मासिक करेंट अफेयर्स

06 September 2018

आरिफ अल्वी पाकिस्तान के राष्ट्रपति चयनित

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के फाउंडिंग मेंबर और इमरान खान के करीबियों में से एक आरिफ अल्वी को 05 सितम्बर 2018 पाकिस्तान का नया राष्ट्रपति चुन लिया गया है. पाकिस्तान में हुए त्रिकोणीय राष्ट्रपित चुनाव में अल्वी ने बाजी मारते हुए नेशनल असेंबली और सीनेट के कुल 212 सदस्य ने पीटीआई कैंडिडेट को राष्ट्रपति के रूप में चुना लिया है. अल्वी ने पीपीपी के एयताज एहसान और पीएमएल-एन के कैंडिडेट मौलाना फाजी उर रहमान को हरा दिया है. अल्वी अब ममनून हुसैन की जगह लेंगे, जिनका 8 सितंबर को कार्यकाल खत्म हो रहा है.
नेशनल असेंबली और सीनेट के 430 सदस्यों ने वोटिंग में भाग लिया, जिसमें सबसे ज्यादा पीटीआई के आरिफ अल्वी को 212, पीएमएल-एन के रहमान को 131 और पीपीपी के एहसान को 81 वोट हासिल हुए हैं. बलूचिस्तान असेंबली के 60 वोटों में से अल्वी ने सबसे ज्यादा 45 वोटों पर कब्जा किया. वहीं, खैबर पख्तूनख्वा असेंबली की 109 वोटों में से 78 वोट हासिल किए हैं. अल्‍वी उन चुनिंदा नेताओं में से हैं, जिन्‍होंने देश के लोकतंत्र के लिए लड़ाई लड़ी है. प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पीटीआई का संविधान लिखने वालों में एक नाम डॉक्‍टर अल्‍वी का भी है.

डॉ. आरिफ-उर-रहमान अल्वी का जन्म 29 जुलाई 1949 को कराची में हुआ. उनके पिता विभाजन से पूर्व भारत में डेंटिस्ट थे तथा विभाजन के उपरांत पाकिस्तान चले गये थे. आरिफ अल्वी ने अपनी आरंभिक शिक्षा कराची से प्राप्त की. इसके उपरांत वे 1967 में लाहौर चले गये. साल 1969 में जब पाकिस्‍तान में जनरल अयूब खान की सेना का शासन था, तब डॉक्‍टर अल्‍वी राजनीति में सक्रिय हो गए. उन्होंने डेंटिस्ट बनने के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिशिगन से 1975 में स्नातकोत्तर डिग्री हासिल की. डॉक्टर अल्वी 1996 में पीटीआई की सेंट्रल एग्जिक्यूटिव काउंसिल में आए और फिर इसके बाद वर्ष 1997 में वे सिंध में पार्टी अध्यक्ष बने. 

उन्होंने वर्ष 1997 और 2002 में सिंध की सीट से नेशनल एसेंबली के लिए चुनाव लड़ा था लेकिन उन्हें इन चुनावों में हार का सामना करना पड़ा था. वर्ष 2001 में उन्हें पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया और इसके उपरांत वर्ष 2006 में पार्टी के सेक्रेटरी जनरल नियुक्त किये गये. वर्ष 2013 के चुनावों में अल्वी ने नेशनल एसेंबली का चुनाव लड़ा और उन्हें जीत हासिल हुई. वर्ष 2018 के चुनावों में भी डॉ. अल्वी को कराची की नेशनल एसेंबली सीट पर 91,020 वोटों से जीत हासिल हुई थी.

No comments:

Post a Comment