजना के तहत सरकार किसानों को सहायता उपलब्ध करा रही है. आज नई तकनीक का चयन किया गया है जिसके द्वारा रजिस्टर्ड किसानों को बैंक खाते में डीजल अनुदान का पैसा हस्तांतरित किया जायेगा. 

अभी 1100 किसानों के खाते में पैसा ट्रांसफर हुआ है. पहले किसानों को डीजल अनुदान का लाभ लेने के लिए जहां तीन महीने का समय लगता था अब किसानों को ऑनलाइन प्रक्रिया से अधिक से अधिक 25 दिनों में डीजल अनुदान का पैसा मिल जायेगा. जिले के कृषि पदाधिकारी, प्रखंड के कृषि समन्वयक, कृषि सलाहकार एक कैंपेन चलाकर प्रत्येक गांवों में किसानों के घर-घर पहूँचकर राज्य सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं के साथ-साथ चलायी जा रही योजनाओं की भी विस्तृत जानकारी देंगे. उन्हें केंद्र पर ले जाकर रजिस्ट्रेशन कराएंगे. जीससे उन्हें किसी प्रकार की कठिनाई न हो. फिलहाल 4 जिलों में किसानों को सब्जी की जैविक खेती के लिए इनपुट सब्सिडी दी जा रही है. अब इसे अन्य जिलों में दूसरी फसलों के लिए भी लागू करने की योजना है. 

इसके साथ ही बिहार सरकार ने किसानों को सिंचाई के लिए डीजल सब्सिडी 10 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दी है. अब डीजल पर 40 की जगह 50 रुपये प्रति लीटर की सब्सिडी मिलेगी. यह फैसला मुख्यमंत्री नीतीश की अध्यक्षता में मंत्रियों और अधिकारियों की हुई उच्चस्तरीय बैठक में लिया गया.

No comments:

Post a comment