मासिक करेंट अफेयर्स

11 September 2018

विश्व का सबसे बड़ा समुद्री सफाई अभियान 'ओशियन क्लीनअप' आरंभ

विश्व भर में समुद्रों से प्रदूषण हटाने तथा समुद्रों की सफाई करने के लिए अब तक का सबसे बड़ा अभियान ‘ओशियन क्लीनअप’ कैलिफ़ोर्निया से आरंभ किया गया. इसका उद्देश्य समुद्र से प्लास्टिक तथा अन्य कचरा निकालना एवं समुद्र को प्रदूषित होने से बचाना है. इस अभियान की शुरुआत करनेवाले बोयान स्लाट नामक 24 वर्षीय युवा हैं. उनके अभियान को विश्व भर के वैज्ञानिकों ने समर्थन दिया. छह वर्ष तक इस प्रोजेक्ट पर काम करने के बाद इसे 08 सितंबर 2018 को लॉन्च किया गया. बोयान बताते हैं कि 8 साल पहले वह जब 16 साल के थे तब उन्होंनेसमुद्र मार्ग से ग्रीस की यात्रा की थी. ग्रीस जाने के रास्ते में मुझे मछलियों से ज्यादा तो प्लास्टिक पानी में नजर आ रहा था और यह मेरे लिए बहुत दुखद था. पिछले 8 साल से मैं इस पर काम कर रहा हूं कि समुद्र से अधिक से अधिक प्लास्टिक कैसे निकाला जा सके.
 
बोयान और उनकी टीम 8 साल से इस दिशा में काम कर रही है, लेकिन शनिवार को 2000 फुट के यू आकार वाले कलेक्शन सिस्टम को लॉन्च किया गया. कैलिफॉर्निया से हवाई तक के समुद्र क्षेत्र 600,000 में से कचड़े को निकालकर पानी को साफ करना है. बोयान की टीम का लक्ष्य है कि हर साल समुद्र से 50 टन के करीब कचड़ा निकाला जा सके. साथ ही प्लास्टिक और समुद्र से निकाले गए कचड़े को रीसाइकल करने की भी योजना है. 16 साल की उम्र में बोयान ने जो सपना देखा आज उससे बहुत से लोग जुड़ गए हैं. इस वक्त उनकी संस्था में 80 लोग स्वैच्छिक तौर पर काम कर रहे हैं. बोयन और उनकी टीम का कहना है कि समुद्र को प्रदूषण और प्लास्टिक मुक्त बनाकर इसे समुद्री जीवों के लिए सुरक्षित रखने के लिए हम ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ काम करना चाहते हैं.

बोयान स्लाट और उनकी टीम ने पैसिव ड्रिफ्टिंग सिस्टम नाम से एक विधि तैयार की है जिसमें पानी की सतह पर 600 मीटर लंबा एक फ्लोटर लगाया गया है. इसमें तीन मीटर गहराई तक एक जाल लगाया गया है जिसपर समुद्री किनारों से आने वाला कचरा एकत्रित होता है. जैसे-जैसे इस फ्लोटर के साथ कचरा जमा होता जाता है, यह ‘यू’ आकार में आता रहता है. कचरा एकत्रित हो जाने पर इसे समुद्री जहाज के साथ बांध कर किनारे तक लाया जा सकता है. इसमें प्राप्त हुए प्लास्टिक कचरे को रीसायकल करके उसे पुनः उपयोग में लाया जा सकता है.

No comments:

Post a Comment