मासिक करेंट अफेयर्स

16 October 2018

भारत 2022 तक दुनिया का 11वां सबसे अमीर देश होगा: बीसीजी रिपोर्ट

बॉस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (बीसीजी) के मुताबिक साल 2022 तक भारत दुनिया का 11वां सबसे अमीर देश बन जाएगा. आने वाले समय में भारतीयों की संपत्त‍ि काफी तेजी से बढ़ने वाली है.यह रिपोर्ट बॉस्टन कंसल्ट‍िंग ग्रुप (बीसीजी) ने जारी की है. इस रिपोर्ट के मुताबिक इस रफ्तार के साथ भारत 2022 तक दुनिया का 11वां सबसे अमीर देश बन जाएगा. इस रिपोर्ट में सबसे ऊपर यूनाइटेड स्टेट्स है. यहां 2017 में निजी संपत्त‍ि 80 खरब डॉलर तक बढ़ने का अनुमान था. इस रिपोर्ट में 2022 तक 100 खरब डॉलर पहुंचने का अनुमान लगाया गया है.

इस लिस्ट में चीन दूसरे नंबर पर है. चीन की न‍िजी संपत्त‍ि 43 खरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इमरजिंग इकोनॉमी के मामले में भारत की संपत्त‍ि सबसे ज्यादा तेजी से बढ़ेगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि 2017 में भारत समृद्ध, हाई नेटवर्थ और अल्ट्रा हाई नेटवर्थ श्रेणी में एश‍िया का 5वां सबसे बड़ा बाजार है. रिपोर्ट के मुताबिक यहां समृद्ध लोगों की संख्या 322,000 है. हाई नेटवर्थ इंडीव‍िजुअल्स 87,000 हैं. अल्ट्रा हाई नेटवर्थ वाले 4 हजार लोग हैं. बीसीजी की रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2022 तक भारत की रैंक में चार पायदान का सुधार होगा. यह स्विटजरलैंड, हॉन्गकॉन्ग, नीदरलैंड और ताइवान को पीछे छोड़ देगा.

रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2012 से भारत की कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट (सीएजीआर) 12% रही है. चीन के बाद भारत ही ऐसा देश है जिसका सीएजीआर पर्सनल वेल्थ के हिसाब से डबल डिजिट (दो अंकों) में रहा. भारत समृद्ध, हाई नेटवर्थ और अल्ट्रा हाई नेटवर्थ कैटेगिरी में एशिया का पांचवां सबसे बड़ा बाजार है. यहां समृद्ध लोगों की संख्या 3 लाख 22 हजार है. इस श्रेणी में 10 लाख डॉलर तक संपत्ति वाले लोग शामिल हैं. व्यक्तिगत संपत्ति (पर्सनल वेल्थ) में फिलहाल अमेरिका 80 लाख करोड़ डॉलर के साथ टॉप पर है. साल 2022 तक यह 100 लाख करोड़ डॉलर पहुंचने की उम्मीद है. चीन की निजी संपत्ति 21 लाख करोड़ डॉलर है. तीन साल में यह दोगुनी होकर 43 लाख करोड़ डॉलर पहुंचने की उम्मीद है.

No comments:

Post a comment