मासिक करेंट अफेयर्स

11 September 2018

'दुनिया में पहली बार सरकार आपके द्वार', दिल्ली में 40 सेवाओं के लिए डोरस्टेप डिलीवरी योजना आरंभ

राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोमवार को ड्रीम प्रॉजेक्ट डोरस्टेप डिलिवरी योजना की शुरुआत कर दी है. इस योजना के तहत लोग अपनी इच्छा से घर बैठे जन्म और जाति प्रमाण-पत्र, राशन कार्ड जैसे डॉक्युमेंट्स बनवा सकते हैं तथा इसके किसी भी सरकारी ऑफिस जाने की जरूरत नहीं होगी. वर्तमान दिल्ली सरकार का दावा है कि ऐसा देश ही नहीं दुनिया में पहली बार हो रहा है जिसमें जनता को इन 40 सेवाओं के लिए सरकारी विभाग या दफ्तर में नहीं जाना पड़ेगा, ना लंबी लंबी लाइनों में लगना पड़ेगा और ना ही दलालों के चंगुल में फंसना पड़ेगा बल्कि सरकार खुद आवेदक के घर आकर उसको सेवा देगी.

दिल्ली सरकार इस योजना के जरिए सात अलग-अलग विभागों की 40 सेवाओं को सीधा आवेदक के घर तक पहुंचाएगी. जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, शादी का रजिस्ट्रेशन, ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन, नया पानी या सीवर कनेक्शन या कटवाने के लिए आवेदन जैसी कुल 40 सेवाएं शुरुआत में दिल्ली सरकार देगी. हालांकि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का दावा है कि बाद में ये सेवाएं बढ़ाकर 70 तक की जा सकती हैं. फिलहाल जिन 40 सेवाओं को घर तक पहुंचाया जा रहा है साल 2017 में इनके लिए करीब 25 लाख आवेदन आये थे.

दिल्ली सरकार इन सभी 40 सेवाओं के लिए एक खास नंबर जारी करेगी. आवेदक या सेवा लेने के इच्छुक व्यक्ति को उस नंबर पर फोन करके 'मोबाइल सहायक' से अपॉइंटमेंट तय करना होगा यानी सरकार के प्रतिनिधि को वो किस समय अपने घर बुलाना चाहता है ये तय करना होगा. सुबह 8 से रात 8 बजे के बीच किसी भी समय आवेदक मोबाइल सहायक के लिए अपॉइंटमेंट तय कर सकता है. तय समय के मुताबिक मोबाइल सहायक एक टैबलेट के साथ आवेदक के बताए पते पर आएगा और जरूरी दस्तावेज अपलोड करेगा. प्रक्रिया पूरी होने के बाद मोबाइल सहायक 50 रुपये सुविधा शुल्क नाम की फीस वसूल करेगा. जिसके बाद जो सर्टिफिकेट आवेदकों चाहिए वह पोस्ट के जरिए उसके घर पहुंच जाएगा.

No comments:

Post a comment