मासिक करेंट अफेयर्स

20 August 2018

इमरान खान ने पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली

पाकिस्तानी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के मुखिया इमरान खान ने 22वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है. उन्हें राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने प्रधानमंत्री के पद एवं गोपनियता की शपथ दिलाई. इस्लामाबाद में पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान ने सादे समारोह में शपथ ग्रहण की. 65 साल के खान को कल सामान्य बहुमत से नये प्रधानमंत्री चुना गया था. इमरान खान ने साल 1996 में अपना कदम राजनीति में रखा. 22 वर्षों के अपने राजनीतिक संघर्षों के बाद उन्होंने शनिवार को देश की 'कप्तानी' संभाली. गौरतलब है कि देश में 25 जुलाई को हुए आम चुनावों के तीन
सप्ताह बाद वह नये प्रधानमंत्री पद की शपथ ली है. इमरान ने शपथग्रहण में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी कपिल देव, सुनील गावस्कर और नवजोत सिंह सिद्धू को फोन करके आमंत्रित किया था. जहां देव और गावस्कर ने उनके निमंत्रण को अस्वीकार कर दिया वहीं सिद्धू स्वीकार करके पड़ोसी मुल्क पहुंचे. उन्होंने इमरान को तोहफे के रूप में पश्मीने की शॉल भेंट की. 

आम चुनावों में 116 सीटों के साथ पीटीआई सबसे बड़े दल के रूप में उभरी. बाद में नौ निर्दलीय उम्मीदवारों के खान की पार्टी में शामिल होने से उनकी संख्या बल बढ़कर 125 हो गई. इसके अलावा संसद में महिलाओं के लिए आरक्षित 60 सीटों में 28 सीटें, और धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित 10 में से पांच सीटें मिलने के बाद पीटीआई के सदस्यों की संख्या बढ़कर 158 हो गयी. 342 सदस्यों वाली पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में सरकार बनाने के लिए 172 वोट की जरूरत होती है. लेकिन शुक्रवार को सियासी उठापटक शुरू हो गई. पीपीपी के 54 मतों को शाहबाज शरीफ के पक्ष में करने के लिए पीएमएल (एन) के वरिष्ठ नेता और पूर्व स्पीकर अयाज सादिक ने बिलावल भुट्टो की सीट के पास जाकर उन्हें मतदान में हिस्सा लेने के लिए मनाया, लेकिन वह नहीं माने. यही नहीं, शाहबाज शरीफ ने भी बिलावल से मतदान में शामिल होने को कहा था. इसके साथ ही जताम-ए-इस्लामी ने भी मतदान में हिस्सा नहीं लिया.

No comments:

Post a comment