मासिक करेंट अफेयर्स

13 October 2018

भारत और ताजिकिस्तान के मध्य नौ समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अध्यक्षता में ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमामोली रहमान के साथ 08 अक्टूबर 2018 को प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता आयोजित की गई. इस बैठक में दोनों देशों ने नौ द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर किये. दोनों देशों के बीच संबंधों में रक्षा व्यापार निवेश पर्यटन स्वास्थ्य और विकास के लिए साझेदारी पर सहमति बनी. इसके अलावा राजनीतिक संबंध, रणनीतिक रिसर्च, कृषि, ऊर्जा, अंतरिक्ष, तकनीक, युवा मामलों, संस्कृति और डिजास्टर मैनेजमेंट पर सहमति पत्र पर हस्ताक्षर हुए. इसके साथ ही भारत ने ताजिकिस्तान को विकास कार्यों के लिए दो करोड़ डॉलर की सहायता राशि देने की
घोषणा की.

ताजिकिस्तान की यात्रा पर पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का दूसरे दिन राजधानी दुशांबे में औपचारिक स्वागत किया गया. इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और दोनों देशों के राष्ट्रीय गान बजे. बाद में राष्ट्रपति कोविंद ने अपने समकक्ष एमामोली रहमोन के साथ द्विपक्षीय वार्ता की. वार्ता के बाद संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और ताजिकिस्तान के बीच ऐतिहासिक संबंध हैं और दोनों देश इस साझेदारी को और मजबूत करेगे. राष्ट्रपति ने कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय साझेदारी और सहयोग के लिए भारी संभावनाएं हैं. 

राष्ट्रपति ने ताजिकिस्तान द्वारा शंघाई सहयोग संगठन में भारत का समर्थन देने को दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंध मजबूत होना करार दिया. उन्होंने कहा कि भारत और ताजिकिस्तान आतंकवाद और अतिवाद के खात्मे के लिए प्रतिबद्ध है. राष्ट्रपति कोविंद ने दुशान्बे स्थित ताजिकिस्तान विश्वविद्यालय में ‘काउंटरिंग रेडिकलाइजेशन: चैलेंजेस इन मॉडर्न सोसायटीज़’ विषय पर आयेाजित संगोष्ठी को संबोधित किया. इसके उपरांत राष्ट्रपति कोविंद ने मजलिसी ओली (ताजिकिस्तान की संसद के निचले सदन) के मजलिसी नामॉयन्दगोन के अध्यक्ष और ताजिकिस्तान के प्रधानमंत्री कोहिर रसूलोजाडा के साथ अलग द्विपक्षीय बैठक की.

भारत-ताजिकिस्तान संबंध: भारत और ताजिकिस्तानन के बीच संबंध परंपरागत रूप से घनिष्ठ और मधुर रहे हैं. दोनों देशों के मध्य उच्चत स्त रीय यात्राओं के आदान– प्रदान से द्विपक्षीय संबंध मजबूत हुए हैं. पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह पाटिल ने सितंबर 2009 में ताजिकिस्तान की राजकीय यात्रा की थी. पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने 14 से 17 अप्रैल 2013 के दौरान ताजिकिस्तान का दौरा किया था. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 10 से 12 सितंबर 2014 को दुशाम्बे में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक के लिए ताजिकिस्तान का दौरा किया. ताजिकिस्तान की ओर से तत्कालीन राष्ट्रपति रहमोन ने पांचवीं बार 01 से 04 सितंबर 2012 के दौरान भारत का दौरा किया. इससे पूर्व उन्होंने 1995, 1999, 2001 और 2006 में भारत का दौरा किया था.

No comments:

Post a comment