मासिक करेंट अफेयर्स

06 October 2018

कनाडा की संसद ने आंग सान सू की से मानद नागरिकता वापस ली

कनाडा की संसद ने म्यांमार की नेता आंग सान सू की को सम्मानपूर्वक प्रदान की गयी कनाडा की मानद नागरिकता को वापस ले लिया है. दरअसल, उन्होंने रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यकों पर हिंसक कार्रवाई कर रहे म्यांमार के सैनिकों के खिलाफ कोई कदम उठाने से इनकार कर दिया था. यह सम्मान अब तक छह लोगों को दिया गया. सू की पहली ऐसी शख्सियत हैं, जिनसे यह वापस लिया गया. सू से मानद नागरिकता वापस लेने के संबंध में हाल ही में संसद के दोनों सदनों में वोटिंग कराई गई थी. इस पर सर्वसम्मति से उनके खिलाफ फैसला लिया गया. 

इस प्रस्ताव में रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ हुई हिंसा को ‘नरसंहार’ करार दिया. 90% बौद्ध आबादी वाले म्यांमार में रोहिंग्याओं को विदेशी माना जाता है. म्यांमार में रोहिंग्या के खिलाफ सेना ने पिछले साल हिंसक अभियान शुरू किया था. इसके बाद वहां से सात लाख रोहिंग्या मुसलमानों को पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश जाने के लिए मजबूर होना पड़ा था. 

कनाडा की संसद ने स्वीडन के राजनयिक राउल वेलेनबर्ग, दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला, बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा, शिया इस्लामिक आगा खान-4 और पाकिस्तान की सामाजिक कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई को कनाडा की मानद नागरिकता दी गई थी. आंग सान सू की को कनाडा की मानद नागरिकता वर्ष 2007 में दी गई थी.

No comments:

Post a comment