मासिक करेंट अफेयर्स

11 September 2018

अलीबाबा के जैक मा ने ग्रुप सीईओ डेनियल झेंग को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया

चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के संस्थापक और अरबपति कारोबारी जैक मा वर्ष 2019 में कंपनी के कार्यकारी चेयरमैन पद से सेवानिवृत्त होंगे. कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डेनियल झांग उनके उत्तराधिकारी होंगे. जैक मा ने 10 सितम्बर 2018 को इसकी घोषणा की. जैक मा 2020 में ग्रुप की एनुअल शेयरहोल्डर मीटिंग तक बोर्ड में बने रहेंगे. सोमवार को मा 54 साल के हो गए. वे अपने 55वें जन्मदिन (10 सितंबर 2019) पर रिटायर होंगे. उस दिन अलीबाबा ग्रुप की 20वीं एनिवर्सरी भी है. जैक मा ने सीईओ का पद 2013 में ही छोड़ दिया था. कारोबारी जिम्मेदारियों से मुक्त होने के बाद जैक शिक्षक और समाजसेवी की भूमिका में नजर आएंगे.

जैक मा का जन्म 10 सितंबर 1964 को चीन में हुआ था. जैक मा के बचपन का नाम मायून था. जैक मा चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के संस्थापक हैं तथा चीन के सबसे धनी व्यक्तियों में से एक हैं. जैक मा 10 सितम्बर 2018 को 54 वर्ष के भी हो गए हैं. इस दिन चीन में राष्ट्रीय अवकाश होता है और इसे चीन में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है. जैक मा को चीन के कई घरों में पूजा तक जाता है. घरों में उनकी फोटो लगी हुई हैं, जहां उन्हेंक ईश्वर की तरह पूजा जाता है. चीन के पूर्वी झेरजयांग प्रांत के हांगझोऊ नगर में एक गरीब परिवार में जन्मे जैक मा अंग्रेजी अध्यापक रहे. जैक ने अपने करियर की शुरुआत एक टूरिस्ट गाइड के रूप में की. 

उन्होंने वर्ष 1990 में नौकरी छोड़ कर अपना कारोबार शुरू करने की ठानी. जैक मा ने अपने दोस्तों को राजी कर उनसे 60,000 डॉलर की राशि जुटाई और ऑनलाइन क्रय-विक्रय की सुविधा देने वाला इंटरनेट बाजार मंच अलीबाबा शुरु किया. वे वर्ष 2013 में कंपनी के सीईओ बनाए गए. जैक मा जापानी कॉरपोरेशन के सॉफ्टबैंक समूह के बोर्ड में भी हैं. उनकी योजनाएं शुरू से बड़ी रही हैं. उन्होंने 2014 में जैक मां फाउंडेशन की स्थापना की, जिसका उद्देश्य चीन के ग्रामीण इलाकों में शिक्षा के स्तर में सुधारा लाना है. फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार जैक मा चीन के सबसे धनी व्यक्ति है. उनकी संपत्ति 2.7 लाख करोड़ रुपए (38.6 अरब डॉलर) के बराबर है.

अलीबाबा ग्रुप अब एशिया की सबसे ज्यादा वैल्यू (420 अरब डॉलर) वाली कंपनी है. जैक मा 39.9 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ चीन के सबसे बड़े और एशिया के दूसरे बड़े अमीर हैं. जुलाई में रिलायंस के मुकेश अंबानी (48.3 अरब डॉलर) ने मा को पीछे छोड़ा था. अलीबाबा भारत में सीधे तौर पर ऑनलाइन बाजार में मौजूद नहीं है, लेकिन अलीबाबा विभिन्न पोर्टफोलियों के जरिए भारत में है, जिसमें डिजिटल पेमेंट प्लेफार्म पेटीएम में, अलीबाबा क्लाउड के जरिए क्लाउड कंप्यूटिंग में और डिजिटल मीडिया जगत में यूसीवेब के जरिए व कई नवाचार पहलों में शामिल है. अलीबाबा डॉट कॉम के नाम से मशहूर यह कंपनी दुनिया भर के 190 कंपनियों से जुड़ी हुई है. अलीबाबा डॉट कॉम वेबसाइट के अलावा taobao.com चलाती है जो चीन की सबसे बड़ी शॉपिंग वेबसाइट है. इसके अलावा चीन की बड़ी जनसंख्या को इनकी वेबसाइट tmall.com ब्रांडेड चीजें मुहैया कराती हैं. अलीबाबा की सालाना कमाई लगभग 250 अरब युआन (40 अरब डॉलर) है.

No comments:

Post a comment