मासिक करेंट अफेयर्स

13 September 2018

यूएस ने वाशिंगटन में फिलिस्तीनी मिशन को बंद करने की घोषणा की

संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) ने 10 सितंबर 2018 को वाशिंगटन, डीसी में फिलिस्तीनी लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन (पीएलओ) कार्यालय को बंद करने की घोषणा की. फिलिस्तीन सरकार ने अमेरिका की अगुवाई में इजराइल के साथ बातचीत से इनकार कर दिया है. इसलिए अमेरिका ऐसे कठोर कदम उठा रहा है. सोमवार को पीएलओ के महासचिव साएब इराकत ने एक बयान जारी करते हुए कहा, 'हमें अमेरिकी अधिकारी द्वारा सूचित किया गया है कि उन्होंने फिलिस्तीनी मिशन को बंद करने का फेसला लिया है.' अमेरिका के इस कदम को खतरनाक ढंग से गंभीर बताते हुए उन्होंने कहा, 'यह ट्रंप प्रशासन की पॉलिसी का एक और प्रयास है फिलिस्तीनी लोगों को सजा देने का. जिसमें मानवाधिकार कार्यों जैसे शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए दिए जाने वाली आर्थिक सहायता में कटौती भी शामिल है.'

ट्रंप कार्यालय के मुताबिक फिलिस्तीन के नेतृत्व ने व्हाइट हाउस से संपर्क काट लिया है. इस कदम के जरिए ट्रंप वहां के नेतृत्व को बातचीत की मेज पर लाना चाहते हैं. उनकी टीम पश्चिम एशिया में शांति की योजना पर आगे बढ़ना चाहती है और इसे ट्रंप का आखिरी समझौता बता रही है. इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट (आईसीसी) में इजराइल के खिलाफ युद्ध अपराधों की जांच करने के फिलिस्तीन के प्रयासों के चलते भी अमेरिका उससे खफा है. फिलिस्तीन के अधिकारी ने कहा कि मिशन को बंद करने के पीछे आईसीसी में उनके इस अभियान को वजह बताया गया है.

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप काफ़ी समय से लंबित मध्य-पूर्व शांति योजना को लागू करने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन, दिसंबर 2017 में अमरीका ने जब यरुशलम को इज़राइल की राजधानी मानने का घोषणा किया था, उसके बाद से फिलिस्तीनी अधिकारियों ने इस योजना में अमरीका के साथ काम करने से इनकार कर दिया था.

No comments:

Post a comment