मासिक करेंट अफेयर्स

29 September 2018

प्रधानमंत्री ने सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह पर जोधपुर में पराक्रम पर्व का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 28 सितम्बर 2018 को सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरे सालगिरह के मौके पर जोधपुर मिलिट्री स्टेशन में आर्मी एग्जिबिशन पराक्रम पर्व का उद्घाटन किया. पराक्रम पर्व 28 से 30 सितंबर तक चलेगा. यह प्रदर्शनी भारतीय सेना की ओर से 2016 में की गई सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर आयोजित की गई है. इस प्रदर्शनी में भारतीय सेना की युद्ध क्षमताओं को दिखाया गया है. मोदी ने प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद शहीदों को श्रद्धांजलि स्वरूप संदेश लिखा और प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया. प्रधानमंत्री ने विजिटर्स बुक में अपने संदेश
में लिखा, 'मातृभूमि की रक्षा के लिए संकल्पबद्ध, समर्पित, वीर सैन्य शक्ति के लिए देश गौरव अनुभव कर रहा है. सर्वोच्च बलिदान देने वाले वीरों को, पीढ़ी दर पीढ़ी प्रेरणा के प्रतीक सभी को, शत् शत् नमन'.

गौरतलब है कि उरी में सेना के ठिकाने पर हमले के जवाब में भारतीय सेना ने 29 सितंबर 2016 को नियंत्रण रेखा के पार जाकर आतंकवादियों के सात ठिकानों को तबाह करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की थी. सेना का कहना था कि उसके विशेष दस्ते की इस कार्रवाई में बड़ी संख्या में वे आतंकवादी मारे गए जो भारतीय सीमा में घुसपैठ की फिराक में थे. डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशन लेफ्टिनेंट जनरल रनवीर सिंह ने अधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा था की भारत ने लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पार करके सर्जिकल स्ट्राइक की है. भारतीय सेना द्वारा सात आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया गया और सभी आतंकवादियों को मार गिराया गया था. इसके लिए भारत ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में दो किलोमीटर अंदर घुसकर यह ऑपरेशन किया था. रक्षा मंत्री ने पिछले सप्ताह कहा था कि सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर 28 से 30 सितंबर तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे.

प्रदर्शनी के अवलोकन के बाद मोदी व सीतारमण जोधपुर हवाई अड्डे पर एकीकृत सैन्य कमांडर सम्मेलन में भाग लेने चले गए. सैन्य प्रवक्ता के अनुसार इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी, रक्षा मंत्री, सेना के तीनों अंगों के प्रमुख व अन्य वरिष्ठ सैन्य अधिकारी भाग ले रहे हैं. वर्ष 2015 तक कमांडर कॉन्फ्रेंस दिल्ली में ही आयोजित होती थी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2016 में यह कॉन्फ्रेंस दिल्ली से बाहर सैन्य क्षेत्र के पोत आईएनएस विक्रमादित्य और 2017 में देहरादून स्थित इंडियन मिलट्री एकेडमी में शुरू करवाई थी. इसके बाद पहली बार एशिया के सबसे बड़े जोधपुर एयर बेस पर यह कॉन्फ्रेंस आयोजित हो रही है.
सर्जिकल स्ट्राइक:  सर्जिकल स्ट्राइक ऑपरेशन किसी विशेष क्षेत्र को निशाना बनाकर किया जाने वाला हमला होता है. इसमें आसपास के क्षेत्र में कम से कम नुकसान होने तथा केवल टारगेट को ही निशाना बनाये जाने पर ध्यान दिया जाता है. इस प्रकार के हमले से टारगेट को निष्क्रिय करके बड़े हमले से भी बचा जा सकता है. भारत द्वारा इस प्रकार के सर्जिकल स्ट्राइक ऑपरेशन से लाइन ऑफ़ कंट्रोल के पार आतंकवादी कैंपों को निशाना बनाया जाता है तथा बड़े टकराव से बचा जाता है.

No comments:

Post a comment